गंगा जमुनी तहज़ीब की पेश की मिशाल

गंगा जमुनी तहज़ीब की पेश की मिशाल

फ़ैसले के बाद दोनों समुदाय के लोगों ने गले मिलकर दिया सद्भावना का संदेश

      अतीक राईन - विशेष संवाददाता गोण्डा

मनकापुर,गोण्डा-

अयोध्या प्रकरण में बहुप्रतीक्षित सुप्रीम कोर्ट के सुनवाई में लम्बित चल रहे श्रीराम जन्मभूमि व बाबरी मस्जिद के फैसले आने की घड़ी में जहां प्रशासन ने माहौल शांतिपूर्ण बनाये रखने में दिन रात एक कर दिया वहीं जनमानस ने प्रशासन से दो कदम आगे बढ़कर  फैसला आने के बाद गंगा जमुनी तहजीब की मिशाल को पेश किया।

मनकापुर में दोनों समुदाय के लोगों ने फैसला आने के बाद एक दूसरे से गले मिलकर सद्भावना का संदेश दिया।

लोगों ने पूरी दुनिया को संदेश दिया कि हम भारतीयों का रंग रूप वेश भूषा धर्म जाति भले ही अलग है लेकिन सबसे पहले हम हिंदुस्तानी है व एक दूसरे के भावनाओं की कद्र करना व मानवता ही सबसे बड़ा धर्म है।

बीजेपी मंडल महामंत्री महेश मोदनवाल, दारुल उलूम कदिरिया अध्यक्ष तनवीर खां उर्फ सोनू ख़ाँ, कोषाध्यक्ष अजीजुल हसन,मानवाधिकार सुरक्षा एवम संरक्षण ऑर्गनाइजेशन अल्पसंख्यक जिलाध्यक्ष मोहम्मद तौफीक ने एक दूसरे से गले मिलते हुए बताया उच्चतम न्यायालय का फैसला सर्वोपरि है व उसके सम्मान करना हम सबका कर्तव्य है।

Comments