इलाहाबाद विश्वविद्यालय।19 करोड़ बकाया है बिजली का बिल

इलाहाबाद विश्वविद्यालय।19 करोड़ बकाया है बिजली का बिल

 

‌इविवि व हॉस्टलों पर बिजली का बकाया 19 करोड़।
‌स्वतंत्र प्रभात
‌ प्रयागराज
‌इलाहाबाद विश्वविद्यालय और उससे संबद्ध छात्रावासों पर बिजली विभाग का करीब 19 करोड़ रुपये बकाया है। इसमें विश्वविद्यालय पर करीब सात करोड़ रुपये बाकी हैं। छोटे बकाएदारों के खिलाफ तो विभाग कनेक्शन काटने का अभियान चला रहा लेकिन सरकारी विभागों पर जो करोड़ों का बकाया है उसकी वसूली  पर बिजली वाले चुप्पी साध जाते हैं। एक अधिकारी ने कहा कि एक हास्टल का कनेक्शन काटने गए  तो बवाल हो गया, आखिर में छात्रहित की बात आ जाती है।

‌बिजली विभाग की मानें तो इविवि ने आखिरी बार 2017 में आंशिक भुगतान किया था। उसके बाद से भुगतान नहीं मिला। हालैंड हाल पर सबसे अधिक छह करोड़ 68 लाख रुपये बाकी है। ट्रस्ट से संचालित इस छात्रावास की ओर से आखिरी बार जून 2017 में आंशिक भुगतान किया गया था। यद्यपि यहां रहने वाले छात्रों से बकायदे बिजली शुल्क लिया जा रहा है। दूसरे नंबर पर बकाएदार है हिंदू हास्टल पर एक करोड़ 90 लाख रुपया  है।डायमंड जुबली हॉस्टल, सर सुंदरलाल, एएन झा, जीएन झा, पीसीबी व संपूर्णानंद हॉस्टल के भी नाम बकाए दारो में हैं।
‌इलाहाबाद विश्वविद्यालय पर करीब सात करोड़ रुपये
‌हालैंड हाल छात्रावास 6.68 करोड़ रुपये
‌हिंदू हॉस्टल एक करोड़ 90 लाख रुपये
‌सर सुदर लाल हॉस्टल 72 लाख रुपयेजीएन झा हॉस्टल 62 लाख रुपये
‌एएन झा हॉस्टल 73 लाख रुपये
‌पीसीबी हॉस्टल 80 लाख रुपये
‌संपूर्णानंद छात्रावास 14.5 लाख रुपये है।
‌यह समस्या करीब 30 साल पुरानी है। हम लोग इस पर गंभीरता से काम कर रहे हैं। कोशिश है कि अगले कुछ माह में सभी बकायों का भुगतान कर दिया जाए।
‌बिजली विभाग के अधिकारियों का कहना है
‌बड़े बकाएदारों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। हालैंड हाल हॉस्टल का कनेक्शन काटने पर छात्रों ने बवाल किया था। बाद में दबाव बनाकर जुड़वा लिया। वैसे कनेक्शन काटने पर हर जगह यही होता है।
प्रयागराज से दया शंकर त्रिपाठी की रिपोर्ट।

 

Comments