मां के भक्तों ने हर्षोल्लास पूर्वक किया महानवमी का हवन पूजन

हवन पूजन और कन्या पूजन का विशेष महत्व है साथ ही लोग अपने व्रत का पारण भी करते हैं। 
 
हवन पूजन और कन्या पूजन का विशेष महत्व है। साथ ही लोग अपने व्रत का पारण भी करते हैं। 

 स्वतंत्र प्रभात 
 

कुशीनगर

नौ दिनों तक पूरी श्रृद्धा और आस्था से भक्तगण मां की पूजा अर्चना करते हैं। इस साल कोरोना वायरस महामारी फैलने के बावजूद भक्तों के जोश में कोई कमी नहीं दिखी। नवमी के दिन हवन पूजन और कन्या पूजन का विशेष महत्व है। साथ ही लोग अपने व्रत का पारण भी करते हैं। 


हवन पूजन के लिए हवन कुंड पर विराजमान विद्वान पंडित द्वारा हवन पूजन मंत्र बोला गया ओम गुरुर्ब्रह्मा, गुरुर्विष्णु, गुरुर्देवा महेश्वर: गुरु साक्षात् परब्रह्मा तस्मै श्री गुरुवे नम: स्वाहा। ओम शरणागत दीनार्त परित्राण परायणे, सर्व स्थार्ति हरे देवि नारायणी नमस्तुते।

 ओम पूर्णमद: पूर्णमिदम् पुर्णात पूण्य मुदच्यते, पुणस्य पूर्णमादाय पूर्णमेल विसिस्यते स्वाहा, मंत्रोच्चारण पर यजमानों द्वारा हवन कुंड में पूजन सामग्री अंजुल से डाल कर स्वाहा-स्वाहा के साथ हवन पूजन सम्पन्न हुआ।इसके बाद भक्तों ने अपने अंतर्मन से माता गौरी से कल्याण करने का आशीर्वचन लिया।

इसी क्रम में श्री श्री बाल दुर्गा पूजा सेवा समिति निकट सियोबाई इंटर कॉलेज साहबगंज दक्षिणी पडरौना में सजे माता जी के पांडाल में हवन पूजन नगर पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि मनीष बुलबुल जायसवाल साथ में पंडित राम बिहारी तिवारी यजमान आयुष जायसवाल संजय जायसवाल धर्मेंद्र जायसवाल हर्षित शर्मा विनायक शर्मा लल्लू शर्मा गोपीचंद वर्मा  रवि शर्मा सहित सभी भक्तजन उपस्थित रहे।


वही जटहां बाजार में दुर्गा पूजा सेवा समिति के भक्तजनों ने हवन पूजन कराया और माँ अम्बे से महानवमी पर हवन पूजन कर आशीर्वाद प्राप्त किया।
 

FROM AROUND THE WEB