गोण्डा के पत्रकारो ने दिल्ली के जन्तर मन्तर पर किया धरना प्रदर्शन

गोण्डा के पत्रकारो ने दिल्ली के जन्तर मन्तर पर किया धरना प्रदर्शन

                   संवाददाता

                 अतीक राईन

गोण्डा- वर्किंग जर्नलिस्ट ऑफ इंडिया ने अपने स्थापना दिवस पर मीडिया महा धरना का आयोजन करने के साथ पीएमओ को पत्रकारों की 28 मांगों का ज्ञापन सौंपा। भारतीय मजदूर संघ से संबंधित वर्किंग जर्नलिस्ट आफ इंडिया (डब्लूजेआई) पत्रकारों के हितों को लेकर काफी सक्रिय रहा है। देश में पत्रकारों का शीर्ष संगठन डब्लूजेआई पत्रकारों के कल्याणार्थ समय-समय पर रचनात्मक और प्रेरणादायक कार्यक्रम और आंदोलन चलाता रहा है।

इसको देश के विभिन्न राज्यों से आए पत्रकार संगठन समर्थन दे रहे हैं। डब्लूजेआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप चौधरी और राष्ट्रीय महासचिव नरेंद्र भंडारी सहित महाधरना में शामिल  12 राज्यों के पत्रकार और पत्रकार संगठनों ने सरकारों के प्रति आक्रोश जताया। महा धरना के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप चौधरी के नेतृत्व में डब्लूजेआई का प्रतिनिधिमंडल पीएमओ पहुंचा और वहां पर पत्रकारों की 28 मांगो का ज्ञापन सौंपा गया। डब्लूजेआई ने अपने स्थापना दिवस पर अपने सदस्य पत्रकारों के हित में तीन लाख दुर्घटना बीमा की घोषणा की। भारतीय मजदूर संघ के क्षेत्रीय संगठन मंत्री पवन कुमार,  संगठन महामंत्री अनीश मिश्रा और संगठन मंत्री ब्रजेश कुमार ने धरना स्थल पर पत्रकारों की मांगों का समर्थन दिया।

डब्लूजेआई के प्रवक्ता उदय मन्ना ने बताया कि मांगपत्र में सरकार से मांग की गई कि वर्तमान समय की मांगों पर ध्यान में रखते हुए वर्किंग जर्नलिस्ट एक्ट में संशोधन किया जाए। कार्यकारी पत्रकार अधिनियम में इलेक्ट्रानिक मीडिया, वेब मीडिया, ई-मीडिया और अन्य सभी मीडिया को अपने अधिकार क्षेत्र में लाया जाए। प्रेस काउंसिल की जगह मीडिया काउंसिल बनाई जाए। भारत के सभी पत्रकारों को भारत सरकार के साथ पंजीकृत किया जाए और वास्तविक मीडिया पहचान पत्र जारी किया जाए। जिन समाचार पत्रों ने वेज कार्ड की सिफारिशों को लागू नहीं किया उन पर सरकारी विज्ञापन देने पर कोई अनुशासात्मक प्रतिबंध हो।

केन्द्र सरकार लघु व मध्यम समाचार पत्रों को ज्यादा से ज्यादा विज्ञापन जारी करने के अपने नियमों को जल्द से जल्द परिवर्तित करे। देश में पत्रकार सुरक्षा कानून तैयार किया जाए। ड्यूटी के दौरान अथवा किसी मिशन पर काम करते हुये पत्रकार एवं मीडियाकर्मी की मृत्यु होने पर उसके परिजन को 15 लाख का मुआवजा और परिजनों को नौकरी दी जाए। सभी पत्रकारों को रिटायरमेंट के बाद पेंशन की सुविधा ओर सेवानिवृति की उम्र 64 वर्ष की जाए। इसके अलावा अन्य मांगें भी शामिल की गई। इस अवसर पर गोण्डा से हरि नरायण शुक्ला, रितेश गुप्ता,संजय त्रिवेदी,बैजनाथ अवस्थी, सुरेंद्र आनंद, हरियाणा से भूपिंदर सिंह, धर्मेंद्र यादव, अमित चौधरी, राजिंदर सिंह, मोहन सिंह, राज कुमार भाटिया उत्तराखंड से सुनील गुप्ता  महा सचिव उत्तरखंड  व कार्यकारिणी सदस्य,

लखनऊ पवन श्रीवास्तव अध्यक्ष उत्तर प्रदेश व कार्यकारिणी, अशोक मालिक राष्ट्रीय अध्यक्ष नेशनल यूनियन ऑफ जॉर्नलिस्ट, मनोहर सिंह अध्यक्ष दिल्ली पत्रकार संघ, संजय राठी अध्यक्ष हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट, चंडीगढ़ से नेशनल मीडिया कंफेडरेशन के उपाध्यक्ष सुरेंद्र वर्मा, राष्ट्रीय मीडिया फाउंडेशन मध्यप्रदेश के अध्यक्ष आशीष पाण्डेय, दिल्ली एनसीआर की टीम आरजेएस मीडिया, डब्लूजेआई राष्ट्रीय कार्यकारिणी के उपाध्यक्ष संजय उपाध्याय, संजय सक्सेना, कोषाध्यक्ष अंजलि भाटिया, सचिव अर्जुन जैन, विपिन चौहान सहित ने महाधरना को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments