नहाते नहाते दोनों युवक गहरे पानी में डूबने लगे

नहाते नहाते दोनों युवक गहरे पानी में डूबने लगे

नहाते नहाते दोनों युवक गहरे पानी में डूबने लगे

मनियर( बलिया) क्षेत्र में 

मकर संक्रान्ति के पावन पर्व पर घाघरा नदी के नवकागांव मठिया के पास परिजनों संग मंगलवार को नहाने गये दो चचेरे भाई डूबने लगे।जिसमें स्थानीय नाविको ने एक को तो बचा लिया दूसरा 18 वर्षिय युवक गहरे पानी में चले जाने से डुब गया।सूचना पर पहुंची मनियर पुलिस व स्थानीय लोगों के घंटो मशक्त के बाद भी युवक पता नही चल सका।सूचना के  कई घंटे बितने के बाद भी उच्चाधिकारी मौके पर नही पहुंचे जिससे के कारण परिजनों सहित स्थानीय लोगों में आक्रोश ब्याप्त था। 

मिली जानकारी के अनुसार कस्बा मनियर के उत्तर टोला निवासी डा० विनोद उपाध्याय का 18 वर्षीय पुत्र अग्निवेश उर्फ सिन्टू उपाध्याय अपने चाचा अधिवक्ता दिलीप उपाध्याय व चचेरे भाई अमर उपाध्याय 12 वर्ष के साथ घर से संक्रान्ति नहाने नवका गांव मठिया स्थित घाघरा नदी में नहाने गये थे।जिसमें अधिवक्ता के साथ छोड़ दोनों युवक बगल में एक साथ नहाने लगे।नहाते नहाते दोनों युवक गहरे पानी में डूबने लगे।स्थानीय लोगों के शोर मचाने पर नाविक ने अमर को तो बचा लिया।लेकिन अग्निवेश उपाध्याय उर्फ़ सिन्टु 18 वर्ष पुत्र विनोद उपाध्याय गहरे पानी में चला गया।बच्चे के डूबने के बाद घाट पर अफरा तफरी का माहौल बन गया।सूचना पर परिजनों सहित भारी संख्या में भीड़ एकत्रित्र हो गयी।स्थानीय नाविको की मदद से काफी खोजबीन की गयी।लेकिन नाकामयाबी हाथ लगी।

परिजनों ने दूरभाष पर जिलाधिकारी सहित अन्य उच्चाधिकारियों से अवगत कराकर महाजाल डलवाकर युवक की खोजबीन की गुहार लगाते रहे। लेकिन समाचार लिखे जाने तक स्थानीय पुलिस के अलावा कोई भी सक्षम अधिकारी सूध लेने तक नही पहुंचा।

वहीं परिजनों सहित स्थानीय लोग घाघरा तट पर महाजाल व गोताखोर की आस में टकटकी लगाए बैठे रहे।

युवक की डूबने की खबर पर माता गीता देवी व तीन बड़े भाई अभिषेक , अविनाश , व अमन का रोते रोते बुरा हाल है।अग्निवेश उर्फ सिन्टू चार भाईयों में सबसे छोटा था। इलाहाबाद में रहकर तैयारी कर रहा था।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments