रेलवे प्रशासन की लापरवाही बयान करता शोहरतगढ़ रेलवे स्टेशन

रेलवे प्रशासन की लापरवाही बयान करता शोहरतगढ़ रेलवे स्टेशन

सिद्धार्थनगर-

जनपद सिद्धार्थ नगर के शोहरतगढ़ को आदर्श रेलवे स्टेशन का दर्जा तो मिल गया पर अभी यात्री सुविधाओं का घोर अभाव है।बुद्ध की धरती के सांसद जगदंबिका पाल दावे करते नही थकते, किन्तु यात्रियों से पूछिये ये दावे हकीकत से एकदम दूर हैं।शोहरतगढ़ जैसे आदर्श रेलवे स्टेशन पर पेयजल का संकट यात्रियों पर भारी पड़ रहा है। आरक्षण टिकट ना मिल पाना, ना ही समुचित शौचालय का होना, ना बैठने और पंखे की व्यवस्था होना। यात्रियों को रुकने लिए वेटिंग रूम नहीं है, रेलवे प्रशासन की लापरवाही से शोहरतगढ़ रेलवे स्टेशन बेहाल है।यहां यात्रियों के बैठने के लिए सीट है, पंखे लगे हुए लेकिन चलते नहीं है।

घड़ी लगी है लेकिन टाइम गलत बताती है। टिकट बाबू है लेकिन टिकट नहीं काटते हैं। शीतल जल लगा हुआ है बोर्ड भी लगा हुआ है। लेकिन उसमें से पानी नहीं आता है। स्टेशन जुआरियों शराबियों का अड्डा बना हुआ है। शाम होते ही इसका असर दिखने लगता है। किसी प्रकार की कोई रोक-टोक नहीं है। समय से नहीं खुलता आरक्षण बुकिंग काउंटर ?आरक्षण टिकट काउंटर कभी भी समय से नहीं खुलता है, आरक्षण फॉर्म मिलने में भी लोगों को दिक्कतें होती हैं , आरक्षण टिकट काउंटर के कर्मचारी चंद्रभान गुप्ता हमेशा लेट आते हैं, रेल आरक्षण कार्यालय खुलने का समय सुबह 8:00 बजे से है लेकिन आरक्षण बुकिंग काउंटर 10:00 बजे के बाद खुलता है, के आने के बाद ही आरक्षण मिलता है 

यह कहां का है सिस्टम ?इस मामले में मीडिया ने जब स्टेशन मास्टर से बात की तो स्टेशन अधीक्षक का कहना है कि कई बार उनके लेट आने की शिकायत की गई है लेकिन रेलवे द्वारा किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई है, चंद्रभान गुप्ता डेली गोरखपुर से आते जाते हैं, इसके कारण वह समय से नहीं आ पाते, यह कहकर उन्होंने किनारा कस लिया लेकिन रेलवे प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है।एक इंटरसिटी आती है वह भी दो-तीन घंटे लेट आती है। डेमो, पैसेंजर का भी बहुत बुरा हाल है टाइमटेबल कुछ और है आती कभी और है। समस्याओं को लेकर शोहरतगढ़ के नागरिकों में रोष व्याप्त है! शोहरतगढ़ के छात्र नेता राघवेंद्र पुरी ने कहा है,

स्टेशन पर समय से आरक्षण टिकट नहीं मिल पा रहा है जो की चिंता का विषय है आरक्षण खिड़की का समय 8:00 बजे से लेकर 4:00 बजे तक है लेकिन कर्मचारी 11:00 बजे से बैठते हैं और 2:00 बजे ही उठ जाते हैं|भाजपा युवा मोर्चा जिला उपाध्यक्ष नीलेश चौधरी ने कहा है कि शोहरतगढ़ रेलवे स्टेशन पर शौचालय मौजूद है लेकिन शौचालय में ताला लगा रहता है और स्टेशन मास्टर के पास चाभी रहती है आखिरी कौन सा  सिस्टम है रेलवे प्रशासन का ?पूर्वांचल विद्यार्थी दल जिला महामंत्री वकार खान ने कहा है कि स्टेशन परिसर में पर्याप्त गंदगी है, बेसहारा पशुओं के स्टेशन पर घूमने स्टेशन परिसर में गंदगी का अंबार है, लेकिन रेलवे प्रशासन इस पर ध्यान नहीं दे रहा

जो की चिंता का विषय है ?वरिष्ठ समाजसेवी दुर्गेश कुमार वर्मा ने कहा है कि स्टेशन परिसर में घड़ी लगी हुई है लेकिन आज तक वह कभी भी समय नहीं बता पाई, शीतल जल का टैंक लगा हुआ है उसके बाद भी आज तक कभी ठंडा पानी नहीं निकला, स्टेशन परिसर में बहुत ही समस्या है जिस पर रेलवे प्रशासन को ध्यान देना चाहिए।शोहरतगढ़ के स्थानीय नगरवासियों, यात्रियों व स्थानीय नेताओं ने कहा कि अगर जल्द से जल्द रेलवे स्टेशन की समस्याएं व हालत नहीं सुधरी तो हम आंदोलन के बाध्य होंगे।

 

Comments