राजकीय महिला महाविद्यालय में स्वामी विवेकानन्द के जन्मदिवस को युवा दिवस के रूप में मनाया

राजकीय महिला महाविद्यालय में स्वामी विवेकानन्द के जन्मदिवस को युवा दिवस के रूप में मनाया

महेन्द्रगढ़ /विनीत पंसारी।


राजकीय महिला महाविद्यालय महेन्द्रगढ़ में छात्र परिषद द्वारा स्वामी विवेकानन्द के जन्मदिवस को युवा दिवस के रूप में मनाया गया ।

कार्यक्रम में मुख्य वक्ता अभाविप के जिला प्रमुख सचिन महायच थे । अध्यक्षता कालेज उप-प्राचार्य संजय जोशी  ने की ।

सचिन महायच ने बताया कि 12 जनवरी 1863 को स्वामी विवेकानंद ने भारत भूमि पर जन्म लेकर इस देश की माटी को पवित्र कर दिया ।

उन्होंने संपूर्ण भारत की पदयात्रा की । उन्होंने राजाओं के महलों से लेकर गरीब की कुटिया तक देश की मनोदशा का प्रत्यक्ष चित्रण किया । 1893 में  शिकागो विश्वधर्म सम्मेलन में उन्होंने आध्यात्म और ज्ञान से भरा भाषण दिया तो पूरा सभागार तालियों से गूंज उठा । वे विलक्षण प्रतिभा के धनी थे । हमें उनके आदर्शों पर चलना चाहिए ।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महाविद्यालय के उप-प्राचार्य जोशी ने कहा देश में स्वामी विवेकानंद के अलावा युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत कोई अन्य हो नहीं सकता है ।

उन्होंने देश के लिए जो किया वह अपने आप में एक अद्भुत कार्य है । भारत देश उनका सदैव ऋणी रहेगा जिन्होंने देश को ज्ञान व आध्यात्म का पाठ पढ़ाया । हम आज उनकी जयंती पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं ।

इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापक महेंद्र कुमार, उपाध्यक्ष पूनम भारद्वाज, कुमारी आरती, मनीषा,  प्रीति, संगीता सहित अनेक प्राध्यापक व छात्राएं उपस्थित थी ।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments