अपर जिला जज ने फ़ीता काटकर प्री-लिटिगेशन लोक अदालत का किया उद्धाटन 

अपर जिला जज ने फ़ीता काटकर प्री-लिटिगेशन लोक अदालत का किया उद्धाटन 

- विभिन्न शाखाओं के बकाया ऋण मामलों में 256 का हुआ निस्तारण


उरई (जालौन)

 जिला दीवानी न्यायालय उरई में सम्पन्न हुई प्री-लिटिगेशन लोक अदालत में जिले की लीड बैंक इलाहाबाद बैंक की विभिन्न शाखाओं के बकाया ऋण के 256 मामलों का निस्तारण करते हुए 16430468 रू धनराशि जमा करायी गयी। इस प्रकार करीब 350 से अधिक बकायेदार लाभन्वित हुए। इस प्री-लिटिगेशन लोकअदालत में करीब 250 से अधिक बकायेदारों को रजामन्द किया गया और उन्हें ब्याज में अधिक से अधिक छूट के साथ-साथ किश्तों में रूपया जमा करने की सुविधा प्रदान की गयी। प्रात: काल अपर जिला जज अमित पाल सिंह फीता काटकर दीप प्रज्ज्वलन करते हुए प्री-लिटिगेशन लोक अदालत का विधिवत् उद्धाटन किया गया।

जिला जज अनिल कुमार गुप्ता के कुशल मार्गदर्शन में सम्पन्न हुई प्री-लिटिगेशन लोकअदालत के उद्धाटन अवसर पर अमित पाल सिंह ने कहा कि प्री-लिटिगेशन लोक अदालत वैकल्पिक न्याय का एक ऐसा माध्यम है, जिसमें दो पक्ष आपस में परस्पर अपने मतभेद भुलाकर सद्भावनापूर्ण ढंग से विवाद सुलझाने का एक रास्ता निकालते हैं। इसे न्यायालय की मान्यता प्रदान की जाती हैए जो सामान्य सिविल केसों की डिक्री की तरह मान्यता रखती है। इस तरह से निस्तारित मामलों में चूंकि दोनो पक्षों के हित में फैसला होता हैए इसलिये इसमें विवाद अन्तिम रूप से समाप्त हो जाता है। अपर जिला जज श्री अनिल कुमार यादव ने कहाकि बुन्देलखण्ड प्राकृतिक रूप से सूखा क्षेत्र होने के कारण यहां बरसात कम होने से फसलों की अच्छी उपज न होने के चलते यहां का किसान बैंक का पैसा समय से जमा नहीं कर पाता है और उसका कर्ज बढ़ता चला जाता है।

ऐसे कर्ज से छुटकारा पाने के लिए इस तरह की लोक अदालत का किसान लाभ उठा सकते हैं। अग्रणी बैंक जिला प्रबंधक एस0के0शर्मा ने बताया कि आज करीब 2960 मामले इलाहाबाद बैंक की विभिन्न शाखाओं के नियत किये गये थे। इनमें बकायेदारों को न्यायालय से नोटिस भेजे गये थे। इनमें से करीब 350 से अधिक बकायेदार न्यायालय की मदद से अपने ऋण समाप्त किये जाने का मन बनाते हुए सुलह के लिए राजी हुए। इस मौके पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के प्रभारी सचिव सीजेएम प्रशांत कुमार, जोनल कार्यालय के बैंक अधिकारी एके आनन्द, कुलदीप सक्सेना, मुख्य प्रबंधक बीरेन्द्र कुमार, एके गुप्ता, एसके वर्मा, सिद्धार्थ सिंह, सौरभ गुप्ता, राहुल कुमार सिंह, एलबी गुप्ता, पंकज कुमार सिंह, विद्या गुप्ता और मानवेन्द्र सिंह इत्यादि उपस्थित रहे।

Comments