अन्य संभावित प्रत्याशियों पर भारी पड़ रही हाजी उसामा अंसारी की दावेदारी

किसी परिचय के मोहताज नही है बताते चले जिस परिवार से उसामा अंसारी आते है 
 
अन्य संभावित प्रत्याशियों पर भारी पड़ रही हाजी उसामा अंसारी की दावेदारी

स्वतंत्र प्रभात 

बाराबंकी- 

विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही संभावित प्रत्याशियों में टिकट को लेकर उहापोह की स्थिति बनी हुयी है! बाराबंकी की विधानसभा कुर्सी क्षेत्र किसी जान पहचान की मोहताज नही है! कुर्सी विधानसभा से समाजवादी से  फरीद महफूज किदवई चुनाव लड़ते आ रहे है लेकिन  इसबार टिकट की राह आसान नही है क्योंकि पार्टी के युवा नेता हाजी उसामा अंसारी से उन्हे कड़ी टक्कर मिल रही है सपा  अल्पसंख्यक सभा के जिला महासचिव हाजी उसामा अंसारी किसी परिचय के मोहताज नही है बताते चले जिस परिवार से उसामा अंसारी आते है 

उनके पिता स्वर्गीय हाजी कुतुबुद्दीन अंसारी जो पार्टी के वरिष्ठ नेता भी रहे है जिनका बुनकर समाज में काफी प्रभाव रहा है ! इसी के चलते हाजी उसामा अंसारी कुर्सी विधानसभा से दावेदारी करने के बाद बुनकरों नेताओं के रूप में उभरकर आये यही नही जिले में हैंडलूम का कारोबार पूरे देश में ही नही विदेशो में भी यहॉ का कपड़ा निर्यात होता है ! विधानसभा कुर्सी में भी मुस्लिम बुनकरों की संख्या सबसे ज्यादा है इसी के तहत हाजी उसामा अंसारी की दावेदारी मजबूत है और जिले के सभी विधानसभाओं मे बुनकर समाज की अच्छी खासी संख्या है ! समाजवादी पार्टी की नीतियों एवं कार्यशैली को जनता तक पहुँचाने का कार्य लगातार कर रहे है ! विधानसभा कुर्सी में लोगो के बीच यह चर्चा का विषय जरूर है कि एक पढ़े लिखे प्रत्याशी के रूप में अगर हाजी उसांमा अंसारी को समाजवादी पार्टी ने प्रत्याशी बनाया तो वह विपक्ष के प्रत्याशी को कड़ी टक्कर देंगे !

   

FROM AROUND THE WEB