शांति व्यवस्था के लिए कस्बे को पांच सेक्टर में बांटने के साथ ही एक अतिरिक्त मजिस्ट्रेट के अलावा पांच सहायक मजिस्ट्रेट न्युक्त किये गये हैं

शांति व्यवस्था के लिए कस्बे को पांच सेक्टर में बांटने के साथ ही एक अतिरिक्त मजिस्ट्रेट के अलावा पांच सहायक मजिस्ट्रेट न्युक्त किये गये हैं

मौदहा(हमीरपुर)

अयोध्या मामले के साथ ही बारह वफात का पर्व होने पर शांति व्यवस्था के लिए कस्बे को पांच सेक्टर में बांटने के साथ ही एक अतिरिक्त मजिस्ट्रेट के अलावा पांच सहायक मजिस्ट्रेट न्युक्त किये गये हैं।

अपर जिलाधिकारी व अपर पुलिस अधीक्षक ने संयुक्त रूप से बताया कि जनपद में तीन बड़े कस्बे हैं।

जिनमें सुरक्षा की दृष्टि से व्यवस्था चाक चौबंध रखी गयी है। उन्होने कहा कि अयोध्या मामले के फैसले के सम्मान के साथ ही आपसी सौहार्द व शांति व्यवस्था बनाये रखने का आग्रह किया। वहीं उनका लोगों से आग्रह है कि शांति व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग करें। अराजक तत्वों को बक्सा नहीं जायेगा।

आज अयोध्या मामले के फैसले के तहत यहां आये अपर जिलाधिकारी व अपर पुलिस अधीक्षक ने शांति व्यवस्था का जायजा लिया और सम्बंधित लोगों कोआवश्यक निर्देश दिया। इस सम्बंध में अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि दो वर्ष पूर्व मामूली विवाद के बाद इस कस्बे पर सर्तकता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

यहां उप जिलाधिकारी व क्षेत्राधिकारी के अलावा कोतवाल विक्रमाजीत सिंह के अलावा एक अतिरिक्त मजिस्ट्रेट लगाया गया है। साथ ही कस्बे को पांच सेक्टरों में बांट कर यहां सहायक मजिस्ट्रेट तथा तथा एक सब इंस्पेक्टर व चार आरक्षी रहेंगे। साथ ही इस कस्बे में 16 ऐसे स्थानों को चिन्हित किया गया है

जो भीड़ भाड़ वाले इलाके हैं इनमें एक उपनिरीक्षक व चार कांस्टेबल रखे गये हैं। उन्होने बताया कि जनपद में शांति व्यवस्था का पूरा प्रबंध किया गया है। मौदहा हमीरपुर राठ बड़े कस्बे हैं। इन कस्बों में विशेष व्यवस्थायें की गयी हैं। उन्होने यह भी कहा कि उनके पास सीआरएफ व पीएसी भी मौजूद है और  आवश्यकता पड़ने पर उनका भी इस्तेमाल किया जायेगा।

Comments