2014 में मोदी लहर थी लेकिन 2019 में मोदी कहर हैं! #उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा

दिनेश शर्मा उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री है

ये ब्राह्मण वर्ग के एक बड़े चेहरे के रूप में जाने जाते हैं इनको पर्दे के पीछे काम करने का एक बड़ा अनुभव रह चुका है जब ये भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष थे,

उस समय 2014 के इलेक्शन में भारतीय जनता पार्टी को इतनी बड़ी जीत दिलाने में दिनेश शर्मा की मुख्य भूमिका थी साथ ही उत्तर प्रदेश के विधान सभा में भाजपा को बड़ी जीत दिलाने में इनकी महत्त्वपूर्ण भूमिका थी।

दिनेश शर्मा के अंदर राजनीतिक हुनर को पढ़ने वाले देश के लोकप्रिय और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई जी थे,जब 2006 में दिनेश शर्मा लखनऊ से मेयर का चुनाव लड़ रहे थे उस समय भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई अपने आखिरी भाषण में दिनेश शर्मा को चुनाव जिताने की लोगों से अपील की थी उसके बाद खराब स्वास्थ्य के कारण अटल बिहारी बाजपेई की कोई भी चुनावी रैली नहीं हो पाई थी।

आज भी दिनेश शर्मा को जब मौका मिलता है तो वह लखनऊ विश्वविद्यालय में अपनी क्लास जाकर जरूर लेते हैं, हालांकि लखनऊ में मेयर के पद से उनका सफर शुरू हुआ था लेकिन आज दिनेश शर्मा एक राष्ट्रीय स्तर के नेता बन चुके हैं,लेकिन फिर भी अपने व्यस्त जीवनचर्या में से समय निकाल कर वह लखनऊ कैंपस में जाते रहते हैं।

जब 2019 के इलेक्शन में मोदी लहर के बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा कि 2014 में मोदी की लहर थी लेकिन 2019 में मोदी की कहर है,

राजनीतिक कहर जिसमें सभी पार्टियां उड़ जाएगी। हमारे स्वतंत्र प्रभात के संवाददाता विपिन शुक्ला ने जब सवाल किया की भारतीय सेना ने अभी तक 4 सर्जिकल स्ट्राइक कर चुकी है दो म्यांमार में उग्रवादियों पर दो पाकिस्तान में आतंकवादियों पर लेकिन क्या कारण है कि देश के कुछ नेता पाकिस्तान की सर्जिकल स्ट्राइक पर तो सबूत मांगते हैं जबकि म्यामार में जब सर्जिकल स्ट्राइक होती है

तो कोई सबूत नहीं मांगते?  इसके जवाब में दिनेश शर्मा ने कहा कि देश के मुद्दों पर लोगो को राजनीति से बाज आनी चाहिए और सेना के पराक्रम पर शक किसी को भी नहीं करना चाहिए।सेना अपना काम ईमानदारी से करती है और सेना ने दुश्मनों को अच्छा जवाब दिया था। एक बार फिर से दिनेश शर्मा के ऊपर 2019 का लोकसभा इलेक्शन जिताने की एक बड़ी जिम्मेदारी है और उनके कद और उनकी राजनीतिक सूझबूझ देखकर कुछ भी असंभव नहीं लगता है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments