मासिक धर्म प्रबंधन को लेकर जीजीआईसी में लगाया वृहद स्वास्थ्य शिविर

मासिक धर्म प्रबंधन को लेकर जीजीआईसी में लगाया वृहद स्वास्थ्य शिविर

मासिक धर्म प्रबंधन को लेकर जीजीआईसी में लगाया वृहद स्वास्थ्य शिविर

चिकित्सा महाविद्यालय और राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीमों ने किया छात्राओं का परीक्षण
शहरी और ग्रामीण कॉलेजों की छात्राओं को किया गया शामिल
जांच के साथ रिसर्च भी कर रही मेडिकल कॉलेज की टीम

 

राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में छात्राओं का परीक्षण करके मेडिकल कालेज की टीम ने मासिक धर्म प्रबंधन और किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय एवं किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीम द्वारा किशोरियों की जांच की

  इस दौरान किशोरियों को मासिक धर्म प्रबंधन, एनीमिया की पहचान आदि की जानकारी दी गई साथ ही किशोरियों को सेनेटरी नैपकिन भी वितरित किए गए।

मासिक धर्म प्रबंधन कार्यक्रम के तहत राजकीय मेडिकल कॉलेज द्वारा 2 शहरी एवं ग्रामीण इंटर कॉलेजों की छात्राओं को जागरूक करने एवं उनके स्वास्थ्य की जांच हेतु विशेष शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। शनिवार को राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में शिविर का आयोजन किया गया।

शिविर का शुभारंभ मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ अभय कुमार द्वारा किया गया। इस दौरान जिलेभर की मेडिकल टीमों को चिकित्सीय परीक्षण के लिए लगाया गया साथ ही मेडिकल कॉलेज की टीम  भी मौजूद रही।

इस दौरान किशोरियों की जांच उनके वजन लंबाई कमर आदि की नाप ली गई साथ ही कम खून कम वजन वाली किशोरियों को सलाह के बाद आयरन एवं कैल्शियम की गोलियां वितरित की गई।



मेडिकल कॉलेज चला रहा है रिसर्च कार्यक्रम

  • किशोरी स्वास्थ्य को लेकर राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय एक रिसर्च कार्यक्रम चला रहा है इसके तहत किशोरियों को मासिक धर्म स्वच्छता से लेकर सेनेटरी नैपकिन प्रयोग करने आदि के विषय में बताया जा रहा है।  साथ ही एक प्रश्न पेपर भी उनको दिया जा रहा है इसमें लगभग 92 प्रश्न है जिनके उत्तर किशोरियों से लेकर एक रिसर्च मॉडल तैयार किया जा रहा है। इससे पता चलेगा कि जिले की किशोरियों मासिक धर्म स्वच्छता के प्रति कितनी जागरूक हैं।
  • इस संबंध में कार्यक्रम के कोऑर्डिनेटर डॉ जेपी सिंह ने बताया की दो शहरी एवं दो ग्रामीण कालेजों को इसलिए लिया गया है ताकि दोनों का तुलनात्मक अध्ययन किया जा सके और जो कमियां मिले उनको दूर किया जा सके।
  •  20 डॉक्टर सहित 45 पर चिकित्सकों की टीम कर रही परीक्षण

किशोरियों के परीक्षण को लेकर मेडिकल कॉलेज में एक योजना तैयार की गई है इसके तहत राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीमों के 20 डॉक्टर सहित 45 पैरा चिकित्सकों को लगाया गया है यह लोग किशोरियों का वजन  लंबाई कर उनके संपूर्ण स्वास्थ्य की जांच कर रहे हैं।
कार्यक्रम में इन समस्याओं पर  रहा फोकस

  • मासिक धर्म प्रबंधन
  • सेनेटरी नैपकिन का प्रयोग कैसे करें
  • खून की कमी होने पर क्या किया जाए

कम वजन कम लंबाई होने पर या फिर शरीर में कोई अन्य विकार होने पर क्या करें। इस मौके पर डॉ अदिति श्रीवास्तव  किरण डॉक्टर पल्लवी डॉ रचना डॉक्टर मीनू रईस खान साकेत डॉक्टर चंद्रमणि, अनुराग पांडे आशीष सिंह किरण देवी श्रवण कुमार मुकेश पांडे मेडिकल कॉलेज की पी आर ओ पूजा त्रिपाठी पांडे ने सभी का आभार व्यक्त किया आदि मौजूद रहे।

Comments