जनपद के छात्र-छात्राओं के भविष्य से हो रहा खिलवाड़:- एनएसयूआई

 जनपद के छात्र-छात्राओं के भविष्य से हो रहा खिलवाड़:- एनएसयूआई


जनपद के छात्र-छात्राओं के भविष्य से हो रहा खिलवाड़:- एनएसयूआई


विभिन्न छात्र संगठनों ने अलग-अलग ज्ञापन सौंपकर की सीटें बढ़ाने की मांग


ललितपुर। Arif khan

केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा प्रत्येक वर्ग के छात्र-छात्राओं को शिक्षा देने के उद्देश्य से कई योजनाए चला रही है। ताकि कोई भी छात्र-छात्रा शिक्षा से वंचित न रहे।

जनपद अति पिछड़ा जिला है यहां आर्थिक स्थिति के साथ शिक्षा का भी स्तर निम्र है। ऐसे में बुन्देलखण्ड विश्व विद्यालय के कुलपति द्वारा जनपद के एक मात्र शासकीय विद्यालय में संचालित बीए प्रथम वर्ष की सीटे घटा दी गयी है।

जिससे जनपद के ग्रामों से आने वाले छात्र-छात्रा शिक्षा से वंचित रह जायेंगे। इसी को लेकर बुधवार को जनपद के समस्त छात्र संगठनों ने अलग-अलग ज्ञापन सौंपा है।

इसी क्रम में भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के पदाधिकारियों द्वारा महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित एक ज्ञापन अपर जिलाधिकारी को सौंप कर नेमवि में बीए प्रथम वर्ष की 973 सीटें निर्धारित किये जाने की मांग की है। 


सौंपे ज्ञापन मेंं जिलाध्यक्ष मोन्टी शुक्ला ने बताया कि ललितपुर बुन्देलखण्ड का अतिछिड़ा जिला है। जनपद में एक मात्र शासकीय महाविद्यालय है जहां पर बीए पाठ्यक्रम संचालित होता है। उन्होंने बताया कि महाविद्यालय में पिछले सत्रो में बीए प्रथम वर्ष हेतु 973 सीटें थी, वर्तमान सत्र 2019-20 में बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय के कुलपति द्वारा एक तुगलकी फरमान जारी किया गया।  

जिसमें महाविद्यालय की 973 बीए की सीटों को घटाकर 200 कर दिया गया। बताया कि जनपद के एकमात्र बीए के शासकीय महाविद्यालय में यदि सीटें अचानक से कम कर दी जायेगी तो जनपद में व आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले आर्थिक रूप से कमजोर छात्र-छात्रायें प्रवेश से वंचित रहे जायेंगे, क्योकि जनपद में अन्य निजि महाविद्यालय की अपेक्षा नेहरू महाविद्यालय का शिक्षण शुल्क कम है

जिससे गरीब वर्ग के छात्र-छात्राऐं आसानी से प्रवेश लेते है। तों वही बुन्देलखण्ड विकास छात्र सेना जिलाध्यक्ष आयूष सैनी द्वारा महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित एक ज्ञापन अपर जिलाधिकारी को सौंपकर नेमवि की बीए प्रथम वर्ष की सीटें बढाये जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि शीघ्र की सीटें नही बढ़ाई गयी

तो एनएसयूआई वृहद स्तर पर आंदोलन करने के लिये बाध्य होगी। जिसकी समस्त जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी। ज्ञापन देते समय एनएसयूआई जिलाध्यक्ष मोन्टी शुक्ला, यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष अंकित यादव, निक्की यादव,शुभम शुक्ला, रवि पंथ, दीपक चौबे, राहुल चन्देल, चिराग यादव, उमेश पाल, सचिन नायक दीपक चौहान, राजेश झां, धमेन्द्र पाल, प्रभात मिश्रा सहित अनेकों लौग मौजूद रहे। 

 


एबीवीपी ने कुलपति व नेमवि प्रधानाचार्य का पुतला फूंका
बुधवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद  के पदाधिकारियों द्वारा नेमवि में बीए प्रथम वर्ष की सीटें कम करने के विरोध में घंटाघर परिसर में विरोध प्रर्दशन व नारेबाजी करते हुये बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय कुलपति व नेमवि प्रधानाचार्य का पुतला दहन किया गया। उन्होंने कहा कि अगर जल्द से जल्द सीटें नही बढ़ाई गयी तो आगे भी प्रर्दशन किया जायेगा। जिसकी समस्त जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी। 

यूथ कांगे्रस जिलाध्यक्ष अंकित यादव ने बताया कि जनपद में एक मात्र शासकीय कालेज है जहां पर ग्रामीण क्षेत्रों से आये हुये गरीब तबके बच्चे कम शुल्क होने के कारण प्रत्येक छात्र-छात्राओं को शिक्षा का लाभ मिल जाता है ऐसे में सीट कम होने से कई छात्र-छात्राऐं आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण शिक्षा से वंचित रह जायेंगे। 

छात्र नेता निक्की यादव ने बताया कि नेमवि में सीटें घटजाने से अब छात्र-छात्रओं को प्राइवेट कालेजों में एडमिशन लेना पड़ेगा, परन्तु काफी छात्र-छात्राऐं ऐसे है जिनकी आर्थिक स्थिति अत्यन्त खराब होने के कारण प्राईवेट कॉलेजों में एडमिशन नही ले पायेंगे। जिससे वह शिक्षा से वंचित रह जायेंगे। कहा कि नेमवि में सीटें बढ़ाई जाये जिससे छात्र-छात्राओं को शिक्षा से वंचित न रह पायें।

 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments