खबर का असर आरोपी लेखपाल को ढाई लाख रुपये की रिश्वत मांगने पर किया निलंबित, जांच जारी

 
खबर का असर आरोपी लेखपाल को ढाई लाख रुपये की रिश्वत मांगने पर किया निलंबित, जांच जारी 

मामला सलेमपुर विकास खंड के जमुआ नंबर 2 का 

देवरिया। 

गत 28 अप्रैल के स्वतंत्र प्रभात अखबार में जमीन कब्जा के नाम पर लेखपाल ने मांगी ढाई लाख की रिश्वत के शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित खबर पर आरोपी लेखपाल संतोष कुमार को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए उप जिलाधिकारी सलेमपुर/जॉइंट मजिस्ट्रेट गुंजन द्विवेदी ने निलंबित कर दिया है वहीँ अभी लेखपाल के विरुद्ध जांच जारी है। 

बता दें कि विकास खंड सलेमपुर के जमुआ नंबर 2 ( सोन बरसा) में तैनात लेखपाल संतोष कुमार और उसी गांव के पीड़ित हरिशंकर की ऑडियो क्लिप वायरल हुई थी। जिसमें लेखपाल ने उसी गांव के हरिशंकर से जमीन कब्जा कराने के नाम पर ढाई लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी और कहा था कि इन रुपयों को तहसीलदार व उप  जिलाधिकारी को भी पहुंचाना होता है।

साथ ही इस रिश्वत की रकम में से प्रधान और अपने मुन्शी को भी हिस्सा देना होता है। इस मामले को स्वतंत्र प्रभात अखबार ने 28 अप्रैल को य़ह खबर प्रमुखता से प्रकाशित की थी। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए मुख्य राजस्व अधिकारी अमृत लाल बिंद से जांच रिपोर्ट मांगी थी इस क्रम में मिली जांच रिपोर्ट के अनुसार लेखपाल संतोष कुमार को प्रथम दृष्टया दोषी माना है और उसे निलंबित कर दिया गया है।

 जांच रिपोर्ट में लेखपाल ने अपने पूर्व तैनाती गांव पर भी इसी प्रकार से रिश्वत मांगी थी जिसको भी जांच में आधार बनाया गया है। इस सम्बंध में जांच अधिकारी मुख्य राजस्व अधिकारी अमृत लाल बिन्द ने कहा कि जांच जारी है। साक्ष्यों के आधार पर प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए लेखपाल संतोष कुमार को निलंबित कर दिया गया है। 

FROM AROUND THE WEB