पीड़िता को न्याय ना देकर उप निरीक्षक लॉकआप में डाल भद्दी भद्दी गालियां देकर थाने से भगाया

उपनिरीक्षक महिला सुरक्षा की धज्जियां उड़ाते हुए पीड़िता को ही पीड़ा पहुंचाने में मस्त हैं। वही पीड़िता अपने परिजनों को लेकर लेकर न्याय के लिए अधिकारियों की गणेश परिक्रमा करने पर मजबूर है 
 
 पीड़िता को न्याय ना देकर उप निरीक्षक लॉकआप में डाल भद्दी भद्दी गालियां देकर थाने से भगाया

स्वतंत्र प्रभात

आलापुर अम्बेडकर नगर जनपद तहसील आलापुर के निकट थाना क्षेत्र राजेसुलतानपुर अंतर्गत ग्राम सरैया बलरामपुर निवासिनी पीड़िता को न्याय ना देकर थाने में तैनात उप निरीक्षक जितेंद्र सिंह रघुवंशी ने पीड़िता को ही लॉकआप में डाल दिये और भद्दी भद्दी गालियां देकर थाने से भगा दिया।महिला सुरक्षा के नाम पर उत्तर प्रदेश सरकार भले ही लाख दावे करती हो लेकिन थाना राजेसुलतानपुर में उप निरीक्षक जितेंद्र सिंह रघुवंशी द्वारा पीड़िता को न्याय ना देकर महिला सुरक्षा की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।आपको बता दें कि थाना क्षेत्र के सरैया बलरामपुर निवासी पीड़ित महिला रिया सोनी जो विधवा है और अपने तीन बच्चों को लेकर मायके में

मां बाप के साथ रहती हैं । पीड़िता का आरोप है कि उसका भाई संजय सोनी जोकि शराबी है और शराब पीकर के घर में मारपीट करता रहता है। यहां तक की पीड़िता के तीन अबोध बच्चों मां बाप एक छोटी बहन व भाई को बीती 26 तारीख को घर से बाहर निकाल दिया और दरवाजे पर ताला लगा दिया।इस दौरान संजय के साथ सात आठ अन्य लोग और सम्मिलित रहे जिनके द्वारा पूरे परिवार को मारपीट करके रात को घर से बाहर निकाल दिया गया।पीड़िता ने बताया कि इस बात की शिकायत उसने डायल 112 पर किया तो कार्यवाही न होने पर रात में ही पीड़िता अपने मां-बाप,भाई बहन एवं अबोध बच्चों को लेकर थाने पर पहुंच गई जहां बैठे उपनिरीक्षक जितेंद्र सिंह रघुवंशी द्वारा महिलाओं के साथ अभद्रता की गई और भद्दी भद्दी गालियां दी गई।इतना ही नहीं पीड़िता के मोबाइल में जो साक्ष्य पीड़िता ने रखा था उसे डिलीट करवा लिया

और महिला अपने बच्चों के भरण-पोषण के लिए आजमगढ़ में नौकरी करती थी वहां फोन करके उसके चाल चरित्र पर आरोपित करते हुए उसको नौकरी से भी निकलवा दिया।पीड़ित महिला इस बात की शिकायत क्षेत्राधिकारी आलापुर से की है और कहा है कि यदि मेरे भाई एवं उसके साथियों के ऊपर कार्यवाही नहीं की गई तो यह लोग मेरे साथ मेरे बच्चों के साथ भाई बहन और मां बाप के साथ कोई भी अप्रिय घटना कर सकते हैं । क्षेत्राधिकारी आलापुर ने महिला को आश्वासित किया की कार्यवाही की जाएगी। परन्तु हर थाने में महिला डेस्क होते हुए भी महिला की बात जब जितेंद्र सिंह रघुवंशी जैसे दरोगा सुनेंगे और गाली गलौज देते हुए न्याय न 

देकर खुद पीड़िता को ही लॉकअप में बंद रखेंगे तो ऐसे में महिलाओं की सुरक्षा के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लाख दावे किए जाएं उपनिरीक्षक जितेन्द्र सिंह जैसे पुलिस कर्मी शासन की मंशा पर पानी फेर रहे हैं।थाना राजेसुलतानपुर में

   

FROM AROUND THE WEB