हमीरपुर से सुमेरपुर तक 14 घंटे रहा नेशनल हाईवे पर जाम

हमीरपुर से सुमेरपुर तक 14 घंटे रहा नेशनल हाईवे पर जाम

सोमवार की रात से नेशनल हाईवे में शुरू हुआ जाम सुबह होते-होते मुख्यालय से सुमेरपुर कस्बे तक पहुंच गया।

लगभग चौदह घंटे तक चले जाम के बीच खराब गाड़ियों को किनारे करने के बाद जाम खुल सका। जाम में तमाम बारातों के साथ यात्री बसें व एम्बुलेंस के साथ ही अधिकारियों की गाड़ियां भी फंस गईं। जाम की समस्या ओवरलोड ट्रकों के अचानक हाईवे में खराब हो जाने से खड़ी हुई थी।

 आज रात में बेतवा पुल एवं कुछेछा पुलिस चौकी के समीप ओवर लोड ट्रक खराब हो गए। इनके खराब हो जाने से नेशनल हाइवे में भीषण जाम लग गया। जाम मुख्यालय से होते हुए सुमेरपुर कस्बे तक आ गया और जाम में हमीरपुर से लेकर कस्बे तक हजारों छोटे-बड़े वाहन फंस गए। इस भीषण जाम में ओवर लोड बालू से भरे सैकड़ों की संख्या में ट्रक फंस जाने से मुख्यालय से लेकर सुमेरपुर तक नेशनल हाईवे जाम हो गया। इस दौरान ट्रकों से टपके पानी से रोड के दोनों तरफ रोड गीला हो जाने से हाईवे में बारिश का अहसास होने लगा।

जो लोगों को नदियों में हो रहे अवैध खनन का सबूत दे रहा था। जाम में सैकड़ों बारातों के साथ यात्री बसें, एम्बुलेंस, मुख्यालय की ओर जाने वाले अधिकारियों, वादकारियों व वकीलों के तमाम वाहन फंसे रहे। जाम का आलम यह था कि टू लेन के इस हाईवे में दोनों ओर आने जाने के लिए फोरलेन की लाइने लगी थीं।

पूरे हाईवे में वाहनों की रेलम पेल हो जाने से बाइक और पैदल वाले भी मुश्किल में फंसे हुए थे। यमुना एवं बेतवा सेतु में सुबह बाइक तक नहीं निकल पा रही थी। सभी लक्ष्मीबाई तिराहा से लेकर बेतवा पुल पार तक यातायात पुलिस एवं पुलिस के जवान जाम खुलवाने में लगे रहे। लेकिन उनका यह प्रयास भी चंद मिनट में धूल धूसित हो रहा था। क्योंकि जिस तरह से वाहन चालक ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन कर रहे थे। उसके सामने पुलिस असहाय साबित हो जाती थी।

रविवार की शाम से शुरू हुआ जाम सोमवार को दोपहर बाद खुल सका। हजारों राहगीर चिलचिलाती धूप में जाम से निजात पाने का रास्ता तलाशते रहे। लेकिन कोई सुलभ मार्ग नजर नहीं आया और लोग मन मसोस कर कड़ी धूप में वाहनों के अंदर बैठकर जाम खुलने का इंतजार करते रहे। इसी बीच पुलिस प्रशासन ने किसी तरह से जाम के बीच से क्रेन मशीनों को निकालकर खराब ट्रकों के समीप तक पहुंचाया। जब क्रेन मशीनों ने खराब ट्रकों को खींचकर हाईवे में किनारे किया तब कहीं जाकर जाम खुल सका।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments