भारत-नेपाल सशस्त्र सीमा बल के जवानों को मिली बड़ी कामयाबी डेढ़ करोड़ की हेरोइन किया जप्त,एक तस्कर गिरफ्तार 

भारत-नेपाल सशस्त्र सीमा बल के जवानों को मिली बड़ी कामयाबी डेढ़ करोड़ की हेरोइन किया जप्त,एक तस्कर गिरफ्तार 

●खुलेंगे कई सफेदपोश के नाम

प्रमोद रौनियार,शैलेश यदुवंशी

खड्डा, कुशीनगर।

भारत नेपाल सीमा पर तैनात सशस्त्र सीमा बल 21 वी वाहिनी गंडक बैराज ए कंपनी के अधिकारियों और जवानों ने गुप्त सूचना पर कार्यवाही करते हुए गुरुवार को डेढ़ करोड़ अंतरराष्ट्रीय मूल्य की मादक पदार्थ हेरोइन के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।इस मामले में गंडक बैराज ए कंपनी के कंपनी कमांडर सुमित कुमार ने वाल्मीकि नगर थाने में आवेदन देते हुए एनडीपीएस एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई है और जप्त मादक पदार्थ हेरोइन और तस्कर को पुलिस की अभिरक्षा में सौंप दिया है।

अपने आवेदन में कंपनी कमांडर ने लिखा है कि गुप्त सूचना के तहत थाना क्षेत्र में विशेष निगरानी और चौकसी की जा रही है गुरुवार को गस्ती के क्रम में वाल्मीकि टाइगर रिजर्व के जंगल में स्थित नर देवी मंदिर के समीप एक संदिग्ध व्यक्ति को देखा गया।जिसके पीठ पर एक बैग लदा हुआ था। वह व्यक्ति एसएसबी को देखकर भागने का प्रयास करने लगा त्यों एसएसबी के जवानों ने पकड़ लिया।तलाशी नियमों के तहत उसे बैग की तलाशी लेने पर उसके बैग से डेढ़ किलो हीरोइन जैसा मादक पदार्थ पाया गया।

जिसकी नारकोटिक्स ड्रग्स डिटेक्शन कीट के द्वारा जांच के बाद हेरोइन जैसा दिखने वाला और हेरोइन ग्रुप में पॉजिटिव पाया गया। पकड़े गए व्यक्ति की शिनाख्त स्टीफन खड़िया उम्र लगभग 39 वर्ष पिता बिरजा खड़िया ग्राम मेंतली चाय बागान थाना मेंतेली  पश्चिम बंगाल के रूप में की गई है।इस बाबत बाल्मीकि नगर थानाध्यक्ष जयप्रकाश सिंह ने बताया कि इस मामले में वाल्मीकि नगर थाना कांड संख्या 62 बटा 19 अंडर सेक्शन 20 बटा 21 सी एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज करते हुए आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

एसएसबी और पुलिस चला रही है नशे के कारोबार के विरुद्ध अभियान

बिहार में जारी पूर्ण शराबबंदी अभियान के बाद नशे की लत के शिकार लोग नशे के वैकल्पिक साधनों की तलाश में जुट गए हैं।थाना क्षेत्र में अंग्रेजी दवाइयों की खुराक को नशे की पूर्ति के लिए उपयोग करने मादक पदार्थों में चरस स्मैक आदि का प्रचलन तेजी से बढ़ा है।जिस पर अंकुश लगाने के लिए सशस्त्र सीमा बल के अधिकारी और जवान के अलावा वाल्मीकि नगर पुलिस इसकी रोकथाम की कार्रवाई में जुट गई है।

इसी क्रम में बीते दिन हो स्थानीय 3 आरडी पूल के पूर्वी बांध के समीप एक अज्ञात नेपाली युवक का सड़ा गला शव बरामद किया गया था और यह अनुमान लगाया गया था कि इसकी मौत नशे की ओवरडोज के कारण हुई है।

दवा दुकानों की हुई थी जांच 3 पर प्राथमिकी दर्ज

नशे के बढ़ते कारोबार को देखते हुए वाल्मीकि नगर पुलिस और जिला औषधि विभाग  की पहल पर वाल्मीकि नगर क्षेत्र के सभी दुकानों की सघन जांच की गई थी जिसमें तीन दवा दुकानदारों के विरूद्ध प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई थी और एक दवा दुकानदार को गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया गया था

 बता दे की एसएसबी की इस बड़ी सफलता ने सीमा क्षेत्र में मादक पदार्थों की तस्करी में लिप्त लोगों में हड़कंप का माहौल पैदा कर दिया है क्योंकि ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि पकड़े गए व्यक्ति से पूछताछ के बाद कई लोगों के नामों का खुलासा हो सकता है जो नशे के इस धंधे में उसके सहयोगी और संरक्षक हो सकते हैं।

नेपाल यूपी बिहार के सीमावर्ती क्षेत्रों में मादक पदार्थों के तस्करी का खेल चल रहा है। जिससे नौजवानो के जीवन में जहर घुल रहा है।इसका खुलासा एसएसबी द्वारा बरामद डेढ़ करोड़ के हेरोइन बरामदगी से हुआ है।

 

Comments