किसानों से पराली ना जलाने की किया अपील

किसानों से पराली ना जलाने की किया अपील

              रिपोर्टर - सुनील मिश्रा

गोण्डा -

महर्षि पतंजलि एजुकेशन ग्रुप नई दिल्ली के ओर से संचालित श्री गंगा प्रसाद शुक्ला मेमोरियल प्रशिक्षण संस्थान माधवपुर के जिला संचालक सच्चिदानंद शुक्ला ने गांव में जाकर किसान भाइयों से अपील किया है कि वह अपने खेतों में पराली ना जलाये।

पराली जलाने से वायु प्रदूषण होता है। फसलों के अवशेषों को जलाने में निकलने वाले धुंए से सांस संबंधित रोग होते है।जैसे दमा रोग खाँसी हो सकता है।इससे होने वाले धुएं से बच्चों, बुजुर्गो का दम घुटने से मौत हो सकती है।इसी की जानकारी ग्रामीणों को दिया गया है। 

किसानों से कहा कि आप अपने खेतों की पराली को जलाने के बजाय उसका गड्ढे में रख दो और उसको सड़ा दो।जिससे वह कम्पोस्ट खाद बन जाएंगी।कम्पोस्ट खाद के इस्तेमाल से खेत की उर्वरक शक्ति ठीक रहेगी।केमिकल रासायनिक उर्वरकों से ज्यादा अच्छा उर्वरक प्राप्त होगा और अपने आस पास का वातावरण स्वच्छ रहेगा।

संस्था की ओर से चलाए जा रहे जन जागरूकता अभियान में आज ग्रामीणों को पराली ना जलाने के बारे में किसानों को मिली जानकारी से किसान भाई संतुष्ट रहे।इस दौरान रामचंदर ओझा, जयप्रकाश ओझा, वीरेन्द्र ओझा, संदीप दुबे,वासुदेव, रिखीराम, अजय कुमार रहे।

Comments