बाराबंकी जनपद में चरमराई शिक्षा व्यवस्था पढ़ाई के स्थान पर की जा रही चूड़ियों की शॉपिंग कवरेज करने गए पत्रकारों पर आग बबूला हुई अध्यापिकाएं

 
बाराबंकी जनपद में चरमराई शिक्षा व्यवस्था पढ़ाई के स्थान पर की जा रही चूड़ियों की शॉपिंग कवरेज करने गए पत्रकारों पर आग बबूला हुई अध्यापिकाएं

बाराबंकी

 शौच के लिए बच्चे ले रहे खुले मैदान का सहारा स्वच्छ भारत अभियान की उड़ाई जा रही धज्जियां

 बाराबंकी जनपद के शिक्षा क्षेत्र त्रिवेदीगंज के प्राथमिक विद्यालय पूरे भीती में मनमाने तरीके से हो रहा प्रधानाध्यापिकाओ का कार्य पढ़ाने के टाइम पर की जाती चूड़ियों की खरीदारी और बच्चे फील्ड पर घूमते रहते हैं स्कूल  पहुंचने पर प्रधानाध्यापिका ने बताया कि हमारे यहां कोई चीज की कमी नहीं है और हमको कहीं निकलवाना नहीं है और हम किसी को इस तरह स्कूल में अपने नहीं आने देते हमारा भाई भी पत्रकार है हमको कानून बताइए हम लोग  लेडीस हैं 

हमारे यहां जेंट्स कोई नहीं है इसलिए हमारे यहां प्रधान ने मना किया है कि किसी को स्कूल के अंदर मत आने देना जबकि वहीं पर खाना बनाने वाला स्वयं वहां पर मौजूद था और जब हमारे जिला संवाददाता के द्वारा  गेट से ही विद्यालय के अंदर की अव्यवस्थाओं का अवलोकन किया गया तो ना तो लाइट की व्यवस्था और ना शौचालय की व्यवस्था वहां पर कई कमियां नजर आई अपना बचाव के लिए सारी शिक्षिकाएं बच्चों को पढ़ाने के बजाय सारे बच्चों के साथ गेट पर पत्रकार से लड़ने को तैयार हो गई 

वहीं पर जब एक बच्चे से पूछा गया बाहर तो उसने बताया कि शौचालय तो बना है लेकिन सब लोग बाहर जाते हैं और वही जब खाने पीने की बात की गई तो बच्चा डरते हुए बता रहा था की खाना तो मिलता है लेकिन फ्रूट वगैरा महीने में एक बार ही मिलता है वही इस संबंध में जब खंड शिक्षा अधिकारी से संपर्क किया गया तो उनका फोन नहीं लगा

   

FROM AROUND THE WEB