हमीरपुर सीडीओ ने पेयजल समस्या को दूर करने के लिये पांच सचिवों को नोटिस

हमीरपुर सीडीओ ने पेयजल समस्या को दूर करने के लिये पांच सचिवों को नोटिस

जनपद मे पेयजल समस्या को दूर करने के लिये आज विकास खंड कार्यालय पहुंचे सीडीओ ने पेयजल, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना सहित अन्य विकास योजनाओं की गहन समीक्षा की। स्थिति खराब पाए जाने पर उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए तीन दिन में स्थिति सुधारने के निर्देश दिए। बैठक में खराब प्रगति वाले पांच सचिवों को नोटिस थमाकर स्पष्टीकरण मांगा गया है। सीडीओ के तेवर देख ब्लाक कर्मियों में हड़कंप मच गया।

मुख्य विकास अधिकारी आरके सिंह जिला पंचायत राज अधिकारी डीपी तिवारी के साथ शाम चार बजे के बाद खंड विकास कार्यालय पहुंचे। ब्लाक सभागार में विकास खंड क्षेत्र की 57 ग्राम पंचायतों के पेयजल स्थिति की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में दो तालाब अवश्य भरवाए जाए।

तीन हजार से अधिक आबादी की पंचायतें टैंकर खरीदकर पेयजल संकट से जूझ रही जनता को पानी मुहैया कराए। जिन ग्राम पंचायतों के पास पूर्व से टैंकर मौजूद है वह पंचायतें उन्हें दुरुस्त कराकर पानी आपूर्ति कराए। प्रत्येक हैंडपंप के पास चरही निर्माण कराया जाए। रिबोर हैंडपंपों को तत्काल ठीक कराया जाए। समीक्षा के दौरान पांच ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों की खराब प्रगति पर नोटिस देने के निर्देश दिए।

सीडीओ ने समीक्षा के दौरान ग्राम पंचायतों में राज्य वित्त, एवं चौदहवें वित्त की उपभोग धनराशि का ब्यौरा प्रिया साफ्टवेयर में वर्ष 2018-19 का अपलोड न किए जाने पर गहरी नाराजगी जताई। उन्होंने पाया कि वित्तीय वर्ष गुजर जाने के डेढ़ माह बाद भी ब्लाक की 57 ग्राम पंचायतों के सापेक्ष 11 ने ही फीडिंग कराई है। इसी तरह प्लान प्लस में वित्तीय वर्ष 2019-20 की कार्ययोजना सिर्फ 22 ग्राम पंचायतों ने अपलोड कराई है।

ग्राम पंचायतों की इस उदासीनता पर उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि सभी कार्य तीन दिन में पूर्ण होना चाहिए। वर्ना कार्रवाई के लिए तैयार रहे। क्योंकि विकास कार्यों में गड़बड़ी एवं हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सीडीओ ने बैठक में स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा करते हुए अधूरे शौचालय 15 दिन में पूर्ण कराने के निर्देश दिए।

उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के अधूरे पड़े आवासों की किश्त दिलाए जाने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि यदि लाभार्थी ने धनराशि का दुरुपयोग किया है तो उसके खिलाफ आरसी जारी करके कार्रवाई करें। बैठक में डीपीआरओ डीपी तिवारी, बीडीओ विजयशंकर शुक्ला, एडीओ पंचायत चंद्रपाल सिंह चंदेल, एपीओ मनरेगा जीतेंद्र कुमार के अलावा सभी ग्राम पंचायत विकास अधिकारी, तकनीकी सहायक ग्राम रोजगार सेवक सहित सभी ब्लाक कर्मी मौजूद रहे। सीडीओ के सख्त तेवरों से ब्लाक कर्मियों में हड़कंप मच गया है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments