एटीएम कार्ड बदल लाखों रूपये उड़ाने वाला शातिर आरोपित गिरफ्तार

एटीएम कार्ड बदल लाखों रूपये उड़ाने वाला शातिर आरोपित गिरफ्तार

टीएम कार्ड बदल लाखों रूपये उड़ाने वाला शातिर आरोपित गिरफ्तार

कोतवाली पुलिस व सर्विलांस पुलिस को मिली सफलता

ललितपुर। VIkash tripathi

जनपद में भोले-भाले लोगों के गुमराह कर उनका एटीएम बदल कर खाते से लाखों की रकम उड़ाने के मामले में फरार चल रहे अज्ञात बदमाश को आखिरकार कोतवाली पुलिस व सर्विलांस टीम ने गिरफ्तार करने में सफलता हाशिल कर ली है। आरोपित के पास से 1 लाख 40 हजार रुपए बरामद कर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस अधीक्षक ने शातिर आरोपित को गिरफ्तार करने वाली टीम को बीस हजार रूपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है। 

सोमवार को पुलिस अधीक्षक कैप्टन मिर्जा मंजर बेग ने पुलिस लाइन सभागार में प्रेस बार्ता के मामले का पटाक्षेप करते हुए बताया कि नगर के मुहल्ला तालाबपुरा निवासी जगदीश कुशवाहा ने आपबीती सुनाते हुए बताया था विगत कुछ रोंज पूर्व जब उसका पुत्र आजादचौक स्थित एसबीआई एटीएम से रुपए निकाले गया था। तभी वहां पर मौजूद अज्ञात आरोपित ने एटीएम कार्ड को बदल दिया और खाते धारक के खाते से 3 लाख 26 हजार रुपए उड़ा दिये थे। मुकदमा दर्ज होने के बाद कोतवाली प्रभारी संजय कुमार शुक्ला ने मुकदमा दर्ज कर कोतवाली पुलिस व सर्विलांस टीम  ने आरोपित की तलाश शुरू कर दी थी। मौके पर छानवीन करने पहुंचे कोतवाली प्रभारी व सर्विलांस टीम ने एटीएम के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज कब्जें  में लेकर मुखबिर तंत्र सक्रीय कर दिया। सोमवार सुबह जेल चौराहा के पास से शातिर बदमश के खड़े होने की सूचना पर पुलिस टीम ने मौके पर पहुंच कर घेरा बंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान आरोपित ने अपना नाम रविंद्र रैकवार पुत्र धनीराम निवासी मुहल्ला नेहरू नगर है। पुलिस को आरोपित के पास से खाते से निकले गए 3 लाख 26 हजार रुपए में से 1 लाख 40 हजार रुपए बरामद किए। पुलिस ने आरोपित को जेल भेज दिया है।

बाक्स

यह है मामला

10 अक्टूबर को जगदीश कुशवाहा का पुत्र विशाल को अपना एडीएम कार्ड देकर रुपए निकलाने के लिए आजादचौक स्थित एसबीआई बैंक के एटीएम से बीस हजार रुपए निकाल के लिए भेजा था। तभी वहां पर मौजूद शातिर बदमाश ने उसे गुमराह कर उसका एटीएम कार्ड बदल दिया। एटीएम में मौजूद रहने के कारण उसने पिन कोर्ड देख लिया था, जिसके बाद शातिर आरोपित ने 20 अक्टूबर से 27 अक्टूबर के मध्य प्रतिदिन चालीस-चालीस हजार रुपए निकालता रहा। पीडि़त का मोबाइल खराब होने के कारण उसके पास रूपये निकले के मैसिज नही आ सके, 7 नवंबर को वह बैंक में रुपए निकालने गया तो उसको पता चला कि उसके खाते से 3 लाख 26 हजार 399 रुपए निकाल लिए गए है।

बाक्स

इस टीम को मिला बीस हजार का पुरस्कार

 एटीएम कार्ड बदलकर खाते से लाखों रूपये निकलाने वाले टीम में शहर कोतवाल संजय कुमार शुक्ला, उप निरीक्षक मुलायम सिंह, सर्विलांस प्रभारी एसआई गुलाब हुसैन समेत सिपाही अनिल पांडेय, प्रदीप कुमार, अखिलेश, रजनीश व रविंद्र प्रताप आदि शामिल रहे।

बाक्स . . . . .

एसपी ने की जनता से अपील

पुलिस अधीक्षक कैप्टन मिर्जा मंजर बेग ने जनपद की भोली भाली जनता से अपील करते हुए बताया कि एटीएम मशीन से रुपए निकलते समय किसी अनजान व्यक्ति को अपने पास खड़ा न होने दें और न रुपए निकलवानें में उसकी मद्द लें। इसके साथ ही अपने एटीएम का पिन कोर्ड किसी को भी नहीं बताएं। रुपए निकलने में मद्द करने के बहाने वह पिन कोर्ड पता कर लेते और किसी तरह कार्ड भी बदल देते हैं। अंजान नंबर से फोन आने पर ओटीपी की जानकारी देने से ऐसे शातिर बदमाशों से सचेंत रहना चाहिए। 

Comments