जर्जर व खँडहर नुमा प्राथमिक विद्यालय में पढ़ रहें हैं बच्चे कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

जर्जर व खँडहर नुमा प्राथमिक विद्यालय में पढ़ रहें हैं बच्चे कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

रिपोर्ट-अजय सिंह

दरियाबाद बाराबंकी


विकास खण्ड दरियाबाद अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत जेठौती राजपूतान के मजरे मरखापुर में बने एकल प्राथमिक विद्यालय की स्थितिबड़ी ही दयनीय है।

सारा भवन जर्जर हो चुका है बरसात के दिनों में छत से सारा पानी बने कमरों के अंदर तेजी के साथ टपकता रहता है विद्यालय में बने कमरे निष्प्रयोज हो चुके हैं परंतु शिक्षा विभाग की लापरवाही के चलते अभी तक भवन को निष्प्रयोज घोषित नही किया गया ।

सह अध्यापिका पूजा सिंह व शिक्षा मित्र ने बताया कि विद्यालय में 76 बच्चे नामांकित हैं जिनके बरसात के दिनों में बैठकर पढ़ने की कोई व्यवस्था नहीं है बरसात के दिनों में सारे बच्चों को एम डी एम का खाना किसी तरह से खिलाकर छोड़ दिया जाता है ।

वहीं अन्य दिनों में विद्यालय परिसर में लगे बरगद के इसी पेड़ के नीचे बच्चों को बैठा कर पढ़ाया जाता है।
विद्यालय में चाहर दिवारी न होने की वजह से छूट्टा आवारा पशु विद्यालय में आ जाते हैं ।

और तमाम गन्दगी कर देते हैं गन्दगी को साफ करने के लिए कभी गाँव में तैनात सफाई कर्मी भी नही आता
जिससे विद्यालय भवन सहित पूरे परिसर में हमेशा गन्दगी बनी ही रहती है।

विद्यालय की शिक्षिकाओं के साथ ही में कुछ ग्रामीणों ने बताया कि विद्यालय के भवन का निर्माण 1990 में हुआ था जो लगभग 2015 से ही जर्जर हालत में है।

मरखापुर के निवासी मानसिंह, व विजय कुमार बताते हैं कि गाँव के प्राथमिक विद्यालय की स्थिति तो दैनिय है ही परन्तु साथ में ही पूरे गांव में ग्राम प्रधान के द्वारा जो भी विकास के कार्य कराए गए पूरे नहीं कराए गए गाँव के सारे आने जाने वाले रास्ते खराब हैं।

एक भी रास्ता दुरुस्त नही है जितने शौचालयों के निर्माण कार्य कराए गए सब अधूरे हैं।गांव के सभी विकास के कार्यों में ग्राम प्रधान के द्वारा बड़ी ही लापरवाही बरती गई है।

सम्बंधित अधिकारी को समास्या को अपने संज्ञान में लेते हुए जल्द कार्रवाई करने की आवश्यकता है।

Comments