बलिदान और त्याग का त्यौहार है ईद-उल-अज़हा

बलिदान और त्याग का त्यौहार है ईद-उल-अज़हा

        रिपोर्टर - रितेश गुप्ता

करनैलगंज, गोण्डा -

जिले भर में शांतिपूर्ण व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया ईद-उल-अज़हा का त्यौहार। क्षेत्र के मुख्तलिफ जगहो पर अदा की गई ईद की नमाज़। पुलिस अधीक्षक आर के नय्यर के निर्देशानुसार शांति व्यवस्था को मद्देनजर रखते हुए हर जगह स्थानीय पुलिस द्वारा पेट्रोलिंग की गई।

ईद की नमाज़ पढ़ने के बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने एक दूसरे से गले मिल ईद की मुबारकबाद दी। कस्बे भर के लोगों ने धर्म जाति ऊँच नीच पर मानवता को तरजीह देते हुए आपसी सौहार्द की मिसाल पेश की। कई जगहों पर स्थानीय पुलिस ने मुस्लिम समुदाय के लोगों से गले मिल ईद की मुबारकबाद दी।

इमामे ईदैन व खतीब शमीम अहमद अच्छन ने रब की हम्दो सना व नमाज़ के बाद खुतबे की शुरुवात की और ईदगाह में हज़ारों की संख्या में आये हुये नमाज़ियों को खिताब करते हुए कहा ईद-उल-अज़हा  बलिदान व त्याग का त्यौहार है और अपने रब को उस तरह राज़ी करो जिस तरह हमारे पैग़म्बरों ने किया।

उन्होंने कहा कुर्बानी की हुई चीज रब तक नही पहुंचती है  मगर रब तक हमारी नियत ज़रूर पहुंचती है। इंसानियत व अच्छा व्यवहार हर मज़हब की पहचान है। ईद नमाज़ की अदायगी के बाद खुतबे का इख्तताम करते हुए हज़ारों नमाज़ियों के साथ अपने रब से मुल्क की अमन व तरक्की की दुआ मांगी

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments