बैंक सखी को नहीं मिल रहा बेतन राज मंत्री से शिकायत

बैंक सखी के वेतन में लगा ग्रहण जो बैंक सखी द्वारा किए गए कार्य के भुगतान को धीरे-धीरे करके दीमक की तरह चाट रहा है और बैंक सखी को भुखमरी की तरफ आकर्षित कर रहा है 
 
 बैंक सखी को नहीं मिल रहा बेतन राज मंत्री से शिकायत

स्वतंत्र प्रभात 

बाराबंकी पिछले वर्ष हुई बैंक सखियों की नियुक्ति को लेकर उनका वेतन अधर मे लटक गया न्यूक्ती के बाद से सभी बैक सखी अपने कर्तव्यों को इमानदारी से निर्वाहन कर रही हैं लेकिन विभागीय जिम्मेदार अधिकारियों की छीटा कसी के कारण बैंक सखी का वेतन अधर मे लटक गया जिन्हें 1 वर्ष बाद भी पुरा वेतन नहीं मिल सका पूरा मामला बाराबंकी जनपद के त्रिवेदीगंज विकासखंड के अंतर्गत आनेवाले आर्यावर्त ग्रामीण बैंक शाखा पोखरा का बताया जा रहा है जहां की बैंक सखी रश्मि सिंह पत्नी वीरेंद्र सिंह निवासी ग्राम महिमा मजरे बहुता लाही विकासखंड त्रिवेणीगंज जनपद बाराबंकी ने राज्य मंत्री को प्रार्थना पत्र देकर अवगत कराया कि उनकी नियुक्ति वर्ष 2020 में हुई थी और नियुक्ती के बाद से अभी तक उन्हें पूर्ण वेतन नहीं दिया गया तथा ब्लॉक क्वार्डीनेटर  द्वारा वेतन की कटौती करते हुए उन्हें वेतन देने की बात कही जा रही है और जॉइनिंग से अब तक केवल ₹12250 ही दिए गए जब कि उनको वेतन देने के लिए ₹32250 एक वर्ष के लिए मांग पत्र भेज उपलब्ध करा लिया गया है

जो संकुल संघ के खाते पर उपलब्ध है यही नहीं वेतन को लेकर  खंड विकास अधिकारी त्रिवेदीगंज तथा मुख्य विकास अधिकारी बाराबंकी को भी कई बार शिकायत पत्र दिया गया लेकिन उसके बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है वही बैंक सखी रश्मि सिंह का आरोप है कि उनकी बैंक के द्वारा लिखित में अवगत करा दिया गया है कि कितना बेतन मिलने के लिए प्राप्त हुआ है परंतु उच्च अधिकारियों द्वारा यह अभी तक बैक सखी को नहीं दिया जा हका वही इस संबंध में जब जिले के डीसी बी के मोहन से वार्ता हुई तो उन्होंने बताया कि बैंक सखियों का जॉइनिंग से पूरा वेतन दिया जा रहा है परंतु बैंक सखी रश्मि सिहं जब रिजल्ट आया था उसी दिन से वेतन की मांग कर रही हैं जिसमें 2 महीने का अंतर आ रहा है वहीँ इस संबंध में जब मुख्य विकास अधिकारी बाराबंकी से वार्ता हुई तो उन्होंने बताया अभी हम मीटिंग मे हैं इस मामले से संबंधित समुचित जानकारी आप को कल मिल पाएगी बॉक्स में* समूह सखी से लगातार 1 वर्ष तक काम लिया गया है और अब उसे बेतन के लिए 1 वर्ष में सिर्फ  12250 ही दिए गए हैं अभी तक समूह सखी का वेतन अधर मे लटका हुआ है समूह सची बैंक जाकर कैसे करेगी जनता की सेवा


 
   

FROM AROUND THE WEB