नगर पंचायत के दर्जे को तरस रही मोहन लाल गंज तहसील

नगर पंचायत के दर्जे को तरस रही मोहन लाल गंज तहसील

मोहन लाल गंज , लखनऊ

देश को आजाद हुए सत्तर बरस से भी अधिक गुजर जाने के बावजूद भी तहसील मुख्यालय मोहन लाल गंज को नगर पंचायत का दर्जा अब तक नसीब नही हो सका है ग्राम पंचायत इंद्रजीत खेड़ा के रूप में यहां पर रहने वाले हजारो की संख्या में आज भी लोगो को मूलभूत सुविधाओं का अकाल झेलना पड़ रहा है

इससे बड़ी विडंबना और क्या होगी कि जनप्रतिनिधियो की उपेक्षा में इस तहसील में तीन नगर पंचायते पहले ही बनाई जा चुकी है  वही मुख्यालय इस सुविधा से अछूता है  जिसे लेकर यहां के निवासियों में खासा रोष व्याप्त है बावजूद उसके मामला अब तक चुनावी मुद्दा नही बन सका है मोहन लाल गंज को कई दशक पूर्व से लोकसभा और विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से लेकर तहसील मुख्यालय तक का दर्जा प्राप्त है  लेकिन नगर पंचायत का दर्जा हासिल न होने से यहां रहने वाली हजारो की संख्या में आबादी को आज भी मूलभूत सुविधाएं नही हो सकी है

कस्बे की कई गलिया खराब हालत में है मार्ग प्रकाश भी सन्तोष जनक नही है एक हैंड पाइप लगवाने के लिए लोगो को जेब ढीली करनी पड़ती है और कूड़े कचरे की उठान और निस्तारण की ब्यवस्था न होने से हर मोहल्ले की खाली पड़ी जगहों पर गंदगी का साम्रज्य रहता है वर्षो से गंदगी से पटी पड़ी नालियों की सफाई और यहां बारिश में जलभराव की समस्या बनी ही रहती है  इतना ही नही यहां नाली बनने के लिए उपयुक्त बजट का अभाव रहता है


इंद्रजीत खेड़ा का महज एक मजरा होने के चलते पंचायत की ओर से जो भी विकास कार्य कराए जाते है  वह ऊँट के मुँह में जीरा साबित होते है कस्बे में डेंगू फैल स्थानीय लोगो की जिंदगी दांव पर थी बावजूद उसके संसाधनों का रोना रोकर राहत के कार्य जमीन पर नही उतारने पसीने छूट गए प्रशासन को फगिग करने की मशीन भी नगर पंचायतो व नगर निगम से मांगनी पड़ी थी  लोगो को इसकी कीमत कई जिंदगियां खोकर चुकानी पड़ी  जिसके जख्म यहां के निवासियों को रह  कर अब भी दर्द दे ही जाते है शासन को जा चुका है

प्रस्ताव क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा के बीच यहां तैनात रहे उपजिलाधिकारी नंदलाल सिंह ने 2014 में ही ब्यक्तिगत रुचि लेकर मोहन लाल गंज और आस पास की पंचायतो का सर्वे करा नगर पंचायत के तमाम मानक पूरे मिलने पर प्रस्ताव तैयार कर शासन को इसे नगर पंचायत बनाने की प्रस्ताव भेजा लेकिन उनके तबादले के साथ ही सारी कोशिश ठंढे बस्ते में चली गयी  नतीजतन मोहन लाल गंज को नगर पंचायत बनने का प्रस्ताव शासन में कही अटक कर रह गया है

मोहन लाल गंज में अब तक कई जनप्रतिनिधियो को लोकसभा व विधान सभा जिताकर भेजा लेकिन किसी ने भी मोहन लालगंज को नगर पंचायत का दर्जा नही दिला सके वही यहां की जनता की आवाज है कि शायद अबकी बार मोहन लाल गंज मुख्यालय को नगर पंचायत का दर्जा हासिल हो सके

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments