एसपी ने लिया संज्ञान तब जागी पुलिस महिलाओं से छेड़छाड़ तथा अराजकता फैलाने वालों के खिलाफ लिया एक्शन

एसपी ने लिया संज्ञान तब जागी पुलिस महिलाओं से छेड़छाड़ तथा अराजकता फैलाने वालों के खिलाफ लिया एक्शन

विशेष संवाददाता  -अजय कुमार यादव 

भंडारे में आई महिलाओं के साथ  मनचलों ने नशे में की छेड़छाड़।
रिपोर्ट दर्ज करने में महरुआ पुलिस कर रही थी  हिलाहवाली।
अम्बेडकरनगर एसपी ने  कठोर कार्यवाई कर जनता को भरोसा कायम रखा।
 

 


अम्बेडकर नगर  

महरुआ थाना क्षेत्र में  स्थित गाँव  केवटाही में काली जी चौरे पर हर वर्ष की तरह इस बार भी दिवाली के शुभ अवसर पर भंडारे का आयोजन बड़ी धूमधाम से हो रहा था, भंडारे में दूर-दराज से आई महिलाये और आम लोग प्रोग्राम का आनंद ले रहे थे तभी वहाँ पर सुरेश,रमेश और अरुन अपने कुछ साथियों के साथ पहुंचते है। ये तीनो लोगो दारू के नशे में धुत थे इन लोगो ने उस प्रोग्राम में मौजूद  महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करना शुऱू कर देते है जब इन लोगो की गंदी हरकते ज्यादा बढ़ने लगती है

तो वहीं पास की निवासी रानी(काल्पनिक नाम) ने इन लोगो का विरोध करने की कोशिस करती है, इतने में ये लोग अपने आपे से बाहर हो जाते और इस महिला पर जानलेवा हमला बोल देते है,रानी के सर और शरीर के और हिस्से में गंभीर चोटे आयी है।फिर रानी  वहाँ से किसी तरह भगकर अपनी जान बचाती है और पुलिस को इंफार्म करती है।

 

 

इस बीच ये लोग बीच  में आने वाली हर महिला और बच्चो को ये लोग बुरी तरह मारना पीटना भी शुरू कर देते है। अपने साथी के साथ नशे का सेवन कर  भंडारे में खुलकर महिलाओं के साथ छेड़छाड़ गाली गलौज और साथ ही गंदी गंदी हरकतें करना इनके लिए आम बात होती जा रही थी। 

ये लोग खुलेआम धमकी देते हुए बोल रहे थे कि मैं पुलिस से नहीं डरता हूं पुलिस मेरा कुछ नहीं कर पाएगी और जो मेरी शिकायत करेगा उसको घर में घुस कर मारेंगे और उसको ठीक कर दूंगा सूत्रों के मुताबिक यह तीनों आरोपी (सुरेश, रमेश, अरुण) भंडारे में बना परसाद को बर्बाद कर दिया पूरे पंडाल में ऐसा उत्पात मचाया की भंडारे में उपस्थित सभी महिलाओं और वहां पर मौजूद सभी लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा रानी (काल्पनिक नाम) मामला बिगड़ता देख पुलिस को तत्काल सूचना दिया लेकिन महरुआ थाने की पुलिस शुरू से ही मामले को दबाने में लगी रही और साथ ही पीड़िता पर दबाव बनाती रही 

तभी स्वतंत्र प्रभात के पत्रकार ने पुलिस की लचर रवैये की सूचना अम्बेडकर नगर एसपी को दी। अम्बेडकर नगर एसपी ने तत्परता दिखाते हुये गंभीर मामले की गंभीरता को समझते हुए  महरुआ थाने को दोषी के खिलाफ कार्यवाही करने का  आदेश दिया तब जागी  महरुआ थाने की पुलिस महिलाओं के साथ छेड़छाड़ मारपीट के मामले में  रानी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर तीनों आरोपी को तत्काल गिरफ्तार किया।

अम्बेडकर नगर एसपी की तत्परता से तत्काल मामले को संज्ञान में लेकर महरुआ थाना प्रभारी ने कर्यवाही करते हुए तीनों आरोपियों पर  323,354,427,507,506 धाराओं में मुकदमा दर्ज कर  जेल भेज दिया। 

सूत्रों के अनुसार यह तीनों आरोपि काली की मूर्ति पर पेशाब कर माहौल खराब करने की तैयारी में थे गिरफ्तार तीनों आरोपी में से रमेश पहले भी जेल जा चुका है। अगर लोकल पुलिस की चली होती तो मामला आज नही कल काफी संवेदनशील हो जाता ।

सूत्रों के मुताबिक पीड़ित महिला पर मुकदमा लिखवाने को लेकर महरुआ थाने की पुलिस  ने भरसक प्रयास किया और षड्यंत्र के तहत मामले को हल्का बनाने के लिए महिला  से दूसरी तहरीर भी लिखवाली लेकिन

अम्बेडकर नगर एसपी की तत्पर्ता से किसी की एक न चली। कहीं न कहीं इस तरह की कर्यवाही से जनता  के दिलों में कानून को लेकर एक विश्वाश कायम होता दिख रहा है और ऐसे अपराधिक और अराजक तत्वो के दिल में पुलिस का खौफ।

 महरुआ थाने के आस-पास की जनता पुलिस उपाधीक्षक अम्बेडकर नगर के  अच्छे कार्य की सराहना जोर शोर से कर रही है।

सबसे बड़ा सवाल यह है

 महिलाओं से छेड़छाड़ जैसी वारदात आए दिन सुर्खियों में बने रहते हैं  आखिर कब बंद होगा महिलाओं पर अत्याचार?

Comments