इसरो प्रमुख

इसरो प्रमुख

           लेखक - मान सिंह नेगी 

  तूफानों से लड़ कर नौका पार नहीं होती

  कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती

 

 हमें गर्व है अपने वैज्ञानिकों पर

 उनकी सूझबूझ पर उनकी समझदारी पर

 

 जी हां अब आपको पता चल गया होगा हम बात कर रहे हैं चंद्रयान दो - विक्रम की।

 

 हम सब समझ रहे हैं. चंद्रयान दो अभियान सफल होते होते 2 किलोमीटर की दूरी से रह गया।

 

 वास्तव में इसे सफलता ही कहा जाएगा चंद्रयान पर पहुंचने की जो सपना हमारा  सकार ना हो सका.  वह सफलता का प्रथम चरण है।

 

 हालांकि हमें वैज्ञानिक तौर-तरीकों पर बिल्कुल भी समझ नहीं है।हमारी वैज्ञानिक सोच मैं किसी प्रकार की कोई रुचि नहीं है।

 

 परंतु जब फेसबुक पर इसरो प्रमुख के सिवान के हतोत्साहित शब्दों को सुना।इस असफलता होने के पश्चात आप हमारे साथ है।

 

 हमारा वैज्ञानिक मन हमारी वैज्ञानिक सोच तिलमिला उठी, छटपटा उठी, चिल्ला उठी।

 

 इसरो प्रमुख के सिवान आप आगे बढ़ो हम आपके साथ हैं. आप आगे बढ़ो देश आपके साथ है।

 

 आपने इतनी बड़ी सफलता के लिए प्रयास किया जिसके लिए देशवासी आपका तहे दिल से धन्यवाद करते हैं।

 

 हमने बचपन में अक्सर अपनी नानी से यही सुना करते थे।

 

चंदा मामा दूर के दही पकोड़े पुरके आप खाएं थाली में मुन्ने को दे प्याली में।

 

 उस कहानी को उस सपने को पूरा करने में आप ने भरसक पर्यतन किया।आपने सफलता की ओर कदम बढ़ाया आप सफल भी हुए।

 

 हम जानते हैं। यदि यह अभियान चंद्रमा पर पहुंच जाता तो हमें वहां के वातावरण वहां के खनिज पदार्थ वहां की जलवायु का पता चल पाता।

 

 हम इसरो प्रमुख के सिवान के लिए अपने शब्दों की माला से कुछ विचार इस प्रकार प्रस्तुत कर रहे हैं।

 

किसी भी परीक्षा का किसी भी चीज का जीवन में किसी भी परीक्षा का किसी भी अभियान का किसी लेख का किसी कहानी का किसी भी चरण का पहला भाग जी हां पहला भाग लिखना या करना बहुत महत्वपूर्ण है।

 

उसके बाद लिखी हुई  इबारत पर कहे गए विचार पर कोई भी अपनी  राय रख सकता है।

 

परंतु पहला चरण लिखना ही बहुत मुश्किल होता है।

 

वह आप ने कर दिखाया इसके लिए हम देशवासी आपको बधाई देते हैं. आप बधाई के पात्र हैं।

 

 हमें आज वह मधुर गीत भी याद आ रहा है।

 

चलो दिलदार चलो चांद के पार चलो हम हैं तैयार चलो  हम हैं तैयार चले।

 

 जिस सफर  के रास्ते को देख लिया उसकी मंजिल आज नहीं तो कल पा ही लेंगे. इसमे निराश होने की कोई आवश्यकता नही है।

 

 देशवासियों को आप पर गर्व है इसरो प्रमुख के सिवान।

 

 इसमें हताश होने की कोई बात नहीं।

 

 आप आगे बढ़ो हम यही कह सकते हैं।

 

उससे ताउम्र मेरा याराना रहेगा,  घर देख लिया है,  अब आना जाना रहेगा, हौसलों की जिद तू भी देखना, 

एक रोज तेरे घर मेरा आशियाना रहेगा।

 

 हम जानते हैं विक्रम खोया है, भविष्य नहीं।

 

हार उनकी नही होती जो गिर जाते है। हार उनकी होती है. जो गिर कर खड़ा नही होना चाहते।

 

याद रहे मुर्दा दिल से कोई किला फतह नहीं किया जा सकता।

 

मुर्दा दिल से कोई अभियान सफल नहीं किया जा सकता।

 

मुर्दा दिल से कोई परीक्षा पास नहीं की जा सकती।

 

जिंदादिली जिंदगी का नाम है जिनके हौसले बुलंद हैं उन्हें कोई भी अभियान कोई भी परीक्षा असफल नहीं कर सकती.

 

 उस सफलता में थोड़ी बाधाएं हो सकती है, थोड़ा रोडे रोडे हो सकते हैं।

 

 वह मार्ग को अवरुद्ध कर सकती है. परंतु याद रहे जिसने एक कदम बढ़ाया है।

 

जिसने एक कदम बढ़ाया है।उसे सफलता प्राप्त करने के लिए कोई भी नहीं रोक सकता।

 

कहा भी गया है यदि आप किसी चीज की तमन्ना करो तब पूरी कायनात उसे मिलाने में अपना पूरा जोर लगा देती है।

 

विक्रम खोया है, भविष्य नहीं।

 

हमें पूरी उम्मीद है इसरो प्रमुख के सिवान आप सफलता की सीढ़ी को अवश्य पा लेंगे।

 

आपकी सफलता के लिए हम भगवान कृष्ण से प्रार्थना करते हैं।वह दिन हमें जल्दी देखने को मिले जब सफलता के साथ हम  चंद्रयान पर उतरने वाले चौथा देश होंगे।

 

आपके चंद्रमा अभियान पर आपको बधाई आपके सभी साथियों को तहे दिल से बधाई।

 

 हम आपकी और सफलताएं देखना चाहते हैं।भविष्य में आप सब आगे बढ़े देशवासी आपके साथ हैं।

 

एमएसएन विचार यह हमारी वैज्ञानिक सोच पर पहला लेख है. यदि इसमें कोई त्रुटि हो या त्रुटि रह जाए तो हमें क्षमा कीजिएगा।

 

सफलता प्राप्त करने के लिए अनेक दौरों से गुजरना ही पड़ता है।

 

जैसे अमेरिका के 16वे  राष्ट्रपति अब्राहीम लिंकन ने कितनी असफलताओं के बाद सफलता पाई थी।

 

बिजली का आविष्कार करने वाले थॉमस एडिसन  को स्कूल से पांचवी कक्षा से बाहर कर दिया था। जो सुन नही सकते थे। जिन्हें विद्यालय से निकल देने पर उनकी माँ ने कहा था बेटा वह विद्यालय तुम्हारे लायक नही।

 

उसके बाद भी उसने बिजली का अविष्कार कर हमारे लिए. हमारे जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण योगदान दिया यह किसी से छिपा नहीं है।

 

सफलता का रास्ता असफलताओं से होकर ही गुजरता है सनद रहे।

 इतिश्री

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments