झारखंड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन का वर्चूअल जूम एप्प बैठक

 
झारखंड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन का वर्चूअल जूम एप्प बैठक

कोडरमा/झारखंड:-

झारखंड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन राँची की कोडरमा इकाई की वर्चुअल बैठक जूम एप्प के मध्यम से जिला अध्यक्ष देवेन्द्र कुमार की अध्यक्षता व पजिला सचिव संजीव कुमार के संचालन में आहूत की गई।बैठक में बतौर मुख्य अतिथि प्रदेश महासचिव रामरंजन कुमार सिंह, विशिष्ट अतिथि धनबाद जिला सचिव इरफान खान,धनबाद जिला  संयोजक सुधांशु शेखर,पाकुड़ जिला अध्यक्ष गैब्रियल मुर्मू सहित दर्जनों पदाधिकारी एवं सदस्य  शामिल हुए।

बैठक का मुख्य विषय-  कोडरमा में निजी विद्यालय की समस्याओं पर चर्चा,  निजी विद्यालय के बंद रहने से शिक्षक-शिक्षिका एवं शिक्षिकेत्तर कर्मचारियों की स्थिति बद से बद्तर, बिजली बिल, बैंक का इ.एम.आई. एवं विद्यालय भवन के मकान किराये को लेकर आहूत की गई।  विचार-विमर्श के उपरांत निर्णय लिया गया कि झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, वित्त मंत्री एवं आपदा प्रबंधन, झारखंड को ज्ञापन उपायुक्त,कोडरमा के माध्यम से सौंपा जाय। निजी विद्यालय के प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों का चयन किया गया। 

इसी कड़ी में संजीवनी अकादमी,चंदवारा का मामला पर एसोसिएशन के बैठक में उपस्थित  पदाधिकारी एवं सदस्यों ने कोडरमा प्रशासन के रवैये पर चिन्ता जाहिर की । मकान मालिक के द्वारा संजीवनी एकादमी का  ताला तोड़कर आवश्यक दस्तावेज समेत कीमती सामानों की चोरी कर  शेष सामानों पर अभी तक मकान मालिक ने कब्जा  कर लिया है । विद्यालय भवन के मकान मालिक ने  किराये के कमरों को दूसरे किराएदार को दे दिया।

इस हेतु विद्यालय संचालक के द्वारा थाना प्रभारी एवं  जिला प्रशासन को लिखित सूचना दी गई लेकिन जिला प्रशासन या थाना प्रभारी द्वारा  कोई ठोस कार्यवाही अभी तक नहीं करने पर आपत्ति जताया । जिला अध्य्क्ष ने  कहा कि  शाशन व प्रशासन द्वारा आवेदन देने के तीन माह के उपरांत भी कोई कानूनी कार्यवाही नहीं करना शाशन व प्रशासन की उदासीनता को दर्शाता है।

उपर्युक्त समस्त विषयों की गंभीरता को सुन प्रदेश महासचिव ने कहा कि आश्चर्य है कि झारखंड सरकार के द्वारा विगत बाइस माह से विद्यालय बंद हैं। लाकडाउन की स्थिति आज तक बनी हुई है, इस परिस्थिति में मकान मालिक के द्वारा इस तरह की हरकत करना अपराध की श्रेणी में आता है । इसके बावजूद  जिला प्रशासन या थाना प्रभारी यदि कोई संज्ञान नहीं लेतै हैं  तो यह गंभीर विषय है । जिला प्रशासन या थाना प्रभारी जल्द हीं मकान मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर न्याय संगत कार्यवाही करे।

साथ ही विद्यालय संचालक को उनका सारा दस्तावेज एवं गायब हुए कीमती सामान  बरामद करके नहीं दिलवाते हैं  तो झारखंड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन राँची पूरे राज्य में विरोध दर्ज करायेगी ।साथ ही प्रदेश के सभी जिले से संचालक कोडरमा पहुंच कर धरना देगा और  जिला प्रशासन से गंभीर विषय पर बात करेगा। न्याय नहीं मिलने की स्थिति में  एसोसिएशन बैठक कर यथोचित निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र होगा ।

वहीं इस बाबत प्रदेश महासचिव ने कहा कि सर्वप्रथम एसोसिएशन की ओर से  कोडरमा उपायुक्त ,अनुमंडल पदाधिकारी ,एस पी,,डीजीपी, डीआईजी,आई.जी,  मुख्यमंत्री झारखंड सरकार, शिक्षामंत्री झारखंड सरकार,आपदा प्रबंधन मंत्री झारखंड सरकार को पत्र लिखकर न्याय के लिए आवेदन प्रेषित किया जायेगा। उसके बाबजुद भी विद्यालय प्रबंधक को न्याय नहीं मिला तो अभिभावक, विद्यालय शिक्षक, छात्र के साथ आंदोलन करेंगे। 

प्रदेश के सभी जिलों से झारखंड प्राइवेट स्कूल के सदस्य विद्यालय संचालक के साथ हैं। धनबाद जिला सचिव ने कहा कि अभी तक कोई ठोस पहल शासन व प्रसाशन द्वारा नही करने को दुर्भाग्यपूर्ण बतलाया। जबकि आवेदन कोडरमा उपायुक्त, अनुमंडल पदाधिकारी कोडरमा, आरक्षी अधीक्षक कोडरमा के संज्ञान में दिए हुए तीन माह बीत  गए। बैठक का धन्यवाद ज्ञापन  जेपीएसए जिला कोषाध्यक्ष नीतीश कुमार ने किया।

बैठक में जिला सह कोषाध्यक्ष अमरेश सिंह, चंदवारा प्रखंड सचिव मुकेश कुमार,जिला उपाध्यक्ष संगीता सिन्हा, अशोक चौरसिया,राजेश यादव, कोडरमा अध्यक्ष आनंद भारती,अर्जुन कुमार,प्रियांशु कुमार,पंकज सिंह,श्यामसुंदर यादव,बलवंत राणा समेत कई विद्यालय के प्रबंधक शामिल हुए।
 

   

FROM AROUND THE WEB