उत्तर मध्य रेलवे का 92 ब्रॉड गेज नेटवर्क अब विद्युतीकृत कुल 2933 रूट किमी मार्ग विद्युतीकृत ।

वर्तमान में, उत्तर मध्य रेलवे  में 2933 रूट किलोमीटर और 6313 ट्रैक किलोमीटर विद्युतीकृत हो चुके हैं।
 
उत्तर मध्य रेलवे  का 92 ब्रॉड गेज नेटवर्क अब विद्युतीकृत  कुल 2933 रूट किमी मार्ग विद्युतीकृत ।

स्वतंत्र प्रभात 

प्रयागराज ब्यूरो 

दया शंकर त्रिपाठी की रिपोर्ट।

मिशन 100% विद्युतीकरण की दिशा में तीव्र गति से आगे बढ़ते हुए, उत्तर मध्य रेलवे  ने अप्रैल-दिसंबर 2021 के मध्य कुल 216 रूट किलोमीटर और 314 ट्रैक किलोमीटर विद्युतीकरण पूरा किया। चालू वित्त वर्ष की पहली तीन तिमाहियों के दौरान जिन प्रमुख मार्गों का विद्युतीकरण किया गया है वेहैं:बिरलानगर-उदी मोड़ (101 किमी)महोबा-खजुराहो (64 किमी)शिकोहाबाद-मैनपुरी (51 किमी) इसके अलावा, भीमसेन-झांसी दोहरीकरण परियोजना के सेक्शन चौराह-मलासा (19 किमी), नंदखास-परौना (32 किमी) और बबीना-झांसी (24 किमी) के बीच तीसरी लाइन पर विद्युतीकरण के साथ परिचालन प्रारंभ हुआ। वर्तमान में, उत्तर मध्य रेलवे  में 2933 रूट किलोमीटर और 6313 ट्रैक किलोमीटर विद्युतीकृत हो चुके हैं।

कैलेंडर वर्ष 2021 के दौरान उत्तर मध्य रेलवे  में पूर्ण किए गए विद्युतीकरण कार्य इस प्रकार हैं:भरतपुर- बांदीकुई (97.5 किमी) भंडई- इटावा (114 किमी. महोबा-खजुराहो (64 किमी). बिरलानगर-उदीमोर (101 किमी). शिकोहाबाद-मणिपुरी (51 किमी) उपरोक्त प्रमुख मार्गों के अलावा चुनार, चुर्क, मेजा एनटीपीसी, शंकरगढ़ जैसे साइडिंग का विद्युतीकरण कार्य भी पूरा कर लिया गया है।
वृहद स्तर पर विद्युतीकरण के परिणामस्वरूप, इलेक्ट्रिक इंजन से डीजल इंजन में कर्षण परिवर्तन की आवश्यकता अब इन स्थानों पर समाप्त हो गई है जिससे परिचालन को निर्बाध बनाया जा सका है और गतिशीलता और समयपालन में सुधार हुआ है। उत्तर मध्य रेलवे  में 3222 रूट किलोमीटर के कुल ब्रॉड गेज नेटवर्क के में  2933रूट किमी के विद्युतीकृत होने से अब उत्तर मध्य रेलवे  के कुल ब्रॉड गेज नेटवर्क का 91% विद्युतीकृत हो गया है।
 

FROM AROUND THE WEB