बाल स्वास्थ्य पोषण माह को लेकर आयोजित हुई समीक्षा बैठक आलापुर, अंबेडकरनगर की बड़ी खबरे ,,,,,,,,

बाल स्वास्थ्य पोषण माह को लेकर आयोजित हुई समीक्षा बैठक                        आलापुर, अंबेडकरनगर  की बड़ी खबरे ,,,,,,,,

गहराता जा रहा नाबालिग के गायब होने का रहस्य,झूठ साबित हो रहे पिता के दावे

  • सही नही साबित हो रही शव को जलाने की जानकारी
  • लीपापोती करने में लगी है अहिरौली पुलिस

अंबेडकरनगर । अहिरौली थाना क्षेत्र के महमदपुर नगहरा गांव में पांच दिसंबर की रात हुई  बालिका की संदिग्ध मौत का मामला गंभीर रूप अख्तियार करता जा रहा है। पुलिस जहां इस मामले में लीपापोती करने में लगी दिखाई पड़ रही है वहीं सामने आ रहे तथ्य घटना की गंभीरता की तरफ इशारा कर रहे हैं।

गौरतलब है कि नगहरा निवासी धर्मेंद्र की 15 वर्षीय पुत्री रहस्यमय  परिस्थितियों में गायब हो गई। बालिका के मामा का आरोप है कि दुराचार के बाद उसकी हत्या करके पिता व बाबा ने शव को गायब कर दिया है। मामा की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा भी पंजीकृत कर लिया है लेकिन अभी तक गायब बालिका के बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं हो पा रहा है ।

दूसरी तरफ आरोपी पिता व बाबा का कहना है कि उनकी पुत्री ने आत्महत्या कर लिया था जिसके बाद उसके शव को रात में ही दिलासीगंज में जला दिया गया था। अपने इस दावे के समर्थन में पीड़ित पक्ष ने एक सादे कागज पर कुछ लोगों से हस्ताक्षर करा कर यह सिद्ध करने का प्रयास किया है कि पांच दिसंबर को शव को दिलासीगंज में जलाया गया था

हालांकि दिलासीगंज घाट पर शव को जलाने वाले डोम ने साफ कर दिया है कि उसने पांच दिसम्बर की रात में किसी भी शव को नहीं जलाया था। दूसरी तरफ धर्मेंद्र व उनके पिता द्वारा पुलिस को जो कागज सौंपा गया है उस पर गांव के ही जितेंद्र नाम के एक व्यक्ति द्वारा भी हस्ताक्षर किए जाने की बात सामने आई है।

इस संबंध में जब जितेंद्र से संपर्क किया गया तो उन्होंने साफ कहा कि वह इस प्रकार का शव जलाए जाने के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं। उन्होंने कहीं पर भी हस्ताक्षर नहीं किया है । इससे साफ है कि पुलिस को जो कागज सौंपा गया है वह भी मनगढ़ंत ही है।  इस विरोधाभाष से स्पष्ट है कि दाल में कुछ काला जरूर है जिसे सफेद करने के प्रयास में पुलिस दिन रात लगी हुई है।

 

मानव शक्ति व संसाधनों के अभाव में अधर में लटके अस्पताल

  • टाण्डा में 200 बेड व 30 बेड के हॉस्पिटल का नही हो सका संचालन
  • तीन पीएचसी भी शुरू होने के इंतजार में
  • अधूरे कामो के कारण हस्तगत नही हो पा रहे भवन

अंबेडकरनगर । आम जनमानस को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश सरकार बड़े-बड़े दावे करती फिर रही है लेकिन हकीकत इससे कोसों दूर है । जिले में ही करोड़ों रुपए की लागत से निर्मित कई अस्पताल आज भी उद्घाटन की बाट जोह रहे हैं ।

इन अस्पतालों में मूलभूत सुविधाओं का अभाव आज भी पूरा नहीं हो सका है जिसके कारण इसका लाभ जनता को नहीं मिल पा रहा है। कार्यदाई संस्था की लापरवाही के कारण कई ऐसे स्वास्थ्य केंद्र अभी भी अधर में लटके हुए हैं जिन्हें अब तक पूरा हो जाना चाहिए था।  

टांडा सीएचसी में निर्मित 200 बेड के हॉस्पिटल को मानव शक्ति व आवश्यक संसाधनों के अभाव में आज तक संचालित नहीं किया जा सका है जिससे जिले की बड़ी जनसंख्या वाला कस्बा आज भी स्वास्थ सुविधाओं से अछूता ही बना हुआ है। यहां के लोग मेडिकल कॉलेज व जिला चिकित्सालय पर ही निर्भर होकर रह गए हैं।

बताया जाता है कि 200 बेड का यह हास्पिटल अभी तक कार्यदाई संस्था से विभाग को हस्तगत भी नहीं हो सका है करण की जो कुछ कमियां है उसे कार्यदाई संस्था पूरा नहीं करा पा रही है। यही हाल टांडा में ही निर्मित 30 बेड के महिला चिकित्सालय का भी है। इस अस्पताल का भी संचालन अभी तक नहीं किया जा सका है ।

जिले में तीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भी चालू होने का रास्ता देख रहे हैं । इनमें नवादा रसूलपुर, बाकरगंज तथा सम्मनपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शामिल है । विभागीय सूत्रों के अनुसार इन अस्पतालों में केवल बिजली और पानी का काम शेष है जिसके लिए कार्यदाई संस्था को कई बार पत्र भी लिखा गया

लेकिन वह आज तक इसे पूरा नहीं करा सकी है। यह भी जानकारी मिली है कि लगभग एक साल पूर्व मुख्य विकास अधिकारी ने एक समिति बनाकर इन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के निर्माण कार्यों की जांच के आदेश दिए थे लेकिन यह जांच का कार्य आज तक पूरा नहीं हो सका है।

कार्यदाई संस्था राजकीय निर्माण निगम की लापरवाही के कारण यह बिल्डिंग भी अभी तक स्वास्थ्य विभाग को हस्तगत नहीं की जा सकी है। जाहिर है कि इससे जहां सरकार का करोड़ों रुपया पानी की तरह बह चुका है वहीं इसका कोई भी लाभ आम जनमानस को नहीं मिल पा रहा है । इससे लोगों के स्वास्थ्य के प्रति सरकार की चिंता को खुद-ब-खुद महसूस किया जा सकता है।

 

बाल स्वास्थ्य पोषण माह को लेकर आयोजित हुई समीक्षा बैठक

  • 18 दिसम्बर से 18 जनवरी तक चलेगा बाल पोषण माह

अंबेडकरनगर । मंगलवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी की अध्यक्षता में बाल स्वास्थ्य पोषण माह 18 दिसम्बर से 18 जनवरी 2020, एनीमिया मुक्त भारत कार्यक्रम, राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम, प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान, मातृ मृत्यु सर्विलांस आडिट, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना एवं संचालित गतिविधियों की समीक्षा बैठक आहूत की गयी थी।

आलोक द्विवेदी मण्डलीय समन्वयक ने कहा कि 18 दिसम्बर से 18 जनवरी 2020 तक जनपद में बाल स्वास्थ्य पोषण माह कार्यक्रम संचालित किया जायेगा, इस दौरान नियोजित सत्रों के माध्यम से नौ माह से लेकर पांच वर्ष तक के बच्चों को रतौंधी रोग से बचाव एवं मानसिक व शारीरिक विकास के लिए विटामिन ए की घोल पिलायाी जायेगी।

डाॅ0 सालिक राम पासवान अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा बताया गया कि एनीमिया मुक्त भारत अभियान के अन्तर्गत बच्चों, किशोर-किशोरियों तथा गर्भवती माताओं में होने वाली खून की कमी को दूर करने के लिए एनीमिया मुक्त भार अभियान चलाया जा रहा है।

अभियान के बृहद प्रचार -प्रसार हेतु विद्यालयों में रैली व निबन्ध प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। अभियान के दौरान कक्षा एक से पंाच तक के बच्चों को 45 मिग्रा गुलाबी गोली, कक्षा छः से 12 तक के बच्चों, स्कूल न जाने वाली किशोरियों तथा गर्भवती माताओं को सौ मिग्रा नील गोली की खुराक खिलायी जायेगी।

महमूद आलम डीईआईसी मैनेजर द्वारा राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के अन्तर्गत उपस्थित खंड शिक्षा अधिकारियों तथा बाल विकास परियोजना अधिकारियों को आरबीएसके मोबाइल एप के बारे में प्रशिक्षित किया गया।

श्रीमती शोभा कुमारी सलाहकार प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान तथा मातृ मृत्यु सर्विलांस द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत संचालित प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान तथा मातृ मृत्यु सर्विलांस पर जानकारी दी गयी।

कार्यालय के द्वितीय तल सभागार में अकबरपुर की 16 तथा जहांगीरगंज की 12 कुल 28 आशा संगिनियों को परिवार कल्याण लाजिस्टिक मैनेजमेंट के एक दिवसीय प्रशिक्षण में रीतेश कुमार तथा सुनील कुमार द्वारा प्रशिक्षित किया गया।

प्रशिक्षण के उपरान्त प्रतिभागियों को डाॅ0 सालिक राम पासवान द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किया गया है। डाॅ0 सालिक राम पासवान अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा समस्त अधीक्षकों को निर्देशित किया गया कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला की उपकेन्द्र वार सूचना 11 दिसम्बर तक उपलब्ध करायें।

बैठक में डाॅ0 अशोक कुमार मुख्य चिकित्सा अधिकारी, डाॅ0 सालिकराम पासवान अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, डाॅ0 सतीराम नोडल पीसीपीएनडीटी, डाॅ0 आशुतोष सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी, प्रीतम विक्रम जिला कम्युनिटी प्रोसेस प्रबन्धक, समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी, समस्त खंड शिक्षा अधिकारी प्रत्येक ब्लाक से अधीक्षक, बीपीएम एव स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

 

तक्षशिला में आयोजित हुई विज्ञान व वाणिज्य प्रदर्शनी
अम्बेडकरनगर। मंगलवार को तक्षशिला अकादमी में विज्ञान सामाजिक विज्ञान एवं वाणिज्य प्रदर्शनी का आयोजन किया गया जिसमें कक्षा नौ एवं कक्षा 11 के छात्रों ने प्रतिभाग किया। मुख्य अतिथि के रूप में कृष्ण प्रकाश राय, डा़0 बबिता बेलाल (महामाया इंजीनियरिंग कालेल अकबरपुर एवं डा0 सुशील कुमार चैधरी ही मौजूद रहे।

सामाजिक विषय के अंतर्गत ज्वालामुखी (पूर्णिमा) को प्रथम स्थान, जंगल की आग प्रकरण (शची) एवं भूस्खलन को तृतीय स्थान मिला। वाणिज्य वर्ग के अंतर्गत लाँ आॅफ डिमाण्ड एण्ड सप्लाई यूटीलिटी (शिवांश) को प्रथम स्थान एवं फाम्र्स आॅफ विलनेस आॅर्गनाईजेशन ग्रुप को द्वितीय स्थान मिला तो वहीं विज्ञान वर्ग के अंतर्गत ।

एसिड रेन (अंशिकाग्रुप) को प्रथम स्थान,सेवेज वाटर ट्रीटमेन्ट प्लांट (निशा ग्रुप) एवं वाॅटर यूरीफिकेशन बाई फिल्टरेशन (सोनल ग्रुप) को तृतीय स्थान मिला। प्रदर्शनी के अवसर स्कूल के प्रधानाचार्य वैभव वाँटू, समन्वयक अभिषेक तिवारी, श्रीमती सोनिया मौर्या, प्रदीप श्रीवास्तव, विनय प्रताप सिंह,

विवेकानंद पाण्डेय, सर्वदानंद तिवारी एवं स्वप्निल श्रीवास्तव मौजूद रहीं। छात्रों द्वारा किए कार्य की निरीक्षकों द्वारा भूरि-भूरि प्रशंसा की गई। इसकी जानकारी वृजेश त्रिपाठी द्वारा दी गई।

 

विधायक की अनुपस्थिति रही चर्चा का विषय
आलापुर, अंबेडकरनगर । भारतीय जनता पार्टी के दोबारा जिला अध्यक्ष बने कपिल देव वर्मा के काफिले में स्थानीय विधायक श्रीमती अनीता कमल की अनुपस्थित कार्यकर्ताओं में चर्चा का विषय बनी रही  ।देवरिया बाजार में जिलाध्यक्ष का भव्य स्वागत समारोह किया गया

जिसमें क्षेत्र के सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे लेकिन मौजूदा विधायक श्रीमती अनीता कमल की अनुपस्थिति कार्यकर्ताओं के बीच चर्चा का विषय  बनी रही। इस दौरान कई कार्यकर्ताओं ने विधायक के बारे में अपने नेताओं से जानने की कोशिश की जिसे बातों में टाला गया फिर भी कार्यकर्ताओं में इस बात की चर्चा बनी रही कि आखिर जिला अध्यक्ष के स्वागत समारोह में विधायक जी क्यों नहीं दिखाई पड़ रही है ।

 

युवक ने फांसी लगाकर दी जान
बसखारी अम्बेडकरनगर। बसखारी थाना क्षेत्र के अंतर्गत स्थित शाहपुर महमूद पुर में एक युवक के द्वारा घर के एक कमरे में फांसी लगाकर कर अपनी जीवन लीला समाप्त करने का मामला प्रकाश में आया है। मिली जानकारी  के अनुसार सोमवार की देर रात्रि बसखारी थाना क्षेत्र के शाहपुर महमूदपुर में कार्तिक गोंड पुत्र भवानी भीख उम्र लगभग 32 वर्ष का शव एक कमरे में लटकता पाया गया।

मंगलवार की सुबह  घटना की खबर पूरे गांव में आग की तरह फैल गई।युवक की आत्महत्या करने के पीछे पारिवारिक कलह, वैवाहिक जीवन का तनाव पूर्ण होना, मृतक की पत्नी के द्वारा मृतक के परिजनों के ऊपर दहेज उत्पीड़न करने का मुकदमा दर्ज करवाना व मृतक का पत्नी के बहन के साथ प्रेम प्रसंग की आदि के कयास को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है।

हालांकि पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है। बताया जाता है कि मृतक तीन माह तक अपनी पत्नी के बहन के साथ गैर जनपद में रहकर आया था ।वहीं घटना की जानकारी होने पर पहुंची बसखारी पुलिस ने शव को  कब्जे में लेते हुए पंचनामा भरवा करपोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

इस संदर्भ में थाना थानाध्यक्ष बसखारी दयाशंकर सिंह ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है, साथ ही अन्य विधिक कार्रवाई की जा रही है।

 

प्रबन्धक को मिला प्रशस्ति पत्र 
बसखारी अम्बेडकरनगर। बैंक आफ बडौदा न्यौरी चैराहा के रीजन सुल्तानपुर में शाखा के सीएसपी प्रबन्धक राजकुमार सोनी के उत्कृष्ट कार्य और सरकारी योजनाओं के  लक्ष्य को पूरा कराने में एन आइ सी टी की ओर से बैंक ऑफ बडौदा के आर एम सुबोध जैन ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया ।

न्यौरी चैराहा बॉब शाखा प्रबन्धक संदीप चैधरी ,जिला  प्रबन्धक विनीत कुमार श्रीवास्तव व समस्त स्टाप ने राज के इस कामयाबी की बधाईयां देते हुए उत्साहवर्धन किया है।

 

जिला विद्यालय निरीक्षक ने एक बार फिर प्रबंधक के फैसले को पलटा 

  • कार्यालय व प्रबन्धतंत्र के बीच पिस रहे छात्र

अम्बेडकरनगर। जिला विद्यालय निरीक्षक और प्रबंधक एसएन इंटर कॉलेज इंदईपुर के बीच शुरू हुई जंग खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा एक बार फिर प्रबंधक द्वारा नियुक्त किए गए प्रधानाचार्य बृजेंद्र सिंह को विधि विरुद्ध मानते हुए

पूर्व प्रधानाचार्य मेवालाल के पक्ष में फैसला सुनाया गया। कार्यालय द्वारा निर्गत पत्र में प्रबंधक को निर्देशित किया गया है कि मेवालाल को उनके पद से हटाते हुए प्रधानाचार्य का चार्ज तदर्थ प्रवक्ता बृजेंद्र सिंह को दिया जाना न्याय संगत नहीं है इसलिए मेवालाल हीं प्रधानाचार्य पद पर कार्यरत रहेंगे।

गौरतलब है कि प्रबन्धक द्वारा नियम विरूद्ध आयोजित की गई प्रबन्ध समिति की बैठक का प्रधानाचार्य मेवालाल ने विरोध किया था जिसके कारण मनबढ़ प्रबन्धक ने मेवालाल को प्रधानाचार्य पद से हटाते हुए बृजेन्द्र सिंह को प्रधानाचार्य नामित कर दिया था।

इसके बाद यह मामला एक बार फिर से जिला विद्यालय निरीक्षक की दहलीज पर पंहुचा जिस पर उन्होनें पुनः मेवालाल को ही प्रधानाचार्य माना है। देखना यह है कि कुरूक्षेत्र का रूप धारण कर चुके इस विद्यालय के मैदान में अब कौन सी नई रणभेरी बजती है। 

 

दिव्य योग समागम में बनेंगे कई विशेष रिकार्ड,टूटेगा कई देशों का रिकार्ड

  • लखनऊ में आयोजित होगा दिव्य योग समागम

अम्बेडकरनगर। दिव्य भारत स्वस्थ भारत की संकल्पना के साथ प्रदेश की धरती पर दिव्य योग समागम आयोजित हो रहा है। 15 व 16 दिसम्बर को आयोजित होने जा रहा यह समागम लखनऊ कैंट के माध्यमिक शिक्षा विद्यालय छावनी परिषद तोपखाना बाजार में होगा।

इस दौरान 51 विश्व कीर्तिमान बनाकर उत्तर प्रदेश भारत का स्वर्णिम इतिहास रचेगा। इस मौके पर अनवरत 35 घंटे सूर्य नमस्कार, अनवरत 25 हजार पुशप तथा तीव्र गति से विपरीत चक्रासन योग का विशेष रिकार्ड बनेगा। बैक हैंड क्लिप में चीन का रिकार्ड टूटेगा जबकि विपरीत पुशप में पाकिस्तान का रिकार्ड टूटेगा।

निलम्बाकार चक्रासन में अमेरिका तथा योग मैराथन में कनाडा का रिकार्ड टूटेगा। इसके साथ ही योग के 11 नये विश्व कीर्तिमान बनेंगे। दिव्य भारत निर्माण ट्रस्ट अयोध्या के आयोजकत्व में राष्ट्रीय रक्षा सम्पदा दिवस के अवसर पर योग गुरू स्वामी महेश योगी द्वारा इसका आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल भी मौजूद रहेंगी। 

 

Comments