नहरों की सफाई का काम सुस्त सूख रही गेहूं की फसलें

नहरों की सफाई का काम सुस्त सूख रही गेहूं की फसलें

 रायबरेली सिंचाई विभाग की सुस्त कार्यशैली के चलते नहरों की सफाई का काम काफी देर से शुरू हुआ सिंचाई विभाग पर एक कहावत चरितार्थ होती नजर आ रही है

"नौ दिन चले अढा़ई कोश " एकदम सटीक बैठती है जिले के किसान एक तो धान की फसल बाढ़ में बह जाने की तबाही से जूझ रहे थे बची कसर अब सिंचाई विभाग की सुस्त कार्यशैली की वजह से किसान परेशान हैं नहरों की समय से सफाई ना होने के कारण नहरों में अभी तक पानी नहीं छोड़ा गया

जिससे हजारों हेक्टेयर गेहूं की फसल भी पानी के अभाव में सूखने की कगार पर है दूसरी तरफ धान कटाई के बाद सूखे खेतों की छपाई कर किसान पुनः गेहूं बोने का इंतजार कर रहे हैं केंद्र व राज्य की योगी सरकार मंदिर मस्जिद वह चुनावी जुमलेबाजी में मशगूल है भारत के अन्नदाता किसान की ओर कोई ध्यान नहीं दे रही है

एक तो किसानों को समय से खाद ना मिलने की वजह से भी गेहूं की बुवाई काफी लेट हुई दूसरी मार अब समय से नहरों में पानी ना आने की वजह से किसानों की समस्याएं बढ़ गई है अगर यही हालात बने रहे तो किसानों को यूपी में बुंदेलखंड की तरह रायबरेली के किसान भी आत्महत्या करने को मजबूर हो जाएंगे ।

Loading...
Loading...

Comments