शासन के लाख प्रयास करने के बाद भी अपेक्षित सफलता नहीं मिल रही है आखिर क्यों

शासन के  लाख  प्रयास करने के बाद भी अपेक्षित सफलता नहीं मिल रही है आखिर  क्यों

गोन्डा

पवन कुमार द्विवेदी 

लक्ष्य को पूरा करने में लगी स्वक्ष भारत मिशन की टीम
स्वक्षता के बारे में जागरूकता फैलाने के बाद भी लोग जागरूक नही हो रहे है ।

शौचालय के बारे में लोग अभी भी नही समझ रहे है व गॉव व बाजार सभी जगह गंदगी का अंबार लगा हुआ है 
गोंडा 
अधिकारियो और कर्मचारियों में काम की ऐसी लगन है की रविवार के छुट्टी में भी लोग हर दिन की तरह ड्यूटी करते है। अवकाश दिवस में ग्राम की पगडंडियों पर अधिकारियो और कर्मचारियों के चहलकदमी से सकते में रहे ग्रामीण।

जी हाँ, बात करते है स्वक्ष भारत मिशन ग्रामीण के तहत इटियाथोक ब्लाक में तैनात अधिकारियो और कर्मचारियों की। शौचालय बनवाने और उसकी जांच पड़ताल को लेकर यहाँ पर तैनात यह लोग रविवार के दिन भी आम दिनों की तरह काम करते है, और ब्लाक को मिले लक्ष्य को समय पर पूरा करने की कोशिश करते है। यहाँ के कर्मचारियों का कहना है की जब यह कार्य हमे ही पूर्ण करने है तो फिर छुट्टी किस बात की।

इसी क्रम में ग्राम पंचायत पूरे पंडित वृन्दावन में रविवार की अलल सुबह मार्निंग फालोअप किया गया। इस दौरान न्याय पंचायत के समस्त स्वच्छाग्राही, सभी कर्मचारी सुबह साढ़े चार बजे से ही उक्त गांव में मौजूद रहे। यह कार्य सहायक विकास अधिकारी पंचायत इटियाथोक फूलचंद्र श्रीवास्तव के दिशा निर्देश पर किया गया।

इस मार्निग फालोअप में इन सबके सहित स्वयं एडीओ पंचायत, खण्ड प्रेरक कपिल द्विवेदी, स्वाक्षताग्राही अरूण कुमार तिवारी, ग्राम प्रधान राकेश पासवान तथा न्याय पंचायत मेहनौन के समस्त सफाई कर्मचारी उपस्थित रहे। गांव वालो को खुले में शौच से टोंका-टाकी करके रोका गया और उनको स्वच्छता का संदेस दिया गया।

इसी क्रम में ग्राम पंचायत पूरे पण्डित वृन्दावन मे बेबी फ्रेंडली शौचालय का भौतिक सत्यापन भी एडीओ पंचायत ने किया। ग्राम पंचायत अर्जुनपुर में नए शौचालयो के निर्माण के वक्त यहाँ के ग्राम प्रधान सहित सफाईकर्मी और ग्राम रोजगार सेवक उपस्थित रहे। एडीओ पंचायत और खंड प्रेरको ने ब्लाक के कई ग्रामो में पहुंचकर शौचालयो का निरीक्षण भी किया।


कुल मिलाकर स्वक्ष भारत मिशन पूरी तरह से फेल साबित हो रहा है ।लोग अभी भी इसके प्रति जागरूक नही हो रहे है ।इस बारे में ग्रामीण व शहरी ,अधिकारी ,कर्मचारी कोई भी अपनी जिम्मेदारी समझने के लिए तैयार नही है ।

कर्मचारी व अधिकारी केवल नौकरी कर रहे है ।वही आम जन मानस के मन मे यह बैठ गया कि यह सब अधिकारियो व कर्मचारी की जिम्मेदारी है ।बस यही पेंच के वजह से स्वक्ष भारत मिशन अपनी राह नही पकड़ पा रहा है ।जब लोगो के समझ मे यह आ जायेगा कि गंदगी से उनका नुकसान है तो वे स्वतः गंदगी को दूर हो जाएगी ।कर्मचारी व अधिकारी को इस बात पर फोकस करना चाहिए ।

Comments