घोड़े में मिली ग्लैंडर्स बीमारी, इंसानों का खतरा बढ़ा, प्रशासन एलर्ट

घोड़े में मिली ग्लैंडर्स बीमारी,  इंसानों का खतरा बढ़ा, प्रशासन एलर्ट

जिलाधिकारी की संस्तुति पर पीड़ित घोड़े को पशु चिकित्साधिकारियों की टीम के देखरेख में दी मौत 

रिपोर्टर - नागेन्द्र पांडेय

फतेहपुर - जनपद के बकेवर थाना क्षेत्र के शाहजहांपुर/माँझीलेगांव  में पालतू घोड़ों का सीरम पाया गया पॉजिटिव पशु विभाग मचा हड़कंप ।

 

घोड़े में ग्लैंडर्स बीमारी की पुष्टि होने से घोड़ों के साथ लोगो  की जान का भी खतरा बढ़ गया है। पशु विभाग ने फतेहपुर ने जिलाधिकारी की संस्तुति पर घोड़े का सीरम पोजिटिव पाए जाने के बाद पशुपालन विभाग के वरिष्ठ चिकित्साधिकारी ने सभी मुख्य पशु चिकित्साधिकारियों को जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं।

जिसके तहत आज उप मुख्य चिकित्साधिकारी बिंदकी डॉक्टर अरुण कुमार कटियार ,पशु चिकित्साधिकारी बकेवर डॉ अरविंद सिंह कुशवाहा, डॉ अंकुर सचान मालवा ,डॉ राघवेंद्र सचान जहानाबाद ,फार्मेसिस्ट सुरजीत कुमार, धर्मेंदर कुमार, राम किशोर की सयुक्त टीम ने पीड़ित घोड़े को मौत की नीद सुला दिया गया

डॉ. अरबिंद सिंह के मुताबिक  1 घोड़े का सीरम सैंपल ग्लैंडर्स रोग के लिए पॉजिटिव पाया गया है। ग्लैंडर्स रोग भारत सरकार के द्वारा नोटिफाईएबल कैटेगरी में आता है। यह बल्कोलडेरिया बैक्टीरिया द्वारा होता है। यह जुनोटिक रोगों की श्रेणी में आता है. यह घोड़ों के अलावा अन्य स्तनधारी पशुओं और मनुष्य में हो सकता है। डॉक्टर के मुताबिक यह बीमारी एक संक्रमण के तौर पर फैलती है। यह खाल के घाव, नाक के म्युकोसल सर्फेस व सांस के द्वारा हो सकता है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments