करोड़ों की बंजर जमीन पर भूमाफिया की नजर

करोड़ों की बंजर जमीन पर भूमाफिया की नजर

परशुरामपुर थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत रायपुर में द्वारा बंजर की जमीन पर भूमाफिया व दबंगों द्वारा कब्जा जमा लिया गया है थाना क्षेत्र के लकड़ मंडी परशरामपुर मार्ग से सटे रायपुर मौजा के गाटा संख्या 195 कि लगभग सात बीघा बंजर की जमीन है जो सड़क के किनारे स्थित करोड़ों की जमीन है जिस पर स्थानीय भू माफियाओं ने बिना किसी आदेश के उक्त बंजर की जमीन में अपने मकान का निर्माण कर कब्जा जमाने लगे हैं

बता दे कि रायपुर मौजा के इस बंजर भूखंड में प्राथमिक विद्यालय व पंचायत भवन भी जब इसकी बरसों से खाली पड़ी जमीन पर अचानक शुरू हुए गृह निर्माण को देख स्थानीय लोगों ने विरोध जताया इस संबंध में रायपुर निवासिनी रानू देवी पत्नी राम गोपाल ने विगत मामले की शिकायत उप जिलाधिकारी हरैया और तहसील दिवस में किया जिनकी शिकायत पर पहुंची जांच टीम को ग्राम प्रधान उनके गुर्गो द्वारा यह कह कर खदेड़ दिया गया कि यहां सरकारी भवन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण हो रहा है

मामले की जानकारी करने पहुंचे रायपुर के दर्जनों ग्रामीणों को जब यह पता चला कि बंजर की जमीन में कब्जे की नियत से ग्राम प्रधान आवास बनाया जा रहा हैं तो इस संबंध मेंउक्त गांव की ही  श्री रानूदेवी ने मंगलवार को जिलाधिकारी से मिलकर गांव के बंजर जमीन और स्कूल व पंचायत भवन कि शेष जमीन पर ग्राम प्रधान द्वारा राजस्व अधिकारियों की मिलीभगत से अपना घर बनवा रहा है

बुधवार को उप जिलाधिकारी जगदम्बा सिह के निर्देश पर पुनः बंजार जमीन की पैमाइश करने पहुंची सिकंदरपुर कानूनगो त्रिमोहन नाथ व  लेखपाल द्वरिकानाथ के द्वारा पैमाइश की गयी तो निर्माणाधीन मकान बंजर जमीन में पाए जाने पर निर्माण कार्य रुकवा दिया गया सप्ताह भर बाद ग्राम प्रधान द्वारा राजस्व अधिकारियों की मिलीभगत से मकान निर्माण पुनः शुरू करवा दिया गया

 इस संबंध में उप जिलाधिकारी हरैया जगदंबा सिंह ने बताया कि परशुरामपुर थाना क्षेत्र की निवासिनी रानूदेवी निवासिनी रायपुर की शिकायत पर दो बार पैमाइश कर जानकारी दी जा चुकी है मौके पर निर्माण कार्य रुकवा दिया गया है रिपोर्ट मिलते ही अगर दबंगों द्वारा निर्माण कार्य होता हुआ पाया जाता है तो भूमाफिया अधिनियम 2018 के तहत कार्रवाई की जाएगी जबकि ग्रामीणों का कहना है कि स्कूल व पंचायत भवन की जमीन पर प्रधान ने कब्जा जमा लिया है जिसे अतिक्रमण मुक्त कराया जाए

Comments