श्रमिक हितों की अनदेखी करने वाले के खिलाफ प्रधानों ने मोर्चा खोला

जिसमें सभी प्रधानों ने लिखित तौर पर टीए वजीम को हटाए जाने की मांग की ।
 
 श्रमिक हितों की अनदेखी करने वाले के खिलाफ प्रधानों ने मोर्चा खोला 

लखनऊ/मलिहाबाद 

राजधानी लखनऊ के मलिहाबाद तहसील क्षेत्र के अंतर्गत माल विकास खण्ड में महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के तहत होने वाले कार्यों में लापरवाही और भ्रस्टाचार की सामूहिक शिकायत की गयी थी और बीडियो को ग्राम प्रधानों द्वारा दिये गये शिकायती पत्र में तकनीकी सहायक पर गंभीर आरोप लगाये गये हैं विकास खंड माल के न्याय पंचायत अमलौली और मड़वाना में मनरेगा के तकनीकी कार्य टीए वजीम को आवंटित है एक वर्ष पूरा होने वाला है इन दोनों न्याय पंचायतों का काम सबसे पीछे है ब्लाक स्तरीय समीक्षा में यह बात की बार उठायी गयी थी कि तकनीकी सहायक वजीम के कार्यों से आजिज ग्राम प्रधानों ने मनरेगा के कोई काम न कराने का निर्णय लिया और राष्ट्रीय पंचायतीराज ग्राम प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष शैलेन्द्र कुमार सिंह ने पूरी समस्या उपायुक्त श्रम रोजगार महेंद्र नाथ पांडेय को बतायी गयी थी उन्होंने बीडियो माल प्रतिभा जायसवाल से मामले की जांच के आदेश दिए, बीडियो ने दोनों न्याय पंचायतों के ग्राम प्रधानों को बुलाकर बात की जिसमें सभी प्रधानों ने लिखित तौर पर टीए वजीम को हटाए जाने की मांग की ।

 बीडियो को दिए गए सामूहिक शिकायती पत्र में वजीम पर स्टीमेट न बनाने कार्य पूर्ण होने के बाद भी मापन नही करना पैसा न मिलने पर एमबी में अकारण कटौती करना शामिल है ग्राम प्रधान संगठन के ब्लाक उपाध्यक्ष अनवार अहमद ने बताया तकनीकी सहायक की मनमानी के कारण पंचायतों में मनरेगा के सफल संपादन नहीं हो पा रहा है । मड़वाना प्रधान रणविजय सिंह ,रामनगर प्रधान आकांक्षा सहित कई प्रधानों ने बीडियो से टीए को हटाये बिना दोनों न्याय पंचायतों में मनरेगा के कार्य बंद रहेंगे । बीडियो प्रतिभा जायसवाल ने बताया ग्राम प्रधानों ने टीए के खिलाफ जिले स्तर पर शिकायत की थी । उसी शिकायत की पुष्टि ब्लाक मुख्यालय पर भी हो गयी है और अब आगे की कार्यवाही कि जायेगी।

FROM AROUND THE WEB