पाली में अलविदा की नमाज़ अता करते रोजेदार

पाली में अलविदा की नमाज़ अता करते रोजेदार

या अल्लाह ! हमारें मुल्क में अमन और खुशहाली अता फ़रमा

पाली, हरदोई ।

माह-ए-मुबारक रमजान का आखिरी जुमा यानी अलविदा की नमाज़ पाली नगर की मुख्य जामा मस्जिद में अदा की गई। अलविदा के मौके पर हर एक रोजेदार की आंखे रमजान की विदाई पर नम नजर आईं।

हजारों की तादात में रोजेदारों ने सजदे में सिर झुकाया। खुदा की इबादत के जज्बे से लबरेज रोजेदारों ने मुल्क की तरक्की व खुशहाली के लिए दुआ की। 

पाली नगर में सुबह से ही जुमा अलविदा की तैयारियां शुरु हो गई थीं। रोजेदारों ने नई टोपी और नया लिबास पहन रखा था। इत्र की खुशबू महक रही थी। जुबान पर अल्लाह का जिक्र करने के साथ ही रोजेदारों ने अलविदा की नमाज़ अदा करने के लिए नियत बक्त पर मस्जिदों का रुख कर लिया था। 

लबों पर दरूद-ए-पाक का विर्द था। नजरों में अल्लाह से बख्शीश की गुहार झलक रही थी। सभी की आंखों में अल्लाह की रहमत की बारिश का इंतजार था। नगर की जामा मस्जिद पूरी तरह भरी नजर आई। वही तमाम लोगों के लिए विशाल चबूतरे पर नमाज़ अदा करने की व्यवस्था की गई थी ।

भीषण गर्मी और धूप की तपिश में भी लोगों की जुबान पर अल्लाह का जिक्र था। हर कोई आज खुदा की रहमतें लूटने आया था। नगर की अन्य मस्जिदें भी रोजेदारों से भरी रहीं। अलविदा की नमाज़ अदा करने के बाद रोजेदारों ने दुआ मांगते हुए कहा की ऐ अल्लाह! तू हम सबकी परेशानियों को दूर फरमां।

हमने जो पूरे रमजान इबादत की है, रोजे रखे हैं, तू उसे अपनी बारगाह में कुबूल फरमा। हमारे देश में अमन और खुशहाली अता कर। हमारे देश को बुरी नजरों से बचा।

कौम की तरक्की कर और सभी को ईद की खुशियां अता फरमां। पाली नगर के पूर्व चेयरमैन रिज़वान खां ने अलविदा की नमाज़ के दौरान नगर की तरक्की और आवाम की खुशहाली की दुआ मांगी। 

अलविदा जुमा में तकरीर के दौरान पेश इमाम हाफिज असलम ने ऐलान किया कि ईदुल फितर की नमाज ईदगाह में सुबह 8:00 बजे होगी । इसी के साथ ही बताया कि पूरे अमन के माहौल के साथ अल्लाह के इस ईनाम की खुशियों को एक-दूसरे के साथ बांटे। आपसी भाईचारा कायम रखें और अमन का पैगाम दें। जुमा अलविदा को लेकर प्रशासन ने पूरी सतर्कता बरती थी।

सुरक्षा के लिहाज से पाली थानाध्यक्ष बीरेंद्र सिंह तोमर पुलिस बल के साथ मुस्तैद रहे। वहीं नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी अवनीश शुक्ला भी जामा मस्जिद पहुंचे। नमाज शांतिपूर्ण संपन्न हो जाने के बाद अफसरों ने राहत की सांस ली। इस मौके पर पूर्व चेयरमैन हाजी अब्दुल सत्तार खां, नसीर खां, उम्रदराज खां, इमरान खां, फरहान खां, जलालुद्दीन खां, इसरार अली, सिराज खां, मुरसलीन खां, मलिक गुलाम साबिर, मलिक इश्तियाक, मलिक माशूक, मुईन खां, रेहान खां, गुलशेर खां, अहबाब खां, आदि हजारों रोजेदार मौजूद रहे।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments