अनशन के दूसरे दिन समाजसेवी के समर्थन में महिलाएं भी उतरीं

- गोवंशो के बदहाली के विरोध में अनशन कर रहे समाजसेवी
 
अनशन के दूसरे दिन समाजसेवी के समर्थन में महिलाएं भी उतरीं
 

बबेरु/बाँदा।

बबेरु मुख्य चौराहा पर समाजसेवी पीसी पटेल जनसेवक के विरुद्ध फर्जी मुकदमा  निलंबित ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा लिखाये जाने के विरुद्ध दूसरे दिन क्रमिक अनशन जारी रहा। अनशन के दूसरे क्षेत्र की भारी संख्या में महिलाएं भी समर्थन में धरना पर बैठी रही। वही मुकदमा वापस कराने एवं निलंबित ग्राम पंचायत अधिकारी के ऊपर गौहत्या का मुकदमा दर्ज कराने की मांग को लेकर नारेबाजी करती रही। वही बुंदेलखंड राष्ट्र समिति के पदाधिकारी धरना में बैठे रहे।

बबेरु मुख्य चौराहा पर समाजसेवी पीसी पटेल की अगुवाई में आकाश दुबे, कौशल पटेल, अमर सिंह, दीपक सिंह क्रमिक अनशन पर दूसरे दिन बैठे रहे। वही क्षेत्र की महिला किसानों को जानकारी हुई तो भारी संख्या में अनशन स्थल आकर पीसी पटेल के समर्थन पर धरना में बैठ गयी। वही घंटो नारेबाजी करते हुए पीसी पटेल पर दर्ज किया गया फर्जी मुकदमा वापस करने एवं गौहत्यारा निलंबित ग्राम पंचायत अधिकारी पर मुकदमा दर्ज कराने की मांग करती रही। वही बुंदेलखंड राष्ट्र समिति के प्रमुख डाल चंद्र मिश्रा के साथ दर्जनों पदाधिकारी धरना में बैठे रहे। आपको बता दे कि बिसंडा ब्लाक के अंतर्गत ग्राम पंचायत कैरी व साथी की गौशाला में रोजाना गौवंश भूख एवं ठंड से मर रहा था। 

जिसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से की गई, जिलाधिकारी खुद जांच पड़ताल किया। दोषी सचिव को निलंबित कर दिया गया। जिससे खुन्नस मानकर सचिव ने शिकायत कर्ता पीसी पटेल पर मनगढ़ंत फर्जी मुकदमा दर्ज करा दिया। जिससे गौभक्तो सहित क्षेत्रवासियों में भारी आक्रोश व्याप्त हो गया है। अनशन के दूसरे दिन क्षेत्र की महिला किसान रामजानकी, कमला देवी, कमलेशिया, रामदुलारी, राजरानी, राजाबेटी, माया देवी सहित बुंदेलखंड राष्ट्र समिति के प्रमुख डालचंद्र मिश्रा, प्रदीप, तेज यादव, रोहित यादव, विकास द्विवेदी,आशीष पटेल, उमेश पटेल,नंदू सिंह आदि समर्थन पर धरना में बैठे रहे। अनशन करियो ने चेतावनी दी है कि मुकदमा वापस नही हुआ तो आमरण अनशन करने से पीछे नही हटेंगे।

FROM AROUND THE WEB