ठण्ड में छप्पर के नीचे वसर कर रहा परिवार 

ठण्ड में छप्पर के नीचे वसर कर रहा परिवार 


नही मिला प्रधान मन्त्री आवास


सुबेहा बाराबंकी।

सरकार गरीबो को पक्का घर मुहैया करने के लिये प्रयासरत है और प्रधानमंत्री आवास योजना चला रही है लेकिन विकास खण्ड हैदरगढ क्षेत्र मे खाऊ कमाऊ नीति के चलते यह योजना भ्रष्टाचार की भेट चढ़ती नजर आ रही है जो वास्तविक गरीब है जिनके पास रहने के लिये कच्चा मकान तक नही है और छप्पर के नीचे अपने परिवार के साथ गुजर वसर कर रहा है

और प्रधानमंत्री आवास पाने का पात्र है लेकिन वह इस योजना के लाभ से कोसो दूर है देखा जाये तो जिसके पास रहने के लिये मकान है और सामर्थ्य है उनको ग्रामप्रधान आवास का तोफा बाट रहे है। जिसका जीता जागता उदहारण देखना हो तो ग्राम पंचायत गेरावा मे कभी भी आकर देखा जा सकता है गौरतलब हो की गुलजार छप्पर के नीचे अपने परिवार के साथ जीवन यापन कर रहा है जिसके पास साबित एक कच्ची कोठरी तक नही है

यही नही बारिस के दिनो मे दूसरे व्यक्ति के घर का सहारा लेना पड़ता है गुलजार ने बताया की चुनाव के दौरान ग्राम प्रधान आवास का प्रलोभन देकर वोट तो ले लेते है लेकिन चुनाव जीतने के बाद आवास लाभ से उपेक्षित का शिकार होना पडता है ग्राम प्रधान से जब आवास दिलवाने की बात करते है तो अगले माह का हवाला देकर पल्ला झाड़ लेते है आश्वासन मिलते मिलते करीब चार साल हो रहे है गांव के अन्य लोगो को  प्रधानमन्त्री आवास का लाभ दिलाया जा रहा है पता नही क्या वजह है मुझे आवास के लाभ से वंचित कर दिया जाता है। वही इस सम्बन्ध मे खण्ड विकास अधिकारी से बात की गयी तो उनका कहना था की इसकी जांच करायी जायेगी और पात्र है तो प्रधान-मंत्री आवास का लाभ दिलाया जायेगा ।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments