बारिश का टूटा कहर अन्नदाता की फसल बर्बाद

बारिश का टूटा कहर अन्नदाता की फसल बर्बाद


बारिश का टूटा कहर अन्नदाता की फसल बर्बाद


लगातार हो रही बारिश से किसान चिंतित


बिरधा। Gaurav parashar  

इस समय किसानो पर मुसीबतो का पहाड़ टूट पड़ा है। कुछ दिनों  से जनपद  में अत्यधिक बारिश हो रही है। जिससे उड़द और मूंग की फसल पूरी तरह से गल कर नष्ट हो चुकी है। अन्नदाता अपनी बर्बादी पर खून के आंसू रो रहा है। जनपद में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के  कारण फसले पूरी तरह नष्ट हो गयी है। खेतो में पानी भर जाने से उर्द और मूंग की फलियां अंकुरित हो गयी है वही पौधों की जड़ेे सड़ गयी है। बुन्देलखण्ड के किसान और दैवीय आपदाओ का चोली दामन का साथ रहा है। कभी अतिवृष्टि तो कभी सूखा से वह फसल का सही उत्पादन नही कर पा रहे है, और लगातार कर्ज के बोझ तले दबते चले आ रहे है। बिरधा सहित आस पास के क्षेत्र मगरपुर, रमपुरा, कुमरौल, विजयपुरा, सतौरा, पठारी, कलरव, बंगरिया, पटउवा, करमरा, सतरवांस, पटसेमरा में फसल पूरी तरह से गल कर नष्ट हो चुकी है। किसानो ने सर्वे कराकर अति शीघ्र की मुआवजा और बीमा दिलाने की मांग की है।


 
इनका क्या कहना
लगतार हो रही बारिश से सामान्य जन जीवन पूरी तरह अस्त व्यस्त हो गया है। किसान बर्बादी की कगार पर पहुँच गया है। किसानो को अति शीघ्र ही मुआवजा मिलना चाहिये और साथ ही साथ बीमा क्लेम भी मिलना चाहिए।
गौरव पाराशर
अध्यक्ष नगर सुधार समिति
 
अत्यधिक बारिश ने किसानो की आखिरी उम्मीद पर भी पानी फेर दिया है अब किसान बैंक का कर्जा कैसे चुकायेगा। किसान क्रेडिट कार्ड से रवि और खरीफ दोनों फसलो का प्रीमियम काटा जाता है अब फसल का सर्वे कराकर अति शीघ्र बीमा की धनराशि दिलाई जाये।
रविन्द्र सिंह 
युवा समाजसेवी
 
जनपद में लगातार हो रही भीषण मूसलाधार बारिश से फसल जो नष्ट हुयी है उसके बारे में जिलाधिकारी ललितपुर को अवगत करा दिया है बीमा के लिए प्रक्रिया प्रारम्भ हो चुकी है और मुआवजे के लिये शासन को पत्र प्रेषित कर दिया है।
सुरेश टोन्टे 

 

Comments