सरलता सादगी तथा संवेदनशीलता ईमानदार जीवन शैली की कुंजी है

सरलता सादगी तथा संवेदनशीलता ईमानदार जीवन शैली की कुंजी है

‌ईमानदार जीवन शैली की कुंजी हैसरलता सादगी और संवेदनशीलता।... के पी सिंह

‌इफको में सतर्कता जागरूकता अभियान संपन्न।

‌स्वतंत्र प्रभात

‌प्रयागराज।

‌प्रयागराज के अपर पुलिस महानिदेशक के पी सिंह ने कहा है की सरलता सादगी और संवेदनशीलता से किया गया कार्य ईमानदार जीवन शैली की कुंजी है जो किसी जरूरतमंद इंसान के तकलीफ को दूर कर सकती है । जरूरी है जो संवेदनशील नहीं है उन्हें संवेदनशील बनाया जाना चाहिए तथा जो संवेदनशील हैं उन्हें किसी के दुख और दर्द को बड़े ही सरलता और सादगी से संवेदनशील होकर दूर करना चाहिए जो ईमानदार जीवनशैली को प्रेरित करता है।

‌ पुलिस महा निरीक्षक के पी सिंह इफको मैं सतर्कता जागरूकता के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे उन्होंने कहा कि जो संवेदनहीन है उसको संवेदनशील बनाने के लिए कानून का भी सहारा लेने में कोई हर्ज नहीं है बशर्ते कि उसमें कोई निजी हित ना हो

‌इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि संयुक्त आयकर आयुक्त प्रयागराज मंडल सुकुमार राय ने कहा किसी एक घटना का अलग अलग नजरिया होता है चाहे तो उसे नकारात्मक नजरिए से देखा जाए या सकारात्मक यही नजरिया ही व्यक्ति को संवेदनशील और भ्रष्टाचार से दूर रखता है उन्होंने कई कहानियों का उदाहरण देते हुए एक ही घटना को सकारात्मक और नकारात्मक नजरिए से देखकर समझाने का प्रयास किया जो नकारात्मक होने पर व्यक्ति को संवेदनहीन बनाता है और सकारात्मक देखने से संवेदनशील और नैतिक वादी बना देता है

‌इफको इकाई के वरिष्ठ महाप्रबंधक एम मसूद ने कहा बाहरी खतरे के लिए सुरक्षा गार्ड की व्यवस्था होती है लेकिन किसी भी संस्था में आंतरिक खतरे जैसे भ्रष्टाचार और गलत कार्य को रोकने के लिए सतर्कता अधिकारी की व्यवस्था की जाती है जो संस्था को समय-समय पर आगाह करता है लेकिन जब थोड़े से स्वार्थ के लिए देश की सुरक्षा के साथ सौदेबाजी होती है वह बहुत ही भयावह होती है मुंबई बम कांड का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि देश की प्रतिष्ठा दाव पर लगाकर कुछ सुरक्षा कर्मियों ने थोड़ी सी लालच में आतंकियों को आरडीएक्स जैसे पदार्थ को देश के अंदर ले आने में मदद की जो करीब 300 मौतों का कारण बन गया। विकासशील देशों में अधिक भ्रष्टाचार होने का एक कारण यह भी है कि सामाजिक सुरक्षा की गारंटी नहीं होती जबकि विकसित देशों में वहां की सरकारों ने सामाजिक सुरक्षा की गारंटी  है

‌इस समापन समारोह में तकनीकी विकास भ्रष्टाचार रोकने में सहायक होता है विषय पर वाद विवाद प्रतियोगिता का भी आयोजन हुआ जिसमें राजेश शर्मा पंकज पांडे अनुराग तिवारी संतोष शुक्ला तथा आर बी  चौहान और श्रद्धा पांडे ने भाग लिया और अपने अपने तर्कों से यह सिद्ध करने का प्रयास किया कि तकनीकी विकास से भ्रष्टाचार कम होता है लेकिन जड़ से समाप्त नहीं किया जा सकता जड़ समाप्त करने के लिए नैतिकता संस्कार और परिवेश जरूरी है। इस अवसर पर जागरूकता अभियान में अनेक कार्यक्रम के आयोजन हुए थे जिसमें प्रतिभागियों ने भाग लिया था उन को पुरस्कृत किया गया जिसमें श्रीमती नौटियाल प्रथम थी

‌सतर्कता जागरूकता अभियान समिति के अध्यक्ष पीयूष मिश्रा ने अतिथियों का स्वागत किया तथा मुख्य सुरक्षा अधिकारी डीके शर्मा ले धन्यवाद ज्ञापित किया ।
‌इस अवसर पर कई संयुक्त महाप्रबंधक उप महा प्रबंधक तथा जनसंपर्क अधिकारी विश्वजीत श्रीवास्तव प्रबंधक लेखा विनोद यादव एमपी शर्मा तथा संजय पांडे आदि उपस्थित थे ।

प्रयागराज से दया शंकर त्रिपाठी की रिपोर्ट।

Comments