प्रधान ने हड़पी खड़ंजा मरम्मति करण की धनराशि

प्रधान ने हड़पी खड़ंजा मरम्मति करण की धनराशि

    नरेश गुप्ता /मनोज कुमार की रिपोर्ट

खड़ंजों का मरम्मत कार्य ध्वस्त , और ग्राम प्रधान व अधिकारी मस्त ।

महमूदाबाद ,सीतापुर-

सीतापुर की तहसील महमूदाबाद के ब्लॉक पहला की ग्राम पंचायत  सदरावां में 2017- 2018 में सदरावा गांव में गजराज के घर से हरीश चन्द्र के घर तक खडंजा मरम्मत कार्य का लगभग 48000 हजार रुपये आया था।

किंतु स्वतंत्र प्रभात टीम ने जानकारी की तो  ग्रामवासी गजराज ने मीडिया टीम को जानकारी दी के जब से संबंधित खड़ंजा का निर्माण हुआ है तब से अब तक कोई भी मरम्मत ई करण नहीं कराया गया वही हरिश्चंद्र के बीमार होने के कारण अनुपस्थित  होने के कारण उनके सुपुत्र रोहित कुमार ने जानकारी देते हुए बताया के संबंधित धनंजय के निर्माण के पश्चात कभी भी दुरुस्ती कारण नहीं कराया गया।

जिस पर मीडिया टीम ने गांव का निरीक्षण कर जानकारी प्राप्त की तो ज्ञात हुआ कि गांव में नालियों में कचरा तो भरा ही रहता है ।

लेकिन गांव की कुछ नालियां बन्द भी पड़ी है। जिन्हें सफाई कर्मचारी के द्वारा कभी साफ ही नही किया गया। ग्रामीणों की माने तो अगर सफाई कर्मचारी नालियों की साफ सफाई करता होता तो गांव की नालियों में गंदगी क्यों बज बजा रही होती ।

नाही  नालिया  बन्द  पड़ी  होती।  लेकिन जब गांव की नालियों को साफ सफाई करने के लिए कर्मचारी ही नही आयेगा तो नाली वैसे के वैसे  ही पड़ी रहेगी साथ ही कुछ नालियों पर ढक्कन ढकने की जरूरत भी है। और गांव में ऐसे कई खंडजे है जिनकी मरम्मत कार्य की धन राशि सरकार ने तो भेज दी।

फिर भी खड़नजे वैसे के वैसे ही पड़े रह गए। और वही पर जब मीडिया टीम ने गजराज के घर से हरिश चंद्र के घर तक जाने वाले खंडजे के विषय मे चर्चा की तो गजराज ने बताया कि भैया जब से खंडजा को प्रधान ने लगवाया था।

तब से कोई मरम्मत कार्य भी नही कराया गया। तब मीडिया टीम के एक सदस्य ने पुनः वही खंडजे के मरम्मत कार्य को लेकर  दोहराया कि आप ध्यान से याद करो लो कही खंडजे की मरम्मत की जा चुकी हो ।

और आपको जानकारी न हो पाई हो । तो गजराज ने बताया कि भैया जब हमारे द्वारे पर ही खंडजा निकला है और हम लोगो को ही नही पता होगा कि खंडजे का मरम्मत कार्य चल रहा है कि नही। फिर उसके बाद हरीश चंद्र के घर तक जाने वाले खंडजे कि सीमा तक पहुंचकर जानकारी प्राप्त की गई तो ।

 हरीश चंद्र तो घर नही मीले लेकिन हरीश चंद्र के सुपुत्र रोहित कुमार ने बताया कि सर इस वाले खंडजे पर कोई भी मरम्मत कार्य नही कराया गया है। और आप लोग स्वयं देख लीजिए कितनी कितनी घास उपज गई है।

और हम लोग अपने अपने  हाथो से खंडजे की साफ सफाई व्यवस्था को लेकर  ध्यान में रखते है । जिससे हमारे द्वारे के खंडजे पर थोड़ा साफ सफाई रहती है। और वही पर मौजूद कल्लू ने भी यही उपरोक्त प्रकरण के विषय मे बताया कि हमारे गांव में प्राथमिक विद्यालय  सदरावा स्कूल को जाने वाले खंडजे को मरम्मत किया गया है।

लेकिन उस खंडजे की ईंट को बदला नही गया है। वही पुरानी ईटो को ही लगाकर मरम्मत कार्य किया गया है। और वही पर मौजूद ग्रामीणों ने बताया कि हमारे क्षेत्र में गौशाला निर्माण होने की अत्यधिक जरूरत है। क्यो की आये दिन हमारे क्षेत्र में आवारा पशुओ की खेतो में लगे ब्लेड के तारों में फंस फंस कर कट जाने से कई आवारा पशुओं की मृत्यु भी हो गई है।

तो इस लिए हम सभी ग्रामीण चाहते है कि हमारे क्षेत्र में एक गौशाला का निर्माण भी होना चाहिए। जिससे कि क्षेत्र में इधर उधर धूम रहे आवारा पशुओ को चारा पानी की व्यवस्था के साथ साथ आवारा पशुओं के रहने की  व्यवस्था भी हो जायेगी।

Comments