ईरान में महिलाओं ने सरेआम जलाये हिज़ाब, बालों को काटा वीडियो हुआ वायरल

 
ईरान में महिलाओं ने सरेआम जलाये हिज़ाब, बालों को काटा वीडियो हुआ वायरल 

स्वतंत्र प्रभात 

ईरान में महिलाओं ने अचानक काटे बाल, हिज़ाब को सरे आम जलाया. महिलाओं के इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर इतनी तेजी वायरल होने लगा कि ईरानी सरकार के होश ही उड़ गए. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ईरान की महिलाओं को हिजाब को लेकर पुलिस ने हिरासत में लिया था। जिसमे से एक लड़की की मृत्यु हो गई जिसके बाद महिलाओं ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। 
लड़की की मौत के बाद वहां की महिलाओं का गुस्सा सड़कों और गलियों से होते हुए सोशल मीडिया तक पहुंच गया. ईरान की महिलाओं ने अपने विरोधस्वरूप न केवल हिजाब को उतार फेंका, बल्कि खुद ही अपने बाल भी काट डाले.
 

महसा अमीनी को हिजाब न पहनने पर पुलिस ने किया था अरेस्ट 
तेहरान की महसा अमीनी को मंगलवार को धार्मिक मामलों की पुलिस ने गिरफ्तार किया था. उन पर आरोप था कि उन्होंने सिर को ढंकने के एक सख्त ड्रेस कोड का पालन नहीं किया था. तेहरान में महसा अमीनी की गिरफ्तारी के बाद वैन में उनकी पिटाई की गई थी. हालांकि, पुलिस ने इन आरोपों का खंडन किया है. अमीनी के अंतिम संस्कार के समय कथित तौर पर कुछ महिलाओं ने विरोधस्वरूप अपने हिजाब उतार दिए, जबकि ईरान में हिजाब पहनना जरूरी है. सोशल मीडिया पर ऐसे वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिनमें प्रदर्शनकारी 'तानाशाह मुर्दाबाद' के नारे लगा रहे हैं और बाद में पुलिस भीड़ पर गोलियां चला रही है. अमीनी के शव को पश्चिमी कुर्दिस्तान के साकेज में उनके गृहनगर में दफनाया गया है.
 

महिलाओं ने खुलेआम जलाए हिजाब
मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, ईरान में हिजाब को लेकर पुलिस की हिरासत में एक लड़की की मौत के बाद बवाल लगातार बढ़ता ही जा रहा है. इस घटना के बाद ईरान की महिलाएं और लड़कियां सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रही हैं. कई जगहों पर महिलाओं ने हिजाब जलाकर अपना विरोध-प्रदर्शन किया. रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि ईरान में पुलिस की हिरासत में 22 साल की एक लड़की महसा अमीनी की पिछले शुक्रवार को मौत हो गई थी. इसके बाद से ही वहां की महिलाओं में आक्रोश व्याप्त है.
 

उग्र रूप धारण कर महिलाओं ने प्रदर्शन किया 
मीडिया की रिपोर्ट्स की माने तो, बताया जा रहा है कि पुलिस की हिरासत में मसा अमीनी की मौत के बाद विरोध जताने के लिए कुछ प्रदर्शनकारियों ने स्थानीय गवर्नर के दफ्तर तक रैलियां भी निकालीं. बीबीसी के अनुसार, सुरक्षाबल प्रदर्शनकारियों के ऊपर गोली चला रहे हैं. लोगों के घायल होने और गिरफ्तार किए जाने की भी खबर है. ट्विटर पर जारी किए गए वीडियो में सुरक्षाबलों को गवर्नर के दफ्तर की सुरक्षा करते और इमारत के नजदीक जाने वाले प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार करते देखा जा सकता है. उधर, महसा अमीनी के परिजनों का आरोप है कि गिरफ्तारी के समय वह पूरी तरह से स्वस्थ थीं. उनका दावा है कि पुलिस हिरासत में ही कुछ ऐसा हुआ है, जिससे उनकी मौत हो गई.

   

FROM AROUND THE WEB