प्रयागराज में 65 वी विद्यालयी एथलेटिक्स प्रतियोगिता का शुभारंभ

प्रयागराज में 65 वी विद्यालयी एथलेटिक्स प्रतियोगिता का शुभारंभ

‌उप मुख्य मंत्री  ने 65वीं प्रदेशीय विद्यालयीय एथलेटिक्स प्रतियोगिता का किया उद्घाटन ।

‌खेल आयोजनों से होता है विद्यार्थियों में अंतर्निहित विकास।

‌ स्वतंत्र प्रभात।
‌ प्रयागराज।

‌उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्माने मदन मोहन मालवीय स्टेडियम प्रयागराज में आयोजित 65वीं प्रदेशीय विद्यालयीय एथलेटिक्स प्रतियोगिता का उद्घाटन किया।यहआयोजन 01 नवम्बर से 05 नवम्बर, 2019 तक किया होगा।

‌ इस कार्यक्रम के संयोजक विद्यालय सी0ए0वी0 इण्टर कालेज, प्रयागराज, ईश्वर शरण गल्र्स इण्टर कालेज प्रयागराज, बी0बी0एस0 इण्टर कालेज शिवकूटी प्रयागराज है।

‌ उप मुख्यमंत्री  इस 65वीं प्रदेशीय प्रतियोगिता के  अपने सम्बोधन में बोलते हुए कहा कि इस प्रकार के खेल आयोजनों से विद्यार्थियों में अन्र्तनिहित उन शक्तियों का विकास होता है, जिसे वह अपने साथ लेकर संसार  में आता है।

वस्तुतः जागरूक एवं चेतन नागरिक तैयार करना सबसे अधिक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय कार्य है। अतः सामाजिक सरोकारों के सापेक्ष सर्वांगीण विकास के विविध आयामों हेतु आवश्यक सुविधायें एवं वातावरण उपलब्ध करना हम सबका दायित्व है। यह खेल प्रतियोगिता इसी दायित्व की पूर्ति का सुपथ है, जिसपर चलकर हमारे विद्यार्थी अपना स्वर्णिम भविष्य निर्माण करने में सफल होंगे। इस खेल कुम्भ में प्रदेश के सभी जनपदों/मण्डलों के खिलाड़ियों के प्रतिभाग करने से जहां एक ओर परस्पर मैत्री दृढ़ होगी वहीं किशोरवय खिलाड़ियों को एक अवसर एवं मंच प्राप्त होगा, इसमें वे न केवल अपनी प्रतिभाग व्यक्त कर सकेंगे, वरन राष्ट्रीय/अन्र्तराष्ट्रीय खेल क्षितिज पर अपना स्थान बनाने में सफल हो सकेंगे।

‌उपमुख्यमंत्री  ने बच्चों के द्वारा मार्च पास्ट पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि जितनी कुछ देशों की आबादी नही होंगी, उतने बच्चे उ0प्र0 की माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित बोर्ड परीक्षा में बैठते है। उन्होंने कहा कि हमारी उ0प्र0 सरकार नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए कृत संकल्पित है। हाईस्कूल/इण्टर परीक्षा के लिए परीक्षा केन्द्रों का आवंटन करने में पूरी ईमानदारी बरती जायेगी व सभी परीक्षा केन्द्र सी0सी0टी0वी0 कैमरा से लैस होंगे व वायस रिकार्डिंग की भी  व्यवस्था होगी।

हमारी सरकार शिक्षा पर विशेष ध्यान देने के साथ खेल कुद को भी आगे बढ़ाने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि वित्त विहीन पूर्ण शिक्षा का भी ध्यान रखा गया है। उ0प्र0 सरकार को युवाओं पर पूरा भरोसा है। राज्य के निर्माण में उनका बड़ा योगदान होगा। प्रतियोगिता में जीत प्राप्त करने वालों को बधाई देते हुए कहा कि प्रतियोगिता में जीतना नहीं प्रतिभाग करना प्रमुख है। इसी के साथ वहां पर उपस्थित सभी विद्यार्थियों, खिलाड़ियों व स्कूल के प्रधानाचार्यों, शिक्षक व शिक्षिकाओं के साथ ही वहां उपस्थित अधिकारीगणों का भी अभिनंदन करते हुए उनका आभार जताया।

प्रयागराज से दया शंकर त्रिपाठी की रिपोर्ट।

Comments