सर्राफा व्यापारी से लूट के बाद व्यापारियों में दहसत        

सर्राफा व्यापारी से लूट के बाद व्यापारियों में दहसत         

घटना स्थल पर एडिशनल एसपी ने पहुचकर पीड़ित को दिया आश्वासन

एसओजी टीम ने भी घटना स्थल पर पहुच कर जांच में जुटी

बीते महीनों पहले भी हुई सर्राफा से लूट का अब तक नही हो सका खुलासा

स्वतंत्र प्रभात न्यूज़/पत्रकार अमन कुमार सोनी की रिपोर्ट

फतेहपुर/सुल्तानपुर घोष :-

क्षेत्र के प्रेमनगर के व्यापारीयों के साथ लूट पाट का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है कही व्यापारियों के शटर के तालों को तोड़ कर चोरी को अंजाम दिया जा रहा है। तो कहीं रास्तों में रोक कर उनको लूट का शिकार बनाया जा रहा है।
               बीते कल प्रेमनगर में ज्वैलरी की दुकान चला रहे रवि कुमार सोनी पुत्र बच्चू लाल सोनी रोजाना की तरह शाम पांच बजे ज्वेलरी शॉप बंद करके अपने घर जा रहा था।

जैसे ही उमरपुरगौतीं के पास व्यापारी पहुंचा है तभी चार अज्ञात मास्क लुटेरे व्यापारी की गाड़ी के सामने गाड़ी लगा दी और अवैध पिस्टल लगाकर ज्वेलरी से भरा बैग, गले की चैन, व हाथ की अंगूठी, लेकर फरार हो गए।

सराफा व्यापारी ने पुलिस को तहरीर देते हुए एडिशनल एसपी पूजा यादव से बताया है कि बैग में सौ ग्राम सोना तीन किलो चांदी और पच्चीस हजार रुपए नकदी की लिखित तहरीर दी है। पीड़ित की मानें तो पांच लाख पच्चीस हजार की लूट बताई जा रही है।

एडिशनल एसपी पूजा यादव ने सर्राफा व्यापारी को आश्वासन दिया है कि जल्द ही लुटेरों का पर्दा फास किया जाएगा।


          प्रेमनगर के वरिष्ठ व्यापारियों की मानें तो खास बाजार के ही दिन व्यापारियों को लूट का शिकार बनाया जा रहा है। गौरतलब यह है कि प्रेम नगर से मंडवा की दूरी पांच किलोमीटर है जो कि एक सुनसान रास्ता तय करके ग्रामीण एवं व्यापारी गुजरते हैं।

और नकाब पोश लुटेरे इसी सुनसान रास्ते का फायदा उठाकर सराफा को लूट का शिकार बना रहे हैं। लुटेरे इससे पहले भी प्रेमनगर की बाजार के दिन सत्रह सितंबर को सर्राफा व्यापारी श्रीनाथ सोनी को भी अवैध तमंचा लगाकर  उनका ज्वेलरी का बैग लूटकर फरार हो गए थे।

जबकि इस घटना के बाद से घोष पुलिस आज तक लुटेरों को पकड़ने में नाकाम साबित रही।


         बताते चलें कि अक्टूबर के महीने में सिटी मोबाइल शॉप और नवम्बर में बबलू टेलीकॉम की दुकान का ताला तोड़कर  लाखों की चोरी को अंजाम दिया गया था।

प्रेमनगर के व्यापारियों का कहना है कि यह लुटेरे रात में दुकानों के शटर का ताला तोड़ कर चोरी को अंजाम देते हैं।  और राहगीरों को भी अपना शिकार बनाते हैं।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments