वर्षों से लंबित किसानों के 55 मामलों का हुआ निस्तारण

 तहसील क्षेत्र के खानपुर गांव में फिर से भीटे के नाम जमीन दर्ज करने का आदेश।
 
तहसील क्षेत्र के खानपुर गांव में फिर से भीटे के नाम जमीन दर्ज करने का आदेश।

लंभुआ/सुल्तानपुर -

वर्षों से किसानों से संबंधित जुड़ी समस्याओं की सुनवाई करते हुए एसडीएम ने 55 मामलों का निस्तारण किया। समस्याओं का निस्तारण होने पर किसानों के चेहरे खिल उठे। वही एक गांव में  तीन खातेदारों के नाम दर्ज भीटे की जमीन वापस भीटे के नाम दर्ज करने का आदेश भी जारी किया।

लंभुआ तहसील परिसर में बुधवार को एसडीएम महेंद्र श्रीवास्तव ने शिविर के माध्यम से खतौनी में त्रुटियों से संबंधित उत्तर प्रदेश राजस्व संहिता की धारा 38 के सभी लंबित मामले सुने और 55 मामलों का निस्तारण किया। एसडीएम ने सुनवाई के लिए पहले से ही किसानों को नोटिस जारी की थी। एसडीएम ने बताया कि खतौनी में नाम, रकबा आदि विभिन्न त्रुटियों को दूर करने के लिए किसानों के कई वर्षों से मामले लंबित थे।

 किसानों की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए सुनवाई की गई और सुनवाई के बाद खतौनी में उन त्रुटियों को दूर करने का आदेश पारित किया गया। तहसील क्षेत्र के अंधियारी के किसान मोतीलाल तथा पीपी कमैचा के शीतला प्रसाद व तमरसेपुर की किसान रामप्यारी ने बताया कि हम कई वर्षों से खतौनी में हुई त्रुटियों को दूर कराने के लिए तहसील का चक्कर काट रहे थे। हम लोगों को सिर्फ तारीख मिल रही थी। एसडीएम साहब के प्रयास से हमारी समस्याओं का निस्तारण हो गया, जिससे हम लोग खुश हैं।

वही तहसील क्षेत्र के खानपुर गांव में भीटे की जमीन तीन खातेदारों के नाम दर्ज हो गई थी। उसकी भी सुनवाई करते हुए एसडीएम ने उस जमीन को भी भीटे नाम दर्ज करने का आदेश जारी किया। एसडीएम ने बताया कि सभी आदेश शीघ्र भूलेख पर दर्ज कर लिए जाएंगे।

   

FROM AROUND THE WEB