क्या कहे साहब कुशीनगर में शिक्षा का यही है हाल पढ़ेंगे देश का इतिहास

क्या कहे साहब कुशीनगर में शिक्षा का यही है हाल पढ़ेंगे देश का इतिहास

               रिपोर्टर - शैलेश यदुवंशी

खड्डा,कुशीनगर-

एक ओर राज्य सरकार शिक्षा की अलख जगाकर हर बच्चे को शिक्षा की मुख्य धारा से जोडऩे की बात कर रही है,वहीं दूसरी ओर छितौनी बलुआ टोला छोटा स्थित प्राथमिक विद्यालय बड़हरवा टोला के विद्यार्थी सड़क पर लगे तालाब के पानी के डर से स्कूल जाना छोड़ रहे हैं।

जिले में विकास कार्यों की हकीकत दर्शाता विकास खंड खड्डा के छितौनी बलुआ टोला का छोटा टोला। जहां बारिश के बाद विद्यार्थियों को विद्यालय जाने के लिए बच्चों को रोजाना कच्ची सड़क पर भरे पानी को पार कर जाने को मजबूर हैं।

कई बार तो कई स्कूली बच्चे कच्ची सड़क पर बने गड्ढों का सही अंदाजा ना लगा पाने के चलते गिरकर घायल हो जाते हैं। लोगों ने विभागीय अधिकारियों से लेकर प्रशासन तक शिकायत की बावजूद कुछ नहीं हुआ।इससे स्थानीय लोगों में रोष पनप रहा हैं।

ग्रामीणों ने स्वतंत्र प्रभात से चर्चा के दौरान आरोप लगाया कि आजादी के 7 दशक बाद भी हम मूूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं।समस्याओं से कई बार जनप्रतिनिधियों को अवगत कराया गया लेकिन कोई हल नहीं निकला।ग्रामीणों के द्वारा बताया गया कि 

कई बार छात्रों को बारिश के मौसम में कच्ची सड़क पर जल स्तर बढऩें के कारण बाढ़ आने से बिना स्कूल गए ही वापस घर लौटना पड़ता है। 

पढऩा है तो पार करनी होगी नदी

छितौनी बलुआ टोला छोटा के ग्रामीणों के बच्चों को अगर पढऩा है तो खतरे की नदी को पार कर ही उन्हें स्कूल जाना होता है। ऐसे में बच्चों को स्कूल जाने से पहले ही रास्ते में अग्नि परीक्षा से पास होना पड़ेगा।

Comments