भारतीय किसान यूनियन सावित्री गुटकी राष्ट्रीय अध्यक्षा को एसो गुडंबा ने फोन पर धमकाया

भारतीय किसान यूनियन सावित्री गुटकी राष्ट्रीय अध्यक्षा को एसो गुडंबा ने फोन पर धमकाया

 

स्वतंत्र प्रभात लखनऊ। 

 

भारतीय किसान यूनियन के सदस्यों ने 2 दिन पहले राजधानी के अंदर हो रहे गोकशी को रंगे हाथों पकड़वाया जिसका खामियाजा अब उनको मिलने वाली जान से मार देने की धमकियों से उठाना पड़ रहा है इसी मामले को लेकर सावित्री सिंह ने एसो साहब को फोन पर बात करने की कोशिश की तब ऐसो साहब के बिगड़े बोल का अंदाजा लग सका।

सावित्री सिंह ने ऐसो साहब से बात करने की कोशिश की तो ऐसो साहब ने उल्टा दंगा भड़काने की बात का झूठा आरोप लगाते हुए सावित्री सिंह को अपने अर्दब में लेने की कोशिश की और कहा कि मैं अपना काम कर रहा हूं आप बीच में हिंदू मुस्लिम दंगा कराने की फिराक में हैं जबकि सावित्री सिंह ने यह साफ कहा कि हमारे लोगों को धमकियां मिल रही हैं और मैं उनको आपके पास भेज रही हूं ताकि आप उनकी FIR दर्ज कर लें इस पर ऐसो साहब और भी भड़क चुके थे

सावित्री सिंह ने कहा कि जब मैंने ऐसो साहब को फोन किया था तो मैं सिर्फ यही बताना चाह रही थी कि गोकशी में 5 लोगों को मौके से रंगे हाथों पकडा गया था जिसमें एक को आप ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया बाद बाकी चार को आपने क्यों छोड़ दिया इसी बात पर एसो साहब ने अपनी आपा खो दी और उनको यह नहीं पता चल सका कि वह एक महिला से बात कर रहे हैं और महिला सम्मान को ताक पर रखते हुए फोन पर बात करने लगे। 

 

 सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम रजौली थाना गुडम्बा तहसील बीकेटी में दिनांक 18 जुलाई 2018 को गाय काटी जा रही थी जिसे भगवती प्रसाद गौतम ने देखा और 100 नंबर डायल किया एवं सावित्री गुट के राष्ट्रीय अध्यक्षा को बताया। उन्होंने तुरंत श्रीमान एसएसपी लखनऊ सी ओ गाजीपुर को एवं थाना अध्यक्ष गुडम्बा को तुरंत बताया मौके पर पुलिस फोर्स पहुंची एवं कटी गाय को बरामद किया 5 लोगों के नाम मुकदमा दर्ज हुआ

पुलिस की खराब रवैया और मिलीभगत होने से अभी भी गाय हत्या के 4 लोग गिरफ्त से बाहर हैं गौ हत्या बराबर होती है जो भी अंगुली उठाता है उसे जान से मारने की धमकी दी जाती है हिम्मत करके भगवती प्रसाद गौतम ने इसे उजागर किया तो थाना इंचार्ज गुडम्बा धर्मेंद्र कुमार साही द्वारा भी मुकदमे में फंसाने की धमकी दी जा रही है एवं कहा जा रहा है कि किसान यूनियन को गौ हत्या से क्या लेना देना उन्हें नहीं मालूम कि पशुधन ही किसानों का महत्वपूर्ण जीवन यापन का जरिया है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments