आचार संहिता का उल्लंघन करने पर दर्ज होगी एफआईआर :-प्रेक्षक

आचार संहिता का उल्लंघन करने पर दर्ज होगी एफआईआर :-प्रेक्षक

यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों से वसूला अर्थदण्ड

जनपदीय पुलिस द्वारा अपराध एवं अपराधियों पर प्रभावी नियन्त्रण बनाये रखने हेतु जनपद के विभिन्न थाना क्षेत्रों में भिन्न-भिन्न स्थानों पर दो पहिया वाहनों व संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग की गयी। चेकिंग के दौरान दो पहिया वाहनों पर तीन सवारी, बिना हेलमेट लगाये, बिना अनुज्ञप्ति, सवारी गाडीयों में क्षमता से अधिक सवारी बैठाने पर व तेज गति से वाहन चलाते समय तथा यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर 06 वाहनों से मु0- 1100 रू0 शमन शुल्क वसूल किया गया। शमन शुल्क को नियमानुसार राजकीय कोष में जमा कराया गया।

कच्ची शराब बेचने वालों पर पुलिस की गाज

पुलिस अधीक्षक गोण्डा द्वारा जनपद में अवैध शराब के निष्कर्षण, बिक्री व परिवहन के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के अन्तर्गत दिनांक 22.04.2019 को जनपद के विभिन्न थाना क्षेत्र की पुलिस द्वारा तत्परता पूर्वक कार्यवाही करते हुए कुल-04 अभियुक्त को गिरफ्तार कर उनके पास से कुल 50 लीटर कच्ची शराब बरामद कर बाबू पुत्र नायक लाल नि0 दनौवा थाना मोतीगंज जनपद गोण्डा के कब्जे से 10 ली0 अवैध कच्ची शराब बरामद कर मु0अ0सं0-98/19,

वहीं  शिव शंकर पुत्र सियाराम नि0 मतवरिया थाना मोतीगंज जनपद गोण्डा के कब्जे से 10 ली0 अवैध कच्ची शराब एंव शराब बनाने के उपकरण बरामद कर मु0अ0सं0-100/19, धारा 60/60(2) आबकारी अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेजा गया, वहीं थाना धानेपुर की पुलिस ने अरुण कुमार सिंह पुत्र महराज सिंह नि0 हाड़क पुरवा मौजा उज्जैनी कला थाना धानेपुर जनपद गोण्डा के कब्जे से 10 ली अवैध कच्ची शराब बरामद कर मु0अ0सं0-159/19, धारा 60 आबकारी अधिनियम व  सदानन्द पुत्र राम उजागर नि0 मूर्तिहवा मौजा महेशभारी थाना धानेपुर जनपद गोण्डा के कब्जे से 10 ली अवैध कच्ची शराब बरामद कर मु0अ0सं0-160/19, धारा 60 आबकारी अधिनियम के तहत अभियोग पंजीकृत कर कार्यवाही की गयी।

साथ ही थाना छपिया की पुलिस ने घिर्राऊ सोनकर पुत्र अमेरिका नि0 हथनीखास थाना छपिया जनपद गोण्डा के कब्जे 20 ली0 अवैध कच्ची शराब बरामद कर मु0अ0सं0-113/19, धारा 60 आबकारी अधिनियम के तहत अभियोग पंजीकृत कर कार्यवाही की। वहीं पुलिस अधीक्षक गोण्डा द्वारा चलाये जा रहे अभियान के क्रम में जनपद के विभिन्न थानों द्वारा गुण-दोष के आधार पर विवेचना की कार्यवाही करते हुए कुल- 03 विवेचनाओं का निस्तारण किया गया।

कैसरगंज में भाजपा का इकबाल बुलंद

करनैलगंज, गोण्डा। चुनाव की रणभेरी तो बज चुकी है लेकिन कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र में मतदाताओं सहित प्रत्याशी भी शांत हैं जिससे यहां चुनाव जैसा  कोई माहौल ही नहीं दिखायी पड़ रहा है। 

 वैसे तो कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र से कुल मिलाकर बारह प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। इसमें भाजपा, कांग्रेस, सपा-बसपा गठबंधन तथा प्रसपा के प्रत्याशी मुख्य हैं। भाजपा प्रत्याशी बृजभूषण शरण सिंह द्वारा नामांकन करने के पहले कुछ सभायें आदि करके अपने पक्ष में माहौल बनाने का प्रयास किया गया था पर सभी प्रत्याशियों के नामांकन हो जाने के पश्चात अपने सामने उन्हें कोई मजबूत प्रत्याशी नहीं दिखायी पड़ रहा है जिससे अब उनके प्रचार में वह तेजी नहीं दिखायी पड़ रही है जो पहले थी।

जबकि मतदान के दिन नजदीक आते जाने के कारण प्रचार में तेजी आने की संभावना व्यक्त की जा रही थी। सपा-बसपा गठबंधन प्रत्याशी चन्द्रदेव राम यादव के गैर जनपद के होने के कारण उन्हें इस क्षेत्र के संबंध में विशेष जानकारी नहीं है। उनके पास बसपा और सपा के कार्यकर्ता पर्याप्त संख्या में हैं पर अब तक वे केवल एक बार क्षेत्र में रोड शो करने के साथ ही कुछ नुक्कड़ सभायें ही कर सके हैं लेकिन इससे चुनावी माहौल नहीं बन पाया है। कांग्रेस द्वारा देर में विनय कुमार पाण्डेय को अपना प्रत्याशी घोषित किया गया।

वे क्षेत्र में निकल भी नहीं सके और केवल नामांकन दाखिल किया था तब तक दुर्भाग्यवश उनकी माता जी का स्वर्गवास हो गया। इसके पश्चात वे क्षेत्र में नहीं आ सके। उनके क्षेत्र में न आने से उनके कार्यकर्ता भी निष्क्रिय से हैं। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के प्रत्याशी धनंजय शर्मा कुछेक बार क्षेत्र में आये और  कई गांवों में जनसंपर्क किया लेकिन वे भी कोई विशेष तेजी नहीं दिखा रहे हैं। सब कुछ आराम के साथ हो रहा है। अन्य प्रत्याशियों का तो कुछ अता पता ही नहीं है। 

प्रत्याशियों की ढिलाई के कारण क्षेत्र में अब तक न तो कोई चुनावी सरगर्मी दिखायी पड़ रही है न चुनावी माहौल ही बन पा रहा है। मात्र अलग-अलग दलों से जुड़े लोग ही अपने दल के प्रत्याशी के संबंध में चर्चा करते हुए यदा कदा मिल जायेंगे। बाकी आम आदमी को तो जैसे चुनाव से कोई सरोकार ही नहीं है। यह स्थिति उस समय है जब मतदान में कुछ ही दिन शेष बचे हैं।

 

आचार संहिता का उल्लंघन करने पर दर्ज होगी एफआईआर :-प्रेक्षक

प्रेक्षकों ने अधिकारियों के साथ बैठक कर चुनाव तैयारियों की गहन समीक्षा कर दिए सख्त निर्देश। उन्होंने कहा कि  आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाए। जो भी टीमें लगाई गई हैं उनके प्रभारी अत्यन्त गम्भीरता से निर्वाचन आयोग के निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराएं अन्यथा उन्हें भी संलिप्त मानते हुए उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी साथ ही निर्वाचन आयोग को भी उनके विरूद्ध कार्यवाही के लिए संदर्भित कर दिया जाएगा। सभी एफएसटी, वीवीटी एवं एसएसटी टीमों को तत्काल युद्धस्तर पर सक्रिय कर दिया जाय। पुलिस बल लगातार फ्लैग मार्च करें और अपराधी तत्वों केे खिलाफ एक्शन लिया जाय। यह निर्देश कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में गोण्डा व कैसरगंज लोक सभा के सामान्य प्रेक्षकों, व्यय प्रेक्षक कैसरगंज तथा पुलिस प्रेक्षक ने जिला निर्वाचन अधिकारी तथा अन्य अधिकारियों के साथ चुनाव तैयारियों की समीक्षा में दिए हैं।

प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह आवंटन के बाद प्रेक्षकों ने सभी टीमों के प्रभारियों के साथ बैठक कर निर्वाचन आयोग के निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन कराने व स्वतंत्र एव निष्पक्ष चुनाव कराने के स्पष्ट निर्देश दे दिए हैं। गोण्डा के सामान्य प्रेक्षक राजेन्द्र निम्बालकर, कैसरगंज के सामान्य प्रेक्षक मधुकर अरदद, कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र के व्यय प्रेक्षक कुनाल अनुज, तथा पुलिस प्रेक्षक वीरेन्द्र मिश्रा ने जिला निर्वाचन अधिकारी डा0 नितिन बंसल, एसपी आरपी सिंह तथा सभी वरिष्ठ अधिकारियों, आरओ, एआरओ, ईआरओ व टीमों के नोडल अधिकारियों के साथ बैठक कर चुनाव तैयारियों का जायजा लिया। प्रेक्षक ने बारी-बारी से सभी नोडल अधिकारियों से उनके दायित्वों ओर अब तक उनके द्वारा कया कार्यवाही की गई है,

की जानकारी ली। प्रेक्षकों ने कार्मिकों की तैनाती, वाहन व्यवस्था, खानपान, ईवीएम व वीवीपैट की उपलब्धता, लेखा सामग्र्री, दिव्यांग मतदाताओं के लिए किए गए प्रबन्ध, मतदान केन्द्रों व बूथों पर आवश्यक प्रबन्धों, डाक मतपत्र, सर्विस वोटर, एमसीएमसी, स्वीप एक्टिविटी, यातायात व्यवस्था, आचार संहिता के मामलों पर अब तक की गई कार्यवाही, केन्द्रों पर विद्युत व्यवस्था एवं वैकल्पिक व्यवस्थाएं, फर्नीचर, पेट्रोमैक्स,

जनरेटर इत्यादि, पेालिंग पार्टियों की रवानगी एवं उनके गन्तव्य तक पहुंचने के लिए बनाए गए रूट मैप, मतदान केन्द्रों पर सशस्त्र पुलिस बलों की तैनाती व मानक,वेब कास्टिंग, असलहों की स्थिति क्रिटिकल एवं बल्र्नेबल बूथों पर सुरक्षा इन्तजाम, निर्वाचन सम्पन्न कराने के लिए पुलिस बल की उपल्ब्धता व गैर जनपद से प्राप्त होने वाली फोर्स, क्लस्टर मोबाइल टीमों का गठन एवं उनके क्षेत्रों का आवंटन, अवैध शराब के खिलाफ कार्यवाही व कारोबारियों की धर-पकड़, निरोेधात्मक कार्यवाहियों का ब्यौरा, हिस्ट्रीशीटरों के खिलाफ की गई कार्यवाही, एफएसटी व एसएसटी टीमों द्वारा पकड़ी गई नकदी व अन्य कार्यवाही सहित सभी चीजों की गहन समीक्षा की। 

प्रेक्षकों ने स्पष्ट निर्देश दिए कि जारी की गई नोटिसों का जवाब यदि चाौबीस घन्टे के अन्दर न  दिया जाय तो सम्बन्धित के खिलाफ तत्काल आईपीसी व आचार सहिंता के उल्लंघन की धाराओं में एफआईआर दर्ज कराई जाय। उन्होने कहा कि आयोग के निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन कराया जाना है और जो भी प्रत्याशी ऐसा न करेें उनके खिलाफ तत्काल एफआईआर दर्ज कराई जाय। वरना मामला यदि उनके संज्ञान में आएगा तो वे सम्बन्धित अधिकारी के खिलाफ भी एक्शन लेगें। उन्होने कहा कि जो भी मतदान कार्मिकों की ड्यूटी लगाई गई है उनसे प्रमाणपत्र लिया जाए कि उन्होने कार्मिक प्रशिक्षण पूरी तरह सेे प्राप्त कर लिया है ओर निर्वाचन के दौरान कोई गलती नहीं करेगें। इसके अलावा उन्होने यह भी चेतावनी दी कि यदि किसी भी अधिकारी का मोबाइल स्विच आॅफ पाया गया तो इसे निर्वाचन कार्य में जानबूझकर लापरवाही बरतने का दोषी मानते हुए कठोर कार्यवाही की जाएगी।

उन्होने जिला निर्वाचन अधिकारी से सभी टीमों के अधिकारियों का नाम व मोबाइल नम्बर मांगा है। वहीं मतदाताओं के बारे में जानकारी करने पर ज्ञात हुआ कि अनितम प्रकाशन के बाद से अब तक बीस हजार से अधिक नए मतदाओं का नाम मतदाता सूची में जोड़ा जा चुका है। जिला निर्वाचन अधिकारी डा0 नितिन बंसल ने बताया कि दोनो लोकसभा क्षेत्रों में चाौबीस लाख दो हजार एक सौ  अट्ठारह मतदाता हंैं जिसमें बारह लाख छियान्नबे हजार नौ से बावन पुरूष् मतदाता, ग्यारह लाख पांच हजार बहत्तर महिला मतदाता व 94 अन्य मतदाता हैं।

पुलिस अधीक्षक आर0पी0 सिंह ने बताया कि अब तक 36 हजार लोगों को 107/16 के तहत निरूद्ध किया जा चुका है, और 970 हिस्ट्री शीटरों को जेल भेजा जा चुका है। 581 लोगों के खिलाफ गैर जमानती वारन्ट जारी किए गए हैं जिनमें से 565 लोगों को अरेस्ट कर जेल भेजा जा चुका है। 162 अवैध असलहों की बरामदगी की गई है और 164 लोगों को अवैध असलहों के आरोप में जेल भेजा गया है

जबकि 10435 लाइसेन्सी असलहे जमा कराए जा चुके हैं। वहीं संवदेनशीलता के आधार पर जिले के 41 प्रतिशत बूथों पर सीएपीएफ तैनात की जा रही है। इसके अलावा प्रेक्षक ने निर्देश दिए कि हर हाल में यह सुनिश्चित कराया जाय कि कोई भी बाहरी व्यक्ति जो कि जिले में मतदाता नहीं है या जिले का निवासी नहीं है,

वह निर्वाचन के दो दिन पहले जिला छोड़ दे। चेकिंग की शत-प्रतिशत बीडियोग्राफी कराई जाय और टीमों द्वारा की जाने वाली कार्यवाहियों की दैनिक रिपोर्ट उन्हें दी जाय। इसके अलावा होटलों, धर्मशालाओं आदि मे लगातार औचक निरीक्षण किए जाएं तथा संदिग्धों की गिरफ्तारी की जाय। पुलिस प्रेक्षक श्री मिश्रा ने निर्देश दिए कि बाहर से आने वाली फोर्स के रहने, खाने आदि की अचछी व्यवस्था कराई जाय जिससे निर्वाचन  कार्य में कोई भी दिक्कत न आने पावे। 

बैठक में लिा निर्वाचान अधिकारी डा0 नितिन बंसल, एसपी आर0पी0 सिंह, प्रभारी अधिकारी कार्मिक/सीडीओ आशीष कुमार, उपजिला निर्वाचन अधिकारी रत्नाकर मिश्र, आरओ कैसरगंज आर0आर0 प्रजापति, एएसपी महेन्द्र कुमार, प्रभारी यातायात/सिटी मजिस्ट्रेट राकेश सिंह, सभी एआरओ/एसडीएम, ईआरओ, एआरटीओ सभी टीमों के नोडल अधिकारीगण, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी गिरीश कुमार, एस0के0 सहाय, नज्मी कमाल खान व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments