कैराना की टॉप खबरे

कैराना की टॉप खबरे

आपूर्ति विभाग की कार्यवाही से अवैध पैट्रोल  पंप  स्वामियों मे मचा हड़कम्प  

  • एफआईआर के डर से स्वामी  खुद ही उखाड़ने लगें अवैध पेट्रोल पंप मशीनें 
  • ईदगाह रोड़ पर  स्थित अवैध रूप से चल रहें पेट्रोल पंप को सील कर पंप स्वामी पर    हुई  एफआईआर  दर्ज 

वाज़िद अली कैराना  

कैराना। जिलाधिकारी शामली द्वारा निर्देशित करने के बाद हरकत में आये आपूर्ति विभाग द्वारा नगर में एक बायोटेक पंप को सील करने के बाद नगर एवं क्षेत्र में आधा दर्जन से अधिक  संचालित अवैध  पैट्रोल पंपों के संचालको ने एफआईआर के डर से स्वयं ही  मशीनें उखाड़नी शुर कर दी हैं। 

नगर एवं क्षेत्र में कुछ महीनों से अवैध पेट्रोल व डीजल पम्पो की बाढ़ सी आ गई थी। वही जनपद भर में लगभग दो दर्जन अवैध पंप का संचालन बे रोकटोक दिन रात फलफूल रहा था। दैनिक जागरण द्वारा जनपद भर में मिलावटी तेल उगल रहे अवैध पम्पो का राजफाश किया था।

जिलाधिकारी शामली अखिलेश सिंह ने  आपूर्ति विभाग को निर्देशित कर जल्द से जल्द अवैध पम्पों को सील कर संचालकों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही करने के निर्देश जारी करने के बाद गत गुरुवार को नगर में स्थित बायोफ्यूल पंपों पर सप्लाई विभाग के क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी शामली अजय कुमार सिंह के नेतृत्व में चार सदस्यों की टीम गठित कर छापा मार अभियान चलाया गया। छापा मार कार्यवाही के दौरान नगर के ईदगाह रोड पर स्थित बायोटेक पंप को  बिना लाइसेंस के चलते सील कर दिया था। छापेमार टीम को देखकर पंप स्वामी दोनों पंप परिसर में मौजूद कमरों का ताला लगाकर मौके से फरार हो गया था। इस दौरान काफी देर तक पंप स्वामी पंप से संबंधित कागज़ात नही दिखा पाया तो टीम ने बडी कार्यवाही कर पंप को सील करते हुई संचालक खैरुल के विरुद्ध कोतवाली पर एफआईआर दर्ज करा दी। जिलाधिकारी के आदेश के बाद

आपूर्ति विभाग की कार्यवाही से भयभीत पंप स्वामियों ने अपनी मशीनें उखाड़नी शुरू कर दी हैं। नगर के खुरगान रॉड, झिंझाना मार्ग कांधला रोड, तितरवाडा, भूरा गांव में अवैध रूप से संचालित बायोटेक पैट्रोल को बंद कर मशीनें उखाड़ ली हैं। कुल मिलाकर बायोफ्यूल पंपों पर आपूर्ति विभाग की बड़ी कार्यवाही के बाद पंप संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है।

मशीनें गायब ऑयल टैंक पंप परिसर में  मौजूद

नगर में मात्र एक पंप स्वमी के खिलाफ कार्यवाही हुई है। वही अन्य पंप स्वामियों ने अपने राजनीतिक आकाओं के दरबारो में हाजिरी लगानी शुरू कर दी है, लेकिन वहाँ भी उन्हें कोई राहत नही मिलती नजर आ रही है।

नगरवासियों की नजरें अन्य बायोटेक पंप स्वामियों के खिलाफ भी आपूर्ति  विभाग द्वारा कार्यवाही अमल में लाई जाएगी या फिर जिलाधिकारी शामली के निर्देश की मात्र औपचरिकता पूरी की गई है इस कथन पर टिकी है। वही पंप संचालको ने ऑयल की मशीनों को तो उखाड़ लिया परन्तु ऑयल टैंक जमीन में गढे है जो अभी भी पंप होने का प्रमाण दे रहे है।

क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी शामली अजय कुमार सिंह का कहना है  कि क्षेत्र में  बिना एनओसी  के कोई भी ऑयल मशीन लगाई गई तो उसके खिलाफ़  एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही की जाएँगी व नगर में लगे सभी पम्पो को चिन्हित किया जाएगा ।

अजय  कुमार सिंह क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी शामली

--------------

चुनाव ड्यूटी में अच्छा प्रदर्शन करने वाले बीएलओ व सुपरवाइजर को दिए प्रशस्ति प्रमाण पत्र

\कैराना। उपजिलाधिकारी कैराना डॉ  अमितपाल शर्मा ने लोकसभा चुनाव के दौरान अच्छा कार्य  करने वाले 55 बीएलओ व 7 सुपरवाइजरो को प्रशस्ति प्रमाण पत्र सौप कर किया सम्मानित।

शुक्रवार को तहसील परिसर में लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव सम्बंधित ड्यूटी पर तैनात 285  बीएलओ में से अच्छा प्रदर्शन करने वाले 55 बीएलओ व 27 सुपरवाइजरो में से सात सुपरवाइजरो को एसडीएम कैराना डॉ अमितपाल शर्मा ने प्रशस्ति प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया।

एसडीएम द्वारा कार्यक्रम में शामिल सभी कर्मचारियों को लोकसभा चुनाव के मद्देनजर लग्न से कार्य करने पर शुभकामनाएं दी। इस दौरान तहसीलदार कैराना रणवीर सिंह व नायाब तहसीलदार सुरेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

--------------

विश्व मे शान्ति व अमन चैन की दुआ के लिए उठे हज़ारों हाथ 

वाज़िद अली कैराना 

कैराना । मुकद्दस माहे रमज़ान के दूसरे जुमे की नमाज़ अक़ीदत के साथ अदा की गई। इस दौरान हज़ारों लोगों ने अल्लाह की बारगाह में सजदे किये। वहीं नमाज़ जुमे के बाद हज़ारों लोगों ने हाथ उठाकर विश्वशांति एकता के लिये दुआएं मांगी।

पवित्र माहे रमज़ान के दूसरे जुमे की नमाज़ अदा करने के लिए रोज़ेदारों की भीड़ नगर की प्रमुख मस्जिदों में उमड़ी और अक़ीदत के साथ नमाज़ जुमा अदा किया। इस दौरान नमाज़ियों को खिताब करते हुए मौलाना फैज़ान क़ासमी ने कहा कि माहे रमज़ान एक ऐसा रहमतों व बरकतों वाला महीना है, जिसमें अल्लाह की रहमतें बरसती हैं। इस बाबरकत महीने में गुनाहगार बंदे अल्लाह की बारगाह में इबादत कर अपने गुनाहों की तौबा करते हैं। उन्होंने फ़रमाया कि जो गुनाहगार बंदा इस मुकद्दस माह में भी अपने गुनाहों पर शर्मिंदा होकर अपने गुनाहों की तौबा नही कर सका तो ऐसे शख्स पर अल्लाह की लानत भेजी जाती है।

उन्होंने कहा कि माहे रमज़ान में रोज़े रखकर पांच वक़्त की पाबंदी के साथ नमाज़ अदा करनी चाहिए। नमाज़ के बगैर रोज़ा भी अधूरा है। रमज़ान का पहला अशरा समाप्ति की और बढ़ रहा है,इसमें बंदों पर अल्लाह की रहमतें बरसती हैं।इसी के साथ-साथ नगर की प्रमुख मस्जिदों में भी रमज़ान के दूसरे जुमे की नमाज़ें अक़ीदत व एहतराम के साथ अदा की गई है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments