अल्कोहल माफियाओं के सामने बेबस आबकारी व पुलिस अधिकारी लील रहे जिन्दगियां

अल्कोहल माफियाओं के सामने बेबस आबकारी व पुलिस अधिकारी लील रहे जिन्दगियां

बस्ती

जिले की आबकारी पुलिस एल्कोहल माफियाओं के सामने बेबस शराब पीने से दो की हालत नाजुक जिससे लोगों द्वारा विक्रमजोत सीएससी लाया गया जहां पर हालत देखते हैं डॉक्टरों ने अयोध्या हास्पिटल रेफर कर दिया लेकिन छावनी थाना क्षेत्र में अवैध शराब नदी के किनारे सैकड़ों स्थानों पर भर्तियां चल रही हैं

विक्रमजोत चौकी इंचार्ज से बात करने पर उन्होंने बताया हमारे क्षेत्र में ऐसी कोई घटनाएं नहीं हो रही है यही कह कर कार्रवाई नहीं करते हैं क्योंकि शराब की भठ्ठी ओं से ही पुलिस को मोटी रकम मिलती है जहरीली शराब से लोगों की मौतों का इंतजार कर रहे हैं कर रहे

पुलिस विक्रमजोत चौकी इंचार्ज का रवैया शराबियों की मदद करता है अगर कोई ग्रामीण इसका विरोध करता है तो उसे पुलिस का उत्पीड़न सहना पड़ता है यह हाल है विक्रमजोत चौकी का क्योंकि यहां से मोटी रकम मिलती है चौकी इंचार्ज को नहीं कर रहे हैं शराब माफियाओं पर कार्रवाई ऐसी कई घटनाएं घट चुकी हैं

फिर भी पुलिस की नींद और आपकारी विभाग की नींद नहीं टूट रही है कब तक ऐसे जनता जहरीली शराब पीकर मौत को गले लगाएगी कार्रवाई के नाम पर शिकायतकर्ता के ऊपर ही कार्रवाई हो जाती है ऐसे में जनता शिकायत करना भी छोड़ दिया जिससे पुलिस वालों की चांदी चल रही है

कच्ची शराब बनाने वाले गांवो में अब धड़ल्ले से हो रहा अप मिश्रित शराब की बिक्री चल रही है आबकारी विभाग पुलिस विभाग कार्रवाई नहीं कर पा रही है ताजा मामला नटौवा के कोटेदार राधिका तिवारी और अजय सिंह की कच्ची के अड्डे पर शराब पीने से तबीयत बिगड़ी विक्रमजोत सीएचसी से अयोध्या रेफर हालत नाजुक आबकारी विभाग को बड़ी घटना का इंतजार कर रही है

ग्रामीणों ने शराब बेचने वालो को पकड़ जमकर काटा बवाल छावनी पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा क्या आबकारी विभाग कर रहा बाराबंकी जैसी घटना का इंतजार तभी होगी कार्यवाही हाईवे के कई होटल ढाबों से भी धड़ल्ले से चल रहा अल्कोहल का अवैध कारोबार सभी थाना क्षेत्रों में लेकिन पुलिस नहीं कर पा रही कार्यवाही क्योंकि हर महीने मोटी रकम मिलती है

जहां बिक रही थी कच्ची शराब अब वहां धड़ल्ले से बेची जा रही अपमिश्रित शराब क्षेत्रकप्तानगंज,नगर,सोनहा, परशुरामपुर,मुंडेरवा कलवारी थाना अपमिश्रित शराब का केंद्र माना जाता है यही से पूरे जिले में होती है

शराब माफियाओं के अपमिश्रित शराब की सप्लाई की जाती है क्राइम ब्रांच ने हर्रेया और कप्तानगंज थाना क्षेत्र में पकड़ा था एक वर्ष पूर्व शराब का जखीरा1 माह पूर्व बभनान कस्बे में तत्कालीन एसपी ने स्वयं पकड़ा था अवैध शराब की फैक्ट्री फैक्ट्री सहित शराब पकड़ी गई थी जिस पर बड़ी कार्रवाई हुई थी लेकिन उसी के बाद जनपद की पुलिस निष्क्रिय साबित हुई l

 

Comments